Gautam Adani : उद्योगपति गौतम अडानी को मिली ‘जेड’ श्रेणी की सुरक्षा, जानें हर महीने कितना होगा खर्च

Gautam Adani सूत्रों ने बताया कि पूरे देश में मिलने वाले इस सुरक्षा घेरे को ‘भुगतान के आधार’ पर उपलब्ध कराया गया है।

Reported By : PTI Edited By : Niraj Kumar Updated on: August 17, 2022 18:05 IST
Gautam Adani, Industrialist- India TV Hindi News
Image Source : FILE Gautam Adani, Industrialist

Highlights

  • 15-20 लाख रुपये प्रति माह खर्च आने की संभावना
  • सीआरपीएफ कमांडो के घेरे वाली ‘जेड’ श्रेणी की सुरक्षा मिली

Gautam Adani : केंद्र सरकार ने उद्योगपति और अडानी समूह के प्रमुख गौतम अडानी (Gautam Adani )को सीआरपीएफ (CRPF) कमांडो के घेरे वाली ‘जेड’ श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की है। आधिकारिक सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी। सूत्रों ने बताया कि पूरे देश में मिलने वाले इस सुरक्षा घेरे को ‘भुगतान के आधार’ पर उपलब्ध कराया गया है और इस पर करीब 15-20 लाख रुपये प्रति माह खर्च आने की संभावना है। 

सूत्रों ने बताया कि केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों द्वारा तैयार जोखिम के अनुमान वाली रिपोर्ट के आधार पर अडानी (60) को सुरक्षा मुहैया कराई गई है। उन्होंने बताया कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की वीआईपी सुरक्षा शाखा को यह जिम्मेदारी संभालने को कहा है और इसका दस्ता अब अडानी के साथ है। केंद्र सरकार ने 2013 में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के अध्यक्ष मुकेश अंबानी को ‘जेड प्लस’ श्रेणी की सुरक्षा उपलब्ध करायी थी। 

एनएसए डोभाल के आवास पर सुरक्षा चूक को लेकर 3 कमांडो बर्खास्त 

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल के आवास पर इस साल की शुरुआत में एक सुरक्षा चूक होने को लेकर केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के तीन कमांडो को सेवा से बर्खास्त कर दिया गया, जबकि सीआईएसएफ की ‘वीआईपी’ सुरक्षा इकाई के दो वरिष्ठ अधिकारियों का तबादला कर दिया गया है। अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी। 

16 फरवरी को हुई थी सुरक्षा में चूक

डोभाल को केंद्रीय अति विशिष्ट व्यक्ति (वीआईपी) सुरक्षा सूची के तहत ‘जेड प्लस’ श्रेणी की सुरक्षा प्राप्त है। उन्हें सीआईएसएफ की विशेष सुरक्षा समूह (एसएसजी) इकाई द्वारा सुरक्षा कवर मुहैया कराया गया है। सुरक्षा चूक की यह घटना 16 फरवरी को हुई थी। सीआईएसएफ द्वारा की गई जांच में विभिन्न आरोपों में पांच अधिकारियों को दोषी पाए जाने और उनके खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश किये जाने के बाद यह दंडात्मक कार्रवाई की गई है। 

सुरक्षा में सेंध लगाने वाले युवक को पकड़ लिया गया था

अधिकारियों ने बताया कि एसएसजी के तीन कमांडो को सेवा से बर्खास्त कर दिया गया, जबकि इस सुरक्षा इकाई का नेतृत्व कर रहे उप महानिरीक्षक (डीआईजी) और उनके पद के ठीक नीचे के कमांडेंट रैंक के एक वरिष्ठ अधिकारी का तबादला कर दिया गया है। जिन तीन कमांडो को बर्खास्त किया गया है वे सुरक्षा प्रदान करने के लिए उस दिन एनएसए के आवास पर मौजूद थे। गौरतलब है कि सुरक्षा में सेंध लगाने वाले व्यक्ति को एनएसए के आवास के बाहर पकड़ लिया गया और उसे दिल्ली पुलिस को सौंप दिया गया था।

इनपुट-पीटीआई

Latest India News

navratri-2022