1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. चीनी सरकार ने कसा जैक मा पर शिकंजा, मीडिया कारोबार को बेचने का दिया आदेश

चीनी सरकार ने कसा जैक मा पर शिकंजा, मीडिया कारोबार को बेचने का दिया आदेश

अलीबाबा ने सरकारी मीडिया जैसे समाचार एजेंसी सिन्हुआ और झेजियांग और सिचुआन प्रांतों में स्थानीय सरकार द्वारा संचालित समाचार पत्रों के समूह के साथ संयुक्त उद्यम या साझेदारी भी स्थापित की है।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Updated on: March 16, 2021 13:36 IST
अलीबाबा ने सरकारी मीडिया जैसे समाचार एजेंसी सिन्हुआ और झेजियांग और सिचुआन प्रांतों में स्थानीय सरकार- India TV Hindi News
Photo:BLOOMBERGS

China Govt Presses Alibaba to Sell Media Business

बीजिंग/नई दिल्‍ली। अरबपति कारोबारी जैक मा (Jack Ma) के साम्राज्य के खिलाफ अपनी लड़ाई को एक नए स्तर पर ले जाते हुए चीन सरकार ने कथित तौर पर इसके समूह अलीबाबा (Alibaba) को अपनी मीडिया परिसंपत्तियों को बेचने का आदेश दिया है। द वॉल स्ट्रीट जर्नल की रिपोर्ट में इस मामले से संबंध रखने वाले लोगों का हवाला देते हुए बताया गया कि चीनी अधिकारी देश में जनता के बीच दिग्गज प्रौद्योगिकी कंपनी के प्रभाव को लेकर चिंतित हैं।

अलीबाबा ने साउथ चाइना मॉर्निग पोस्ट का पिछले साल अधिग्रहण कर मीडिया क्षेत्र में अपने कदम आगे बढ़ाए थे। यह एक ऐसा समाचार पत्र है, जिसे 118 साल पहले हांगकांग में लॉन्च किया गया था। कंपनी के पास चीन में उल्लेखनीय मीडिया होल्डिंग्स भी हैं, जिसमें प्रौद्योगिकी समाचार साइट 36केआर, स्टेट के स्वामित्व वाले शंघाई मीडिया समूह, ट्विटर-जैसे वीबो प्लेटफॉर्म में हिस्‍सेदारी और कई लोकप्रिय चीनी डिजिटल और प्रिंट समाचार आउटलेट शामिल हैं।

रिपोर्ट में कहा गया कि अलीबाबा ने सरकारी मीडिया जैसे समाचार एजेंसी सिन्हुआ और झेजियांग और सिचुआन प्रांतों में स्थानीय सरकार द्वारा संचालित समाचार पत्रों के समूह के साथ संयुक्त उद्यम या साझेदारी भी स्थापित की है। डब्ल्यूएसजे की रिपोर्ट के अनुसार, चीनी नियामक अलीबाबा के मीडिया के इंट्रेस्ट में विस्तार को लेकर चिंतित है और कंपनी को अपनी मीडिया होल्डिंग्स पर काफी हद तक अंकुश लगाने के लिए योजना के साथ आने के लिए कहा है। सरकार ने यह नहीं बताया कि किन परिसंपत्तियों को हटाना होगा।

अलीबाबा द्वारा रिपोर्ट पर प्रतिक्रिया देना बाकी है। सार्वजनिक रूप से सूचीबद्ध कंपनियों में अलीबाबा की हिस्सेदारी का संयुक्त बाजार मूल्य 8 अरब डॉलर से अधिक है। रिपोर्ट में कहा गया है, वीबो कॉर्प में लगभग 3.5 अरब की हिस्सेदारी और बिलिबिली इंक में लगभग 2.6 अरब की हिस्सेदारी शामिल है, एक ऐसा वीडियो प्लेटफॉर्म है जो युवा चीनियों के बीच खासा लोकप्रिय है। चीनी सरकार को इस बात की चिंता है कि अलीबाबा अपनी मीडिया संपत्ति का इस्‍तेमाल एक ऐसे टूल के रूप में कर सकता है, जिससे जनता की राय को नियंत्रित किया जा सके।

यह भी पढ़ें: SBI के साथ खोलें कमाई वाला अकाउंट, मिलेगा 1350 रुपये का तुरंत फायदा

यह भी पढ़ें: Tata की इस कंपनी में अपनी हिस्‍सेदारी बेच रही है सरकार...

यह भी पढ़ें: बड़ी खबर: सरकार ने लगाई 2,000 रुपये के नोट की छपाई पर रोक....

यह भी पढ़ें: OMG! पेट्रोल-डीजल का रेट 6 रुपये/लीटर तक बढ़ाने की तैयारी ...

यह भी पढ़ें: Kia ने पेश किया अपनी नई कार का मॉडल, अगले महीने होगी लॉन्‍च

Latest Business News

Write a comment