1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. अमित शाह का ‘दीदी’ और राहुल गांधी को चैलेंज, कहा- CAA में नागरिकता छीनने का प्रावधान हो तो दिखाओ

अमित शाह का ‘दीदी’ और राहुल गांधी को चैलेंज, कहा- CAA में नागरिकता छीनने का प्रावधान हो तो दिखाओ

CAA को लेकर पूरे देश में चर्चाओं का दौर जारी है। एक तरफ जहां विपक्षी दल इस कानून का विरोध कर रहे हैं, तो वहीं भाजपा लगातार इस कानून के पक्ष में सभाएं आयोजित कर रही है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: January 12, 2020 18:11 IST
Union Home Minister Amit Shah- India TV Hindi
Image Source : PTI (FILE) Union Home Minister Amit Shah

जबलपुर। CAA को लेकर पूरे देश में चर्चाओं का दौर जारी है। एक तरफ जहां विपक्षी दल इस कानून का विरोध कर रहे हैं, तो वहीं भाजपा लगातार इस कानून के पक्ष में सभाएं आयोजित कर रही है। मध्य प्रदेश के जबलपुर में आयोजित एक ऐसी ही सभा में गृह मंत्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को चैलेंज दे दिया। उन्होंने कहा, “मैं यहां से चैलेंज देता हूं ममता दीदी और राहुल बाबा को कि CAA में कहीं पर भी किसी की भी नागरिकता छीनने का प्रावधान है तो हमको बता दीजिए। इसमें कहीं पर भी नागरिकता छीनने का प्रावधान नहीं है।”

गृह मंत्री अमित शाह यहीं नहीं रुके, उन्होंने आगे कहा कि भारत पर जितना अधिकार मेरा और आपका है, उतना ही अधिकार पाकिस्तान से आए हिंदू, सिख, बौद्ध, ईसाई शरणार्थियों का है। जबलपुर रैली में अमित शाह ने राम मंदिर को लेकर कांग्रेस के नेता कपिल सिब्बल पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा, कपिल सिब्बल, कांग्रेस के वकील कहते हैं कि राम मंदिर नहीं बनना चाहिए, अरे सिब्बल भाई जितना दम हो राक लो, 4 महीने में आसमान को छूता हुआ राम मंदिर का निर्माण होने वाला है।”

CAA ने दुनिया को पाक में धार्मिक प्रताड़ना की हकीकत दिखाई: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नए नागरिकता कानून का रविवार को मजबूती से बचाव करते हुए कहा कि इस पर पैदा हुए विवाद ने दुनिया को पाकिस्तान में धार्मिक अल्पसंख्यकों के दमन की हकीकत दिखा दी है। हालांकि उन्होंने इस बात पर निराशा जाहिर की कि संशोधित नागरिकता कानून पर युवाओं के एक वर्ग को गुमराह किया जा रहा है जिसका मकसद नागरिकता छीनना नहीं बल्कि नागरिकता देना है।

प्रधानमंत्री ने रामकृष्ण मिशन के मुख्यालय, बेलूर मठ में जनसभा से कहा, “सीएए किसी की नागरिकता छीनने के बारे में नहीं है, यह नागरिकता देने के लिए है। आज, राष्ट्रीय युवा दिवस पर, मैं भारत, पश्चिम बंगाल, पूर्वोत्तर के युवाओं को यह बताना चाहता हूं कि यह नागरिकता देने के लिए रातों-रात बना कानून नहीं है। उन्होंने कहा, “हम सभी को यह पता होना चाहिए कि दुनिया के किसी भी देश का, किसी भी धर्म का व्यक्ति जो भारत और उसके संविधान में यकीन रखता है, वह उचित प्रक्रिया के माध्यम से भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन कर सकता है। इसमें कोई समस्या नहीं है।” 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X