1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. अमेरिका
  5. कोरोना से बचाने वाली दवा बिगाड़ सकती है आपकी ‘सेक्स लाइफ’, हो सकती है यह गंभीर बीमारी

कोरोना से बचाने वाली दवा बिगाड़ सकती है आपकी ‘सेक्स लाइफ’, हो सकती है यह गंभीर बीमारी, WHO की चेतावनी

कोरोना वायरस ने दुनियाभर में आतंक मचा रखा है जिससे बचने के लिए कई लोग एंटीबायोटक दवाइयों का इस्तेमाल करने लगे हैं लेकिन शायद आपको पता नहीं है कि अत्यधिक एंटीबायोटिक के इस्तेमाल से आप एक गंभीर बीमारी के शिकार हो सकते हैं।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: December 28, 2020 20:12 IST
Antibiotic overuse due to coronavirus may trigger untreatable 'super gonorrhea'- India TV Hindi
Image Source : AP अत्यधिक एंटीबायोटिक के इस्तेमाल से आप एक गंभीर बीमारी के शिकार हो सकते हैं।

नई दिल्ली: कोरोना वायरस ने दुनियाभर में आतंक मचा रखा है जिससे बचने के लिए कई लोग एंटीबायोटक दवाइयों का इस्तेमाल करने लगे हैं लेकिन शायद आपको पता नहीं है कि अत्यधिक एंटीबायोटिक के इस्तेमाल से आप एक गंभीर बीमारी के शिकार हो सकते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने चेतावनी दी है कि ज्यादा एंटीबायोटिक्स लेने से गोनोरिया के मामले बढ़ने का खतरा काफी बढ़ गया है। एक शोध में पाया गया है कि सांस की समस्या के लिए दी जाने वाली एजिथ्रोमाइसिन एंटीबायोटिक का ज्यादा इस्तेमाल किया जा रहा है, जो एक आम एंटीबायोटिक है।

WHO की रिपोर्ट के मुताबिक, जरूरत से ज्यादा इन दवाओं पर निर्भर होने की वजह से सुपर गोनोरिया के मामलों के बढ़ने का खतरा काफी ज्यादा पैदा हो गया है। ब्रिटेन की दवा कंपनी बायोटासफेरिक लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी केविन कॉक्स ने ‘द सन’ को बताया कि इस तरह के चलन से यह बीमारी लाइलाज हो सकती है।

ये भी पढ़े: इस राज्य की सरकार ने मास्क नहीं पहनने वालों से वसूला 115 करोड़ रुपये का जुर्माना

क्या है गोनोरिया

यह बीमारी नीसीरिया गोनोरिया नाम के एक बैक्टीरिया से होती है। असुरक्षित यौन संबंध, ओरल सेक्स और अप्राकृतिक सेक्स की वजह से यह संक्रमण फैलता है लेकिन परेशानी की बात यह है कि इस बीमारी को ठीक करने के लिए दी जाने वाली एंटीबायोटिक्स तेजी से बेअसर होती जा रही है।

ये भी पढ़े: पाक कोर्ट के इस आश्चर्यजनक फैसले से अमेरिका में फैली चिंता की लह

बता दें कि सुपर गोनोरिया से दुनियाभर में 9 करोड़ से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं। सबसे ज्यादा मामले अफ्रीका ऐर यूरोप से आए हैं। WHO के मुताबिक साल 2017 से 2018 के बीच 22 फीसदी मामलों में तेजी आई है। रिपोर्ट के मुताबिक आने वाले दिनों में इसमें ऐर तेजी देखने को मिल सकती है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment
X