1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. स्वस्थ जीवनशैली के लिए हर कामकाजी महिलाओं को अपने आहार में बादाम को शामिल करना चाहिए

स्वस्थ जीवनशैली के लिए हर कामकाजी महिलाओं को अपने आहार में बादाम को शामिल करना चाहिए

इस वैश्विक स्तर पर चर्चा में स्टूडियो एस्थेटिक की प्रबंध निदेशक एवं प्रख्यात अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा की मदर मधु चोपड़ा, पोषण विशेषज्ञ शीला कृष्णास्वामी और आहार सलाहकार माधुरी रुइया ने इस महत्तवपूर्ण विषय पर चर्चा में भाग लिया।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: July 25, 2019 23:12 IST
every working women should include almonds in their diet...- India TV Paisa

every working women should include almonds in their diet for a healthy lifestyle

कैलिफोर्निया के बादाम बोर्ड ने गुरुवार को नई दिल्ली में ''वर्किंग मदर और उसके परिवार की सेहत को बनाए रखने की दुविधा को सुनिश्चित करने'' नामक एक पैनल चर्चा की मेजबानी की। कामकाजी माताओं की जरूरतों का विश्लेषण करते हुए यह चर्चा उन चुनौतियों पर केंद्रित थी कि जो माताएं काम करने में न केवल अपने परिवार के लिए बल्कि अपने स्वयं के लिए भी एक समृद्ध जीवन शैली को बनाए रखने का सामना करती है।

आजकल की तेज भागती जिंदगी में महिलाएं कई तरह के किरदान जैसे मां, पत्नी, देखभालकर्ता, बहन, बहु और एक श्रेष्ठ सहयोगी की भूमिका निभा रही है। यहां मौजूद पैनलिस्टों ने कई छोटे और प्रासंगिक बदलावों पर प्रकाश डाला जिसे कामकाजी महिलाएं अपनी दैनिक जीवन शैली और अपने परिवार की जीवन शैली में सहजता के साथ शामिल कर सकती हैं जिससे सकारात्मक परिणामों को सुनिश्चित हो सकें।

इस वैश्विक स्तर पर चर्चा में स्टूडियो एस्थेटिक की प्रबंध निदेशक एवं प्रख्यात अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा की मदर मधु चोपड़ा, पोषण विशेषज्ञ शीला कृष्णास्वामी और आहार सलाहकार माधुरी रुइया ने इस महत्तवपूर्ण विषय पर चर्चा में भाग लिया और कहा कि कामकाजी महिला सेहतमंद होगी तभी वह परिवार और परिजनों को तंदुरुस्त रखने में मदद कर पाऐंगी।

डॉ मधु चोपड़ा ने कहा कामकाजी माँ इन दिनों भारत भर में अधिकांश परिवारों के लिए बहुत सारी ज़िम्मेदारी निभाती हैं। माँ एक प्राथमिक देखभालकर्ता है जिसे परिवार के समग्र स्वास्थ्य को सुनिश्चित करना है। काम पर लंबे दिनों का प्रबंधन करते समय, एक कामकाजी माँ के लिए यह महत्वपूर्ण हो जाता है कि वह अपने स्वास्थ्य, नींद और आहार की देखभाल में पर्याप्त समय व्यतीत करे। किसी भी कामकाजी माँ के जीवन में स्वास्थ्य की दैनिक खुराक को जोड़ने का एक शानदार तरीका है कि रोजाना आहार में एक मुठ्ठी बादाम को शामिल करे। अपने परिवार को सुबह बादाम का सेवन एक दैनिक आदत बनाएं।

आहार सलाहकार माधुरी रुइया ने कहा कि अपने बच्चों, पति और परिवार में सभी सदस्यों और कामकाज के दबाव के बीच अपने स्वास्थय को भूल जाना आसान है। यदि समय पर जांच नहीं की और लंबे समय तक इसपर ध्यान नही दिया जाए तो थकावट, चिड़चिड़ापन और यहां तक कि बड़े नकारात्मक स्वास्थ्य परिणाम हो सकते हैं। संतुलित आहार और नियमित व्यायाम शहर में रहने वाली युवा कामकाजी, माँ को स्वस्थ रखने में सहायता करता है। बादाम आपको उर्जा का एक अहम स्रोत हैं। जो उर्जावान रखने में मदद करता हैं और विटामिन ई, कैल्शियम, अच्छी वसा, फाइबर और संयंत्र प्रोटीन जैसे कई आवश्यक पोषक तत्वों का एक प्राकृतिक स्रोत हैं जो अच्छा स्वास्थ्य बनाए रखने में मदद करते हैं।

पोषण विशेषज्ञ शीला कृष्णास्वामी ने कहा कि जैसा कि अधिक महिलाएं भारत में कामकाज में शामिल हैं, वह माताएं अपने परिवार के स्वास्थ्य और भलाई को सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त नहीं कर रही हैं। मैं हमेशा कई कामकाजी माताओं को सलाह देती हूं कि वह परिवार द्वारा खाएं जाने वाले नाशते के बारे में ज्यादा सचेत रहे। स्वस्थ नाशता ना केवल भूख को मिटाने का काम करता है बलकि वहआपके परिवार के  स्वास्थ्य  के लिए एक अधिक पौष्टिक विकल्प साबित करने में मदद करता है

आपको बता दें कि कैलिफोर्निया के बादाम एक प्राकृतिक और गुणवत्तापूर्ण चीज है। कैलिफोर्निया बादाम बोर्ड अपने रिचार्ज के माध्यम से बादाम को बढ़ावा देते है, जो खेती और उत्पादन को चिह्नित करने के सभी पहलुओं पर आधारित है।

Write a comment
coronavirus
X