1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. Coronavirus के कारण गणतंत्र दिवस परेड में होंगे कई बड़े बदलाव, इतिहास में पहली बार नहीं होगा यह

Coronavirus के कारण गणतंत्र दिवस परेड में होंगे कई बड़े बदलाव, इतिहास में पहली बार नहीं होगा यह

कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर केंद्र सरकार ने गणतंत्र दिवस परेड 2021 में कई बडे़ बदलाव किए हैं ताकि परेड के दौरान भीड़भाड़ से बचा जा सके और सोशल डिस्टैंसिंग भी सुनिश्चित हो सके।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: December 30, 2020 21:40 IST
R-Day parade likely to be shorter, to have smaller marching contingents and fewer spectators- India TV Hindi
Image Source : PTI कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर केंद्र सरकार ने गणतंत्र दिवस परेड 2021 में कई बडे़ बदलाव किए हैं।

नयी दिल्ली: कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर केंद्र सरकार ने गणतंत्र दिवस परेड 2021 में कई बडे़ बदलाव किए हैं ताकि परेड के दौरान भीड़भाड़ से बचा जा सके और सोशल डिस्टैंसिंग भी सुनिश्चित हो सके। इसके मद्देनजर परेड में हिस्सा लेने वाली टुकड़ियों के आकार को घटाया जाएगा, परेड की दूरी कम की जाएगी और पूर्व के वर्षों की तुलना में कम लोगों की मौजूदगी रहेगी। इतिहास में पहली बार ऐसा हो रहा है जब गणतंत्र दिवस परेड का समापन लाल किले पर नहीं होगा। परेड की शुरुआत विजय चौक से होगी और ये नेशनल स्टेडियम पर जाकर खत्म होगी। हर साल भारत राजपथ पर गणतंत्र दिवस समारोह में अपनी सैन्य ताकत, समृद्ध सांस्कृतिक विविधता और सामाजिक-आर्थिक उन्नति की झांकी पेश करता है। 

ये भी पढ़े: लिव-इन रिलेशनशिप पर आया हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, जानें क्या कहा

सूत्रों ने बताया कि गणतंत्र दिवस परेड की भव्यता तो बरकरार रहेगी लेकिन महामारी के मद्देनजर टुकड़ियों के आकार को सीमित किया जाएगा। भारत ने गणतंत्र दिवस परेड के लिए मुख्य अतिथि के तौर पर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को आमंत्रित किया है। एक अधिकारी ने बताया कि कोविड-19 संबंधी दिशा-निर्देशों को ध्यान में रखते हुए समारोह के लिए तैयारियां की जा रही हैं। 

सूत्रों ने बताया कि करीब 25,000 लोगों को समारोह देखने के लिए जाने की अनुमति दी जाएगी और 15 साल से कम उम्र के बच्चों को प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। आम तौर पर गणतंत्र दिवस के दौरान करीब एक लाख लोग परेड देखने आते हैं। इसी प्रकार परेड में हिस्सा लेने वाली टुकड़ियों के आकार में भी कटौती की जाएगी। 

ये भी पढ़े: जिराफ ने की ऐसी हरकत कि सोशल मीडिया पर छाया वीडियो, आप भी हो जाएंगे हंस-हंसकर लोट-पोट

अमूमन एक टुकड़ी में 144 कर्मी रहते हैं, लेकिन इस बार 96 सदस्यों की टुकड़ी की ही अनुमति होगी। परेड की दूरी भी कम की जाएगी। यह विजय चौक से शुरू होगी और लाल किला तक जाने के बजाए नेशनल स्टेडियम तक ही जाएगी। सूत्रों ने बताया कि गणतंत्र दिवस और सेना दिवस परेडों के लिए 2,000 से ज्यादा सैन्यकर्मी नवंबर के अंतिम दिनों में दिल्ली पहुंच गए और संक्रमण से बाचाव के मद्देनजर उन्हें सुरक्षित माहौल में रखा गया है। 

ये भी पढ़े: कोरोना से बचाने वाली दवा बिगाड़ सकती है आपकी ‘सेक्स लाइफ’, हो सकती है यह गंभीर बीमारी, WHO की चेतावनी

उन्होंने बताया कि उन कर्मियों को छावनी इलाके में ‘सेफ बबल’ (संक्रमण से सुरक्षित माहौल) में रखा गया है और परेड में हिस्सा लेने वाले कर्मियों का 26 जनवरी तक बाहरी माहौल से कोई संपर्क नहीं रहेगा। सेना दिवस 15 जनवरी को मनाया जाता है। भारतीय नौसेना और वायु सेना ने भी इसी तरह की व्यवस्था की है। परेड के लिए वायु सेना की दो टुकड़ियों को चुना गया है और उनमें से एक टुकड़ी इसमें हिस्सा लेगी। 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X