1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. Mann Ki Baat: कोरोना वारियर्स ने फैलाई जागरुकता, PM बोले- हम जल्द ही इस आपदा से बाहर आएंगे

Mann Ki Baat: कोरोना वारियर्स ने फैलाई जागरुकता, PM बोले- हम जल्द ही इस आपदा से बाहर आएंगे

प्रधानमंत्री मोदी का ये कार्यक्रम इसबार कोरोना संक्रमण की दूसरी प्रचंड लहर के बीच हो रहा है। अपने पिछले मन की बात संबोधन में, प्रधानमंत्री ने पिछले साल जनता कर्फ्यू के दौरान कोरोना-योद्धाओं और लोगों के अनुशासन की सराहना की।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: April 25, 2021 12:16 IST

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 'मन की बात' कार्यक्रम के जरिए देश को संबोधित किया। 'मन की बात' का ये कार्यक्रम इसबार कोरोना संक्रमण की दूसरी प्रचंड लहर के बीच हुआ। कार्यक्रम का मुख्य फोकस भी कोरोना वायरस ही रहा। पीएम ने आज के कार्यक्रम में देशभर में कोरोना से लड़ाई लड़ रहे कोरोना योद्धाओं से बातचीत कर जागरुता फैलाने का प्रयास किया। कार्यक्रम की शुरुआत में पीएम मोदी ने कहा, "मन की बात ऐसे समय कर रहा हूं जब कोरोना सभी के धैर्य और दुख को बर्दास्त करने की परीक्षा ले रहा है। बहुत से अपने असमय छोड़कर चले गए,  पहली वेव का सफलता पूर्वक मुकाबला करने के बाद देश आत्मविश्वास से भरा था लेकिन इस तूफान ने देश को झोकझोर दिया।"

प्रधानमंत्री ने आगे कहा, "साथियों, बीते दिनों इस संकट से निपटने के लिए, मेरी, अलग-अलग sectors  के expert के साथ, विशेषज्ञों के साथ लम्बी चर्चा हुई है। हमारी pharma- industry के लोग हों, vaccine manufacturers हों oxygen के production से जुड़े लोग हों या फिर medical field के जानकार, उन्होंने, अपने महत्वपूर्ण सुझाव सरकार को दिए हैं।"

कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री ने मुम्बई के प्रसिद्द डॉक्टर शशांक जोशी से बातचीत की। उन्होंने कार्यक्रम में बताया कि ये जो दूसरीwave आई है। ये तेजी से आई है, तो जितनी पहली wave थी उससे ये  virus  ज्यादा तेज चल रहा है, लेकिन अच्छी बात ये है कि उससे ज्यादा रफ़्तार से recovery  भी है और मृत्यु दर काफी कम हैं।

डॉ. शशांक ने बताया कि पहली और दूसरी लहर में में 2-3 अंतर हैं, एक तो यह युवाओँ और बच्चों में भी दिखाई दे रहा है, पहले वाले लक्ष्ण तो हैं ही जैसे सांस चढ़ना सूखी खांसी और बुखार ये तो सारे हैं ही इसके साथ गंध जाना और स्वाद जाना भी है। लोग भयभीत हैं लेकिन भयभीत होने की जरूरत नहीं है, 80-90 प्रतिशत लोगों में कोई लक्ष्ण नहीं दिखाई दे रहे, जैसे हम कपड़े बदलते हैं वैसे वायरस भी रंग पदल रहा है। सिर्फ सतर्क रहने की जरूरत है।

Live updates : Mann ki Baat Live

Auto Refresh
Refresh
  • 11:35 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    भावना जी मन की बात सुनने वालों को आप बताइए कि अपने परिवार की इतनी सारी जिम्मेवारियों के बावजूदआप कोरोना के मरीजों के साथ काम कर रही हैं। आपका अनुभव जरूर देशवासी सुनना चाहेंगे। क्योंकि सिस्टर रोगी के सबसे ज्यादा नजदीक होती है

    सिस्टर भावना- मेरा कोविड में कुल अनुभव 2 महीने का है हम 14 दिन ड्यूटी करते हैं और फिर 14 दिन हमें विश्राम दिया जाता है, फिर 2 महीने बाद हमारी ड्यूटी रिपीट होती है, जब सबसे पहले कोविड ड्यूटी लगी और मैने परिवार को बताया तो पूरा परिवार घबरा गया और कहने लगे कि ठीक से काम करना। मेरी बेटी ने कहा आप कोविड ड्यूटी जा रहे हो वो मेरे लिए भावुक करने वाला क्षण था। लेकिन जब मैं कोरोना मरीज के पास गई तो देखा कि वो और भी ज्यादा घबराए हुए हैं। सारे रोगी इतना डरे हुए हैं कि उन्हें समझ ही नहीं आ रहा था कि उनके साथ क्या हो रहा है और क्या करेंगे। हम उनके डर को दूर करने के लिए बहुत अच्छे से माहौल बनाया। हमें जब कोविड ड्यूटी करने के लिए कहा गया तो पीपीई किट पहनकर करनी होती थी। जो मुश्किल होता था।

  • 11:33 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    "दवाई भी, कड़ाई भी - इस मंत्र को कभी भी नहीं भूलना है। 
    -PM

  • 11:33 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    गुरुग्राम की प्रीति चतुर्वेदी का अनुभव... कैसे उन्होंने कोरोना को मात दी!

