1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. रमजान में अगर डॉक्टर रोजा न रखने को कहे तो हदीस में डॉक्टर की बात मानने को कहा गया है- जफर सरेशवाला

रमजान में अगर डॉक्टर रोजा न रखने को कहे तो हदीस में डॉक्टर की बात मानने को कहा गया है- जफर सरेशवाला

जफर सरेशवाला ने कहा कि हदीस में डॉक्टर का दर्जा बहुत ऊपर बताया गया है और कहा गया है कि अगर आपका डाक्टर कहे की रोजा मत रखो तो आपको उसकी बात माननी पड़ेगी न कि मौलाना की।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: April 03, 2020 13:13 IST
MANUU former Chancellor, Zafar Sareshwala, corona- India TV Hindi
MANUU former Chancellor Zafar Sareshwala on india tv 

नई दिल्ली। इंडिया टीवी के विशेष कार्यक्रम 'कोरोना, कुरान और मुसलमान' में MANUU के पूर्व चांसलर जफर सरेशवाला ने कहा कि 'जो लोग डॉक्टरों के साथ बदसलूकी करते हैं वो एक घिनौना अपराध है, अगर भारत इस्लामिक देश होता और ऐसा करने वाले मुस्लिम भी होते तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होती। जफर सरेशवाला ने कहा कि हदीस में डॉक्टर का दर्जा बहुत ऊपर बताया गया है और कहा गया है कि अगर आपका डाक्टर कहे की रोजा मत रखो तो आपको उसकी बात माननी पड़ेगी न कि मौलाना की। आम लोगों से उपचार करने वाले का मुकाम बहुत ऊपर है, जो हरकत लोगों ने डाक्टरों के साथ की है, हमारे अंदर नाशुक्री का जो वायरस है उसे निकालने के हमें कोई और मुहिम चलानी पड़ेगी।'

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X