1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. भूल जाइए सस्ता सिलेंडर! सरकार अब सिर्फ इन 9 करोड़ लोगों को ही देगी LPG सब्सिडी का फायदा

भूल जाइए सस्ता सिलेंडर! सरकार अब सिर्फ इन 9 करोड़ लोगों को ही देगी LPG सब्सिडी का फायदा

कोविड के शुरुआती दिनों से एलपीजी उपयोगकर्ताओं के लिए कोई सब्सिडी नहीं थी। तब से केवल वही सब्सिडी है जो अब उज्ज्वला लाभार्थियों के लिए पेश की गई थी

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Updated on: June 02, 2022 19:33 IST
LPG- India TV Hindi News
Photo:FILE

LPG

Highlights

  • LPG सब्सिडी का फायदा आम ग्राहकों को नहीं दिया जाएगा
  • सब्सिडी का लाभ सिर्फ उज्ज्वला योजना के तहत मुफ्त कनेक्शन पाने वाली महिलाओं को
  • सरकार ने जून 2010 में पेट्रोल पर और नवंबर 2014 में डीजल पर सब्सिडी समाप्त की थी

LPG पर सब्सिडी का इंतजार कर रहे ग्राहकों के लिए बुरी खबर है। सरकार ने साफ कर दिया है कि LPG सब्सिडी का फायदा आम ग्राहकों को नहीं दिया जाएगा। हाल ही में वित्तमंत्री द्वार घोषित 200 रुपये की सब्सिडी का लाभ सिर्फ उज्ज्वला योजना के तहत मुफ्त कनेक्शन पाने वाली 9 करोड़ गरीब महिलाओं और अन्य लाभार्थियों को मिलेगा। अन्य ग्राहकों को बाजार मूल्य पर LPG का भुगतान करना होगा।

जून 2020 से बंद है सब्सिडी

तेल सचिव पंकज जैन ने एक समाचार ब्रीफिंग में कहा कि जून 2020 से रसोई गैस पर कोई सब्सिडी नहीं दी जाती है और केवल वही सब्सिडी प्रदान की जाती है जिसकी घोषणा वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 21 मई को की थी। उन्होंने कहा, "कोविड के शुरुआती दिनों से एलपीजी उपयोगकर्ताओं के लिए कोई सब्सिडी नहीं थी। तब से केवल वही सब्सिडी है जो अब उज्ज्वला लाभार्थियों के लिए पेश की गई थी," 

LPG

Image Source : FILE
LPG

सब्सिडी बंद करने के बाद से 410 रुपये महंगा सिलेंडर 

सब्सिडी बंद होना आम आदमी के लिए दोहरे झटके के जैसा रहा है। सरकार ने खुद ही माना है कि उसने जून 2020 से सब्सिडी नहीं दी है। लेकिन उसके बाद से एलपीजी की कीमतों में जबर्दस्त इजाफा हो चुका है। जून 2020 में एलपीजी की कीमतें 593 रुपये थीं जो बढ़कर आज 1003 रुपये हो चुकी हैं। इस प्रकार सब्सिडी बंद होने के बाद से कीमतें 410 रुपये बढ़ चुकी हैं। 

1 साल में बेतहाशा बढ़ी हैं कीमतें 

सरकार ने फिलहाल देश में करीब 30.5 करोड़ एलपीजी कनेक्शन हैं। इसमें से 9 करोड़ पीएम उज्ज्वला योजना के तहत मुहैया कराए गए हैं। बीते एक साल से गैर-सब्सिडी या बाजार मूल्य एलपीजी की कीमतें बेतहाशा बढ़ी हैं। अक्टूबर 2021 से जहां गैस सिलेंडर की कीमतों 103.50 रुपये प्रति 14.2 किलोग्राम सिलेंडर की बढ़ोत्तरी हो चुकी है। वहीं बीते एक साल में सिलेंडर के दाम 200 रुपये बढ़ गए हैं। जून 2021 में 14.2 किलो के एलपीजी सिलेंडर की कीमत 809 रुपये थी। अगले चार महीनों में इसकी कीमतों में करीब 90 रुपये की बढ़ोतरी की गई। मार्च में कीमतों में 50 रुपये प्रति सिलेंडर की बढ़ोतरी की गई और फिर मई में कीमतों में 3.50 रुपये की बढ़ोतरी हुई।

सिर्फ 12 रीफिल पर 200 रुपये की सब्सिडी 

सीतारमण ने पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क में रिकॉर्ड 8 रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 6 रुपये की कटौती की घोषणा करते हुए कहा था कि उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को एक वर्ष में 12 रीफिल के लिए 200 रुपये प्रति सिलेंडर सब्सिडी मिलेगी। जिससे रसोई गैस के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचने से पैदा हुआ बोझ कुछ कम करने में मदद मिलेगी। 

उज्जवला लाभार्थियों को कितने में सिलेंडर

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 14.2 किलोग्राम के एलपीजी सिलेंडर की कीमत 1,003 रुपये है। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को सीधे उनके बैंक खाते में 200 रुपये की सब्सिडी मिलेगी और उनके लिए प्रभावी मूल्य 803 रुपये प्रति 14.2 किलोग्राम सिलेंडर होगा। बाकी के लिए दिल्ली में इसकी कीमत 1,003 रुपये होगी। 

पहले पेट्रोल और डीजल अब एलपीजी 

सरकार ने जून 2010 में पेट्रोल पर और नवंबर 2014 में डीजल पर सब्सिडी समाप्त कर दी। कुछ साल बाद केरोसिन पर सब्सिडी समाप्त हो गई। और अब अधिकांश के लिए एलपीजी पर सब्सिडी प्रभावी रूप से समाप्त कर दी गई है। हालांकि, पेट्रोल, डीजल और मिट्टी के तेल के विपरीत, सब्सिडी को समाप्त करने का कोई औपचारिक आदेश नहीं है।

Latest Business News

Write a comment