1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. महाराष्ट्र
  4. महाराष्ट्र में कोरोना 'बम फटा', 63294 नए केस मिले, 14 अप्रैल के बाद होगा लॉकडाउन पर फैसला

महाराष्ट्र में कोरोना 'बम फटा', 63294 नए केस मिले, 14 अप्रैल के बाद होगा लॉकडाउन पर फैसला

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में सबसे ज्यादा नए केस सामने आए हैं। राज्य स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, राज्य में रविवार को कोरोना के 63,294 नए पॉजिटिव केस सामने आए, जो अभी तक के एक दिन में मिलने वाले मामलों की सर्वाधिक संख्या है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: April 11, 2021 23:28 IST
महाराष्ट्र में कोरोना 'बम फटा', 63294 नए केस मिले, 14 अप्रैल के बाद होगा लॉकडाउन पर फैसला- India TV Hindi
Image Source : PTI महाराष्ट्र में कोरोना 'बम फटा', 63294 नए केस मिले, 14 अप्रैल के बाद होगा लॉकडाउन पर फैसला

मुंबई: महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में सबसे ज्यादा नए केस सामने आए हैं। राज्य स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, राज्य में रविवार को कोरोना के 63,294 नए पॉजिटिव केस सामने आए, जो अभी तक के एक दिन में मिलने वाले मामलों की सर्वाधिक संख्या है। इसके साथ ही महाराष्ट्र में कोरोना के कुल पॉजिटिव मिले मामलों की संख्या 34,07,245 हो गई।

रविवार को स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण 349 मरीजों की मौत हो गई, जिसके साथ ही राज्य में कोरोना से मरने वालों की कुल संख्या संख्या 57,987 हो गई। महाराष्ट्र में रविवार को कुल 34,008 मरीजों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया। राज्य में अब तक डिस्चार्ज होने वालों की कुल संख्या 27,82,161 हो गई है।

  
वहीं, मुंबई में इस दौरान कोरोना के 9,989 नए केस सामने आए हैं। इसी के साथ मुंबई में मिले कुल कोरोना पाजिटिव मामलों की संख्या बढ़कर 5,20,498 हो गई है। मुंबई में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना से 58 मौतें हुई। यहां अभी तक संक्रमण से कुल 12,023 मरीजों की मौत हो चुकी है।

महाराष्ट्र में 14 अप्रैल के बाद लॉकडाउन पर उचित फैसला: राजेश टोपे

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने रविवार को कहा कि प्रदेश में लॉकडाउन लगाने के संदर्भ में उचित फैसला 14 अप्रैल के बाद लिया जाएगा। वायरस की कड़ी तोड़ने के लिये मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में हुई कार्य बल की डिजिटल बैठक में लॉकडाउन लगाने समेत विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई। बैठक के बाद टोपे संवाददाताओं को जानकारी दे रहे थे। 

मंत्री ने कहा, “आज की बैठक में लॉकडाउन की अवधि और इससे होने वाली आर्थिक गिरावट से कैसे निपटना है, इस पर चर्चा हुई। कार्य बल का यह मानना है कि राज्य में कोरोना वायरस के हालात ऐसे हैं कि लॉकडाउन की जरूरत है।” 

मुख्यमंत्री कार्यालय के एक ट्वीट में कहा गया, “प्रदेश कार्य बल के साथ एक बैठक में मुख्यमंत्री ने ऑक्सीजन व बिस्तरों की उपलब्धता, रेमडेसिविर के इस्तेमाल, उपचार के नियमों, उपलब्ध केंद्रों की क्षमता बढ़ाने, कोविड नियमों के उल्लंघन पर पाबंदियां और जुर्माना लगाने पर चर्चा की।” 

बैठक में राज्य के चिकित्सा शिक्षा मंत्री अमित देशमुख, मुख्य सचिव सीताराम कुंटे और अन्य लोगों ने हिस्सा लिया। ठाकरे का सोमवार को वित्त और अन्य सरकारी विभागों से परामर्श करने का कार्यक्रम है और इस हफ्ते, बाद में मंत्रिमंडल की बैठक में भी चर्चा होगी। 

टोपे ने कहा कि कार्य बल की बैठक के दौरान राज्य में ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र स्थापित करने पर भी चर्चा हुई। ठाकरे ने प्रदेश में कोविड-19 मामलों के तेजी से बढ़ने की भयावह स्थिति को देखते हुए शनिवार को सख्त लॉकडाउन लगाने के संकेत दिये थे। 

उन्होंने राज्य में कोविड-19 की स्थिति पर चर्चा के लिये सर्वदलीय डिजिटल बैठक बुलाई थी। प्रदेश सरकार ने पिछले हफ्ते कुछ पाबंदियों की घोषणा की थी जिनमें सप्ताहांत पर लॉकडाउन, रात्रि कर्फ्यू और दिन में निषेधाज्ञा शामिल हैं। ये पाबंदियां 30 अप्रैल तक जारी रहेंगी।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। महाराष्ट्र में कोरोना 'बम फटा', 63294 नए केस मिले, 14 अप्रैल के बाद होगा लॉकडाउन पर फैसला News in Hindi के लिए क्लिक करें महाराष्ट्र सेक्‍शन
Write a comment
X