Sunday, July 14, 2024
Advertisement

शपथ से पहले राहुल गांधी ने वायनाड के लिए लिखा भावुक पत्र, बताई अपने दुख की वजह

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को वायनाड के लोगों के लिए एक भावुक पत्र लिखा। इस पत्र में उन्होंने वायनाड का सांसद रहने के दौरान वहां से जुड़ी यादों को शेयर किया। इसके साथ ही उन्होंने वायनाड सीट छोड़ने पर दुख भी व्यक्त किया।

Edited By: Amar Deep
Published on: June 23, 2024 22:55 IST
राहुल गांधी ने वायनाड के लिए लिखा भावुक पत्र।- India TV Hindi
Image Source : PTI/CONGRESS राहुल गांधी ने वायनाड के लिए लिखा भावुक पत्र।

नई दिल्ली: रायबरेली से सांसद के रूप में शपथ लेने से पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को वायनाड के लोगों को एक भावनात्मक पत्र लिखकर उनके समर्थन के लिए धन्यवाद दिया। पत्र में पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि वह दुखी हैं, लेकिन उन्हें इस बात का संतोष भी है कि उनकी बहन प्रियंका गांधी वाड्रा संसद में वायनाड के लोगों का प्रतिनिधित्व करेंगी। गांधी ने पत्र में लिखा, “जब मैं मीडिया के सामने खड़ा था और आपको अपने फैसले के बारे में बता रहा था, तो आपने मेरी आंखों में उदासी देखी होगी। तो मैं दुखी क्यों हूं? मैं आपसे पांच साल पहले मिला था। जब मैं पहली बार आपसे मिलने आया था, तो मैं आपसे समर्थन मांगने आया था। मैं आपके लिए एक अजनबी था और फिर भी आपने मुझ पर विश्वास किया।” 

असीम प्रेम और स्नेह से लगाया गले

उन्होंने लिखा, “आपने मुझे असीम प्रेम और स्नेह से गले लगाया। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप किस राजनीतिक दल का समर्थन करते थे, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप किस समुदाय से थे या आप किस धर्म को मानते थे या आप कौन सी भाषा बोलते थे।” गांधी ने पत्र में लिखा, “जब मैं दिन-ब-दिन दुर्व्यवहार का सामना कर रहा था, तब आपके बिना शर्त प्यार ने मेरी रक्षा की। आप ही मेरी शरणस्थली, मेरा घर और मेरा परिवार थे। मुझे एक पल के लिए भी ऐसा नहीं लगा कि आपको मुझ पर शक है।” पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष गांधी 2019 में उत्तर प्रदेश में अपने पारिवारिक गढ़ अमेठी से चुनावी मुकाबला हारने के बाद केरल के वायनाड से लोकसभा के लिए चुने गए थे। 

केरल की बाढ़ को किया याद

केरल में आई बाढ़ को याद करते हुए कांग्रेस नेता ने कहा, “बाढ़ के दौरान मैंने जो कुछ देखा, उसे मैं कभी नहीं भूलूंगा। एक के बाद एक परिवारों ने अपना सबकुछ खो दिया। जीवन, संपत्ति, दोस्त सबकुछ चले गए और फिर भी आप में से किसी ने, यहां तक ​​कि एक छोटे बच्चे ने भी अपनी गरिमा नहीं खोई।” उन्होंने कहा, “आपने मुझे जो अनगिनत फूल और आलिंगन दिए, मैं उन्हें हमेशा याद रखूंगा। हर एक फूल इतने सच्चे प्यार और कोमलता के साथ दिया गया।” गांधी ने कहा कि संसद में वायनाड के लोगों की आवाज बनना उनके लिए खुशी और सम्मान की बात है। उन्होंने कहा, “संसद में आपकी आवाज बनना वाकई खुशी और सम्मान की बात है। मैं दुखी हूं, लेकिन मुझे तसल्ली भी है क्योंकि मेरी बहन प्रियंका आपका प्रतिनिधित्व करने के लिए वहां मौजूद होंगी। मुझे पूरा भरोसा है कि अगर आप उन्हें मौका देंगे तो वह आपकी सांसद के तौर पर बेहतरीन काम करेंगी।” 

प्रियंका गांधी होंगी वायनाड से उम्मीदवार

प्रियंका गांधी को कांग्रेस ने उनके भाई द्वारा खाली की गई वायनाड लोकसभा सीट से मैदान में उतारा है। राहुल गांधी ने कहा, “मैं इसलिए भी संतुष्ट हूं क्योंकि रायबरेली के लोगों में मेरा एक प्यारा परिवार है और उनके साथ मेरा एक ऐसा रिश्ता है जिसे मैं बहुत संजोकर रखता हूं। आप और रायबरेली के लोगों के प्रति मेरी मुख्य प्रतिबद्धता यह है कि हम देश में फैलाई जा रही नफरत और हिंसा से लड़ेंगे और उसे हराएंगे।” उन्होंने कहा, “जब मुझे इसकी सबसे अधिक आवश्यकता थी, तब आपने मुझे जो प्यार और सुरक्षा दी, उसके लिए आप मेरे परिवार का हिस्सा हैं और मैं हमेशा आप सभी के लिए मौजूद रहूंगा।”

यह भी पढ़ें- 

ईटानगर में बादल फटने से मची तबाही, हर तरफ दिख रहा भयावह मंजर; कई इलाकों से टूटा संपर्क

तो क्या पेपर लीक के बीच अब हैक हुई NTA की वेबसाइट? जानें अधिकारियों ने क्या कहा

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement