1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. राजधानी दिल्ली में प्रदूषण की मार थोड़ी कम, लेकिन हवा अभी भी जहरीली

राजधानी दिल्ली में प्रदूषण की मार थोड़ी कम, लेकिन हवा अभी भी जहरीली

दिल्ली एनसीआर में आज पिछले दो दिन के मुकाबले थोड़ी राहत जरूर मिली है लेकिन लगातार तीसरे दिन एयर क्वालिटी इंडेक्स 500 के पार पहुंचा हुआ है। इसका मतलब ये हुआ कि दिल्ली में प्रदूषण का स्तर बेहद खतरनाक को भी पार कर गया है। 

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: November 05, 2019 7:09 IST
राजधानी दिल्ली में प्रदूषण की मार थोड़ी कम, लेकिन हवा अभी भी जहरीली- India TV
राजधानी दिल्ली में प्रदूषण की मार थोड़ी कम, लेकिन हवा अभी भी जहरीली

नई दिल्ली: दिल्ली एनसीआर में आज पिछले दो दिन के मुकाबले थोड़ी राहत जरूर मिली है लेकिन लगातार तीसरे दिन एयर क्वालिटी इंडेक्स 500 के पार पहुंचा हुआ है। इसका मतलब ये हुआ कि दिल्ली में प्रदूषण का स्तर बेहद खतरनाक को भी पार कर गया है। दिल्ली के आनंद विहार में एयर क्वालिटी इंडेक्स 520 के पार है। शाहदरा में तो और भी हालत खराब है। यहां एयर क्वालिटी इंडेक्स 524 पर पहुंचा हुआ है। बाहरी दिल्ली में नरेला की स्थिति भी खराब है, यहां प्रदूषण का स्तर 505 पर पहुंचा हुआ है।

Related Stories

दिल्ली के साथ-साथ अगर एनसीआर की बात करें तो नोएडा में आज सबसे ज्यादा पॉल्यूशन रिकॉर्ड किया गया है। नोएडा का एयर क्वालिटी इंडेक्स 570 के पार चला गया है जबकि गाज़ियाबाद में ये इंडेक्स 525 पर है। पिछले दो दिनों के मुकाबले हालात में थोड़ी राहत ज़रूर मिली है लेकिन हवा की गुणवत्ता का स्तर अभी भी बेहद खतरनाक है।

वहीं सुप्रीम कोर्ट ने इस दमघोंटू प्रदूषण के लिये प्राधिकारियों को आड़े हाथ लिया और कहा कि लोग अपने घरों में भी सुरक्षित नहीं हैं। इसके साथ ही कोर्ट ने पड़ोसी राज्यों पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश को तत्काल पराली जलाने पर रोक लगाने का निर्देश दिया। दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण में पराली जलाने का योगदान करीब 46 प्रतिशत है। 

कोर्ट ने कहा कि खतरनाक प्रदूषण की वजह से हर साल दिल्ली-एनसीआर का दम घुटता है और हम कुछ नहीं कर पा रहे हैं। सभ्य देश में ऐसा नहीं हो सकता। पराली जलाने वाले किसानों के प्रति उसे कोई सहानुभूति नहीं है क्योंकि वे दूसरों की जान जोखिम में डाल रहे हैं। 

कोर्ट ने कहा, ‘‘दिल्ली में रहने के लिये कोई भी जगह सुरक्षित नहीं है। यहां तक कि लोग अपने घरों में भी सुरक्षित नहीं है। यह भयावह है।’’ कोर्ट ने राजधानी में शुरू की गयी सम-विषम योजना पर भी सवाल उठाये और उसे निर्देश दिया कि इससे पहले लागू की गयी इन योजनाओं के दौरान प्रदूषण के स्तर से संबंधित आंकड़े पेश किये जायें। इस बीच राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने दिल्ली में प्रदूषण के खतरनाक स्तर तक बढ़ने का स्वत: संज्ञान लेते हुए दिल्ली सरकार, केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति और पर्यावरण एवं वन मंत्रालय के अधिकारियों से मंगलवार को पेश होने को कहा। 

शीर्ष अदालत ने कहा कि दिल्ली-एनसीआर में निर्माण या निर्माण गिराने की गतिविधि होने पर एक लाख रुपये और कचरा जलाने के अपराध में संलिप्त होने पर पांच हजार रुपये का जुर्माना लगाया जायेगा। वहीं भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि चक्रवाती तूफान ‘महा’ और एक पश्चिमी विक्षोभ से बुधवार और बृहस्पतिवार को राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश तथा दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तरी मैदानी हिस्सों में बारिश के आसार हैं जिससे स्थिति में और सुधार होगा।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
bigg-boss-13