1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. पुलवामा में CRPF बंकर पर पेट्रोल बम से हमला, कोई नुकसान नहीं

पुलवामा में CRPF बंकर पर पेट्रोल बम से हमला, कोई नुकसान नहीं

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में शरारती तत्वों ने सुरक्षा बलों पर सोमवार को पेट्रोल बम फेंक दिया लेकिन इसमें किसी तरह का नुकसान नहीं हुआ।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: January 20, 2020 19:33 IST
Representative Image- India TV Hindi
Representative Image

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में शरारती तत्वों ने सुरक्षा बलों पर सोमवार को पेट्रोल बम फेंक दिया लेकिन इसमें किसी तरह का नुकसान नहीं हुआ। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि यह बम सोमवार की शाम पुलवामा के नेवा में सीआरपीएफ के बंकर की तरफ फेंका गया। उन्होंने बताया कि विस्फोट में कोई हताहत नहीं हुआ है। फिलहाल, मामले से जुड़ी ज्यादा जानकारी नहीं मिल पाई है। 

हिज्बुल मुजाहिद्दीन के तीन आतंकवादी मारे

बता दें कि इससे अलग सोमवार को जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में हिज्बुल मुजाहिद्दीन के तीन आतंकवादी मारे गए। इनमें पुलिस का एक भगोड़ा और शीर्ष दर्जे का एक आतंकी कमांडर भी शामिल था। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों के मौजूद होने की सूचना मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने शोपियां जिले के वाची क्षेत्र में घेराबंदी करके तलाशी अभियान शुरू किया था। 

आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर चलाई गोलियां

उन्होंने बताया कि आंतकवादियों से आत्मसमर्पण करने को कहा गया लेकिन उन्होंने सुरक्षा बलों पर गोलियां चलानी शुरू कर दीं, जिसके बाद दोनों ओर से मुठभेड़ शुरू हो गई। उन्होंने बताया,‘‘मुठभेड़ में हिज्बुल मुजाहिदीन के तीन आतंकवादी मारे गए।’’ उनमें से एक आतंकवादी की पहचान आदिल अहमद के तौर पर हुई है। वह विशेष पुलिस अधिकारी था, जो 2018 में बल छोड़कर वाची के तत्कालीन विधायक एजाज अहमद मीर के आधिकारिक आवास से सात एके रायफल और एक पिस्तौल लेकर फरार हो गया था।

पुलिस महानिदेशक का बयान

उन्होंने बताया कि शेष दो आतंकवादियों की पहचान वसीम वानी और जहांगीर के तौर पर की गयी है। तीनों आतंकियों के मारे जाने को बड़ी सफलता करार देते हुए पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने कहा कि हिज्बुल मुजाहिद्दीन दक्षिण कश्मीर में खत्म होने की कगार पर है। उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि पुलिस बल ने 2020 में सफल शुरूआत की है। 

DSP देविंदर के साथ गिरफ्तार आतंकियों से मिले सुराग

सिंह ने कहा कि निलंबित किये जा चुके पुलिस उपाधीक्षक देविंदर सिंह के साथ गिरफ्तार किये गये आतंकवादियों द्वारा दिये गये सुरागों के आधार पर सुरक्षा बलों ने गतिविधियां तेज कर दीं और यह अभियान सफल रहा। डीजीपी ने कहा कि वानी हिज्बुल मुजाहिद्दीन के शीर्ष दर्जे के कमांडरों में शामिल था। वह चार नागरिकों और चार पुलिसकर्मियों की हत्या समेत 19 मामलों में वांछित था।

भरोड़े 'पुलिसवाले' आतंकी की 'कुंडली'

उन्होंने कहा, ‘‘आदिल भी सितंबर 2018 में पुलिस बल से भाग जाने के बाद इनमें से कुछ हत्याओं में शामिल था।’’ सिंह ने कहा कि आतंकियों के इस समूह के खात्मे से शोपियां के लोगों के दिमाग से डर निकलेगा।

(इनपुट- भाषा)

कोरोना से जंग : Full Coverage

Related Video
India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X