    प्रीति-  इन दिनों में ना, सबसे बड़ी बात में बोलना चाहूंगी घबराना तो बिलकुल नहीं है। बहुत mentally strong करना है जिसके लिए मुझे योगा ने बहुत ज्यादा, breathing exercise करती थी अच्छा लगता था उसको करने से मुझे। मैंने बहुत सारा fluid लिया, मैंने steam लिया, gargle किया और hot water लिया। मैंने दिन भर में इन सब चीज़ों को ही अपने जीवन में लेती आई daily। सर मैंने medication के साथ-साथ ना मैंने, योगा, आयुर्वेदिक, और, मैं ये सब start किया और साथ में ना, मैंने, काढ़ा भी लेना शुरू कर दिया था, Immunity boost करने के लिए ।

    पीएम- अब आपका test भी negative आ गया है।
    प्रीति – हाँ जी सर
    पीएम – तो फिर आप अपने स्वास्थ्य के लिए इसकी देखभाल के लिए अभी क्या कर रही हैं ? 
    प्रीति – सर मैंने एक तो योग बंद नहीं किया है। मैं काढ़ा अभी भी ले रही हूँ और अपनी immunity boost रखने के लिए मैं अच्छा healthy food खा रही हूँ अभी।

  • 11:26 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    एंबुलेंस ड्राइवर प्रेम वर्मा का अपना अनुभव

    प्रेम जी - अब मुझे मेरी mummy कहती हैं ये नौकरी छोड़ दो | मैंने बोला, मम्मी, अगर मैं भी नौकरी छोड़ कर बैठ जाऊंगा तो सब और patient को कैसे कौन छोड़ने जाएगा ? 
    प्रेम जी - क्योंकि सब इस कोरोना काल में सब भाग रहे हैं। सब नौकरी छोड़-छोड़ कर जा रहे हैं। mummy भी मुझे बोलती हैं कि बेटा वो नौकरी छोड़ दे। मैंने बोला नहीं mummy मैं नौकरी नहीं छोडूंगा

  • 11:23 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    डॉ नावीद
    सवाल- पैनिक मैनेजमेंट पर अपने अनुभव से जवाब दें
    जवाब- जब करोना शुरू हुआ था कश्मीर में तो सिटी अस्पताल था उस समय खौफ का माहौल था, लोग समझते थे कि किसी को कोरोना हो जाए तो वह मर जाएगा, साथ में डॉकटर और स्वास्थ्य कर्मियों में भी खौफ का माहौल था कि वे रोगी का उपचार कैसे करेंगे कहीं उनको तो संक्रमण नहीं हो जाएगा। लेकिन समय बीतने के साथ सुरक्षा के उपाय करें तो स्टाफ संक्रमित नहीं होगा और साथ में रोगी भी ठीक हगा। वक्त जैसे गुजरा तो लोगों में जो कोरोना का डर था वह खत्म हो गया। यह जो दूसरी लहर आई है इससे डरने की जरूरत नहीं है, मास्क पहनना, सामाजिक समारोह न करना, डिस्टेंसिंग बनाना, अगर यह सब उपाय करेंगे हम अपना रोजमर्रा का काम भी कर सकते हैं और इस बीमारी से बच भी सकते हैं।

  • 11:20 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    डर कुछ नहीं होता है आप हमारा साथ दीजिये हम आपका साथ देंगे- सिस्टर भावना ध्रुव

    डर कुछ नहीं होता है आप हमारा साथ दीजिये हम आपका साथ देंगे बस आप जो भी protocols है उसे follow कीजिये बस!

    ~ सिस्टर भावना ध्रुव।

  • 11:18 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    हम प्राणायाम करेंगे, हमारे शरीर के जो lungs हैं उसको थोड़ा expand करेंगें और जो हमारी खून पतला करने वाली जो injection  आती है जिसको हम heparin  बोलते हैं | ये छोटी-छोटी दवाईया  देंगे तो 98% लोग ठीक हो जाते हैं तो positive रहना बहुत जरूरी है।

    ~ डॉक्टर शशांक, मुंबई।

  • 11:16 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    इस टाइम भी हमें panic होने की जरूरत नहीं है...

