1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. कोविड प्रतिबंध 28 फरवरी तक बढ़ाए गए, देश के 407 जिलों में संक्रमण दर 10% से ज्यादा होने पर MHA ने लिया फैसला

कोविड प्रतिबंध 28 फरवरी तक बढ़ाए गए, देश के 407 जिलों में संक्रमण दर 10% से ज्यादा होने पर MHA ने लिया फैसला

मौजूदा कोविड प्रतिबंधों को 28 फरवरी तक बढ़ाते हुए भल्ला ने मुख्य सचिवों को लिखे पत्र में कहा, ‘‘यह अब भी चिंता का विषय है कि 34 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के 407 जिलों में संक्रमण की दर 10 प्रतिशत से अधिक है। इसलिए, कोविड के मौजूदा रुख को देखते हुए सावधानी और सतर्कता बनाए रखने की जरूरत है।" 

IndiaTV Hindi Desk Written by: IndiaTV Hindi Desk
Published on: January 27, 2022 20:39 IST
देश के 407 जिलों में संक्रमण दर 10 फीसदी से ज्यादा होने पर कोविड प्रतिबंध 28 फरवरी तक बढ़े- India TV Hindi
Image Source : PTI FILE PHOTO देश के 407 जिलों में संक्रमण दर 10 फीसदी से ज्यादा होने पर कोविड प्रतिबंध 28 फरवरी तक बढ़े

Highlights

  • केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मौजूदा कोविड-19 रोकथाम उपायों को 28 फरवरी तक बढ़ा दिया है
  • केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने सभी राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों को लिखा पत्र
  • कोविड मानदंडों का सख्ती से पालन किया जाना चाहिए- केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला

नयी दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्रालय ने गुरुवार को मौजूदा कोविड​​​​-19 रोकथाम उपायों को 28 फरवरी तक बढ़ा दिया। मंत्रालय ने वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप के कारण संक्रमण में तेजी से वृद्धि और 407 जिलों में संक्रमण दर के 10 प्रतिशत से अधिक रहने को लेकर यह फैसला किया है। केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने सभी राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों को लिखे एक पत्र में कहा कि उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 22 लाख से अधिक हो गयी है, हालांकि ज्यादातर मरीज जल्दी ठीक हो रहे हैं और कम मरीज अस्पतालों में हैं।

मौजूदा कोविड प्रतिबंधों को 28 फरवरी तक बढ़ाते हुए भल्ला ने मुख्य सचिवों को लिखे पत्र में कहा, ‘‘यह अब भी चिंता का विषय है कि 34 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के 407 जिलों में कोरोना संक्रमण की दर 10 प्रतिशत से अधिक है। इसलिए, कोविड के मौजूदा रुख को देखते हुए सावधानी और सतर्कता बनाए रखने की जरूरत है।" भल्ला ने एक बार फिर कहा कि मौजूदा स्थिति को देखते हुए सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को सभी सावधानियों का पालन करना चाहिए और ढिलायी नहीं बरतनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि 12 दिसंबर, 2021 को एक पत्र में स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा उल्लिखित मानक ढांचे तथा स्थिति के आकलन के आधार पर, स्थानीय और जिला प्रशासन को त्वरित और उचित रोकथाम उपाय जारी रखना चाहिए। भल्ला ने कहा कि स्थानीय स्तर पर संक्रमण के मामले और मरीजों के अस्पतालों में भर्ती होने की स्थिति के आधार पर स्थानीय प्रतिबंधों को लागू करना और हटाना चाहिए।

उन्होंने जोर दिया कि जांच, संक्रमित लोगों के संपर्कों का पता लगाना, उपचार, टीकाकरण और कोविड-उपयुक्त व्यवहार के पालन की पांच-सूत्री रणनीति पर लगातार ध्यान केंद्रित रखना चाहिए। भल्ला ने कहा कि सभी सार्वजनिक क्षेत्रों और सभाओं में मास्क पहनना और सामाजिक दूरी बनाए रखने जैसे कोविड मानदंडों का सख्ती से पालन किया जाना चाहिए।

 

erussia-ukraine-news