1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. डिलिमिटेशन भी होगा, चुनाव भी होगा और स्टेटहुड का स्टेटस भी वापिस मिलेगा: J&K पर बोले अमित शाह

डिलिमिटेशन भी होगा, चुनाव भी होगा और स्टेटहुड का स्टेटस भी वापिस मिलेगा: J&K को लेकर बोले अमित शाह

श्रीनगर में गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि आतंकवाद कम हुआ है, पथराव अदृश्य हो गया है और मैं आपको आश्वस्त करना चाहता हूं, जो लोग जम्मू-कश्मीर की शांति भंग करना चाहते हैं, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी, यहां कोई भी विकास में बाधा नहीं डाल सकता है, यह हमारी प्रतिबद्धता है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: October 24, 2021 0:00 IST
डिलिमिटेशन भी होगा, चुनाव भी होगा और स्टेटहुड का स्टेटस भी वापिस मिलेगा- अमित शाह- India TV Hindi
Image Source : TWITTER/@AMITSHAH डिलिमिटेशन भी होगा, चुनाव भी होगा और स्टेटहुड का स्टेटस भी वापिस मिलेगा- अमित शाह

जम्मू-कश्मीर: तीन दिवसीय यात्रा पर श्रीनगर पहुंचे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने यूथ क्‍लबों को संबोधित करते हुए जम्मू-कश्मीर में डिलिमिटेशन (परिसीमन), चुनाव और स्टेटहुड के स्टेटस को लेकर बड़ा बयान दिया। शाह ने कहा कि 'कश्मीर में युवाओं को मौका मिले इसलिए अच्छा डिलिमिटेशन (परिसीमन) भी होगा, डिलिमिटेशन के बाद चुनाव भी होगा और फिर से स्टेटहुड का स्टेटस भी वापिस मिलेगा।' शाह ने आगे कहा कि आज जम्मू कश्मीर में युवा विकास, रोजगार और पढ़ाई की बात कर रहा है, ये बहुत बड़ा बदलाव है। अब कोई कितनी भी ताकत लगा ले, इस बदलाव की बयार को कोई अब रोक नहीं सकता। 

श्रीनगर में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि सवा दो साल के बाद मैं जम्मू-कश्मीर आया हूं और सुरक्षा समीक्षा बैठक के बाद मेरा पहला कार्यक्रम यूथ क्लब के युवा साथियों के साथ हो रहा है, मैं जम्मू-कश्मीर के युवाओं से मिलकर बहुत बहुत आनंद और सुकून का अनुभव करता हूं। कश्मीर को भारत सरकार से मदद आती है, आनी भी चाहिए, बहुत सहा है कश्मीर ने। परन्तु एक दिन ऐसा ज़रूर आएगा जब कश्मीर भारत के विकास के लिए योगदान करेगा। लेने वाला नहीं, भारत को देना वाला प्रदेश बनेगा। गृह मंत्री ने कहा कि आतंकवाद कम हुआ है, पथराव अदृश्य हो गया है और मैं आपको आश्वस्त करना चाहता हूं, जो लोग जम्मू-कश्मीर की शांति भंग करना चाहते हैं, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी, यहां कोई भी विकास में बाधा नहीं डाल सकता है, यह हमारी प्रतिबद्धता है।

शाह ने कहा कि किसी भी क्षेत्र में अगर परिवर्तन करना है, कोई भी चीज बदलनी है तो परिवर्तन का वाहक केवल और केवल युवा हो सकता है। कोई भी परिवर्तन युवाओं की सहभागिता के बगैर संभव ही नहीं है। जम्मू-कश्मीर के लिए हमारी परियोजनाएं बहुआयामी हैं, यह शिक्षा और कौशल विकास के साथ-साथ आर्थिक सहायता को बढ़ावा देता है। हमने खेल और पर्यटन को भी बढ़ावा दिया है। जम्मू-कश्मीर सरकार ने प्रत्येक पंचायत में एक युवा क्लब बनाने का फैसला किया है और ऐसे प्रत्येक क्लब को 25,000 रुपए प्रदान किए जाएंगे। 150 क्लबों को पहले ही भवन उपलब्ध कराए जा चुके हैं। स्पोर्ट्स इंगेजमेंट प्रोग्राम भी शुरू किए गए हैं।

bigg boss 15