    इस मौके पर भी जो protective measures है, जो SOPs है अगर उन पर हम अमल करेंगें जैसे मास्क पहनना, hand sanitizer का use करना, उसके अलावा  physical distance maintain करना या  social gathering avoid करे तो हम अपना रोजमर्रा का काम भी बखूबी निभा सकते हैं।

    ~ डॉक्टर नावीद नजीर शाह।

  • 11:15 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    हम इस बीमारी को fight, दो ही चीजों से कर सकते हैं एक तो protective  measures और हम पहले से ही कह रहे थे कि अगर कोई effective vaccine हमारे पास आए तो वो हमें इस बीमारी से निजाद दिला सकता है।

    ~ डॉक्टर नावीद नजीर शाह।

  • 11:13 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    श्रीनगर के डॉक्टर नावीद नजीर शाह अपना अनुभव शेयर किया

    श्रीनगर के डॉक्टर नावीद नजीर शाह अपना अनुभव साझा कर रहें हैं, पीएम श्री नरेन्द्र मोदी के संग..

  • 11:12 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    बिलकुल डरने की बात नहीं है और ये wave को हम पार कर देंगे- डॉक्टर शशांक, मुंबई

    ये mutation होते रहते हैं जैसे हम कपड़े बदलते हैं वैसे  virus  भी अपना रंग बदल रहा है और इसलिए बिलकुल डरने की बात नहीं है और ये wave  को हम पार कर देंगे...

    -डॉक्टर शशांक, मुंबई।

  • 11:10 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    डॉ. शशांक ने बताया कि पहली और दूसरी लहर में में 2-3 अंतर हैं, एक तो यह युवाओँ और बच्चों में भी दिखाई दे रहा है, पहले वाले लक्ष्ण तो हैं ही जैसे सांस चढ़ना सूखी खांसी और बुखार ये तो सारे हैं ही इसके साथ गंध जाना और स्वाद जाना भी है। लोग भयभीत हैं लेकिन भयभीत होने की जरूरत नहीं है, 80-90 प्रतिशत लोगों में कोई लक्ष्ण नहीं दिखाई दे रहे, जैसे हम कपड़े बदलते हैं वैसे वायरस भी रंग पदल रहा है। सिर्फ सतर्क रहने की जरूरत है।

  • 11:09 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    PM ने कार्यक्रम में मुम्बई के प्रसिद्द डॉक्टर शशांक जोशी से बातचीत की। उन्होंने कार्यक्रम में बताया कि ये जो दूसरीwave आई है। ये तेजी से आई है, तो जितनी पहली wave थी उससे ये  virus  ज्यादा तेज चल रहा है, लेकिन अच्छी बात ये है कि उससे ज्यादा रफ़्तार से recovery  भी है और मृत्यु दर काफी कम हैं।

  • 11:06 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    "अभी कुछ दिन पहले ही आपसे बात करने का अवसर मिला था । आपके विचारों की स्पष्टता मुझे बहुत अच्छी  लगी थी । मुझे लगा देश के सभी नागरिको को आपके विचार जानने चाहिए ।"
    - पीएम

  • 11:06 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    "हमारे साथ, इस समय, मुम्बई से प्रसिद्द डॉक्टर शशांक जोशी जी जुड़ रहे हैं। डॉक्टर शशांक जी को कोरोना के इलाज और इससे जुड़ी research का बहुत जमीनी अनुभव है, वो, Indian College of Physicians के Dean भी रह चुके हैं।"
    - पीएम 

  • 11:06 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    "साथियो, कोरोना के खिलाफ इस समय बहुत बड़ी लड़ाई देश के डॉक्टर और health workers लड़ रहे हैं। पिछले एक साल में उन्हें इस बीमारी को लेकर हर तरह के अनुभव भी हुए हैं।"
    - पीएम

  • 11:05 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    "इस समय, हमें इस लड़ाई को जीतने के लिए, experts और वैज्ञानिक सलाह को प्राथमिकता देनी है। राज्य सरकार के प्रयत्नों को आगे बढ़ाने में भारत सरकार पूरी शक्ति से जुटी हुई है। राज्य सरकारें भी अपना दायित्व निभाने की पूरी कोशिश कर रही हैं।"
    -पीएम मोदी

  • 11:05 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    साथियो, बीते दिनों इस संकट से निपटने के लिए, मेरी, अलग-अलग sectors  के expert के साथ, विशेषज्ञों के साथ लम्बी चर्चा हुई है। हमारी pharma- industry के लोग हों, vaccine manufacturers हों oxygen के production से जुड़े लोग हों या फिर medical field के जानकार, उन्होंने, अपने महत्वपूर्ण सुझाव सरकार को दिए हैं।
    - पीएम मोदी

  • 11:03 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    मन की बात ऐसे समय कर रहा हूं जब कोरोना सभी के धाय्र और दुख को बर्दास्त करने की परीक्षा ले रहा है। बहुत से अपने असमय छोड़कर चले गए,  पहली वेव का सफलता पूर्वक मुकाबला करने के बाद देश आत्मविश्वास से भरा था लेकिन इस तूफान ने देश को झोकझोर दिया। - पीएम मोदी

  • 10:52 AM (IST) Posted by Yashveer Singh

    11 बजे शुरू होगा मन की बात

    कोरोना की लहर के बीच पीएम मोदी करेंगे मन की बात

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X