1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. भारी उतार-चढ़ाव के बाद सेंसेक्स 23 अंक बढ़कर 30857 पर बंद, जेपी एसोसिएट्स समेत चुनिंदा शेयर 14% चढ़े

भारी उतार-चढ़ाव के बाद सेंसेक्स 23 अंक बढ़कर 30857 पर बंद, जेपी एसोसिएट्स समेत चुनिंदा शेयर 14% चढ़े

सेंसेक्स 23 अंक की तेजी के साथ 30857 के स्तर पर और NSE का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 13 अंक बढ़कर 9504 के स्तर पर बंद हुआ।

Ankit Tyagi Ankit Tyagi
Updated on: June 29, 2017 16:00 IST
भारी उतार-चढ़ाव के बाद सेंसेक्स 23 अंक बढ़कर 30857 पर बंद, जेपी एसोसिएट्स समेत चुनिंदा शेयर 14% चढ़े- India TV Paisa
भारी उतार-चढ़ाव के बाद सेंसेक्स 23 अंक बढ़कर 30857 पर बंद, जेपी एसोसिएट्स समेत चुनिंदा शेयर 14% चढ़े

नई दिल्ली। गुरुवार के सत्र में घरेलू शेयर बाजार भारी उतार-चढ़ाव दिखाने के बाद मामूली तेजी के साथ बंद हुआ है। हालांकि, एक समय सेंसेक्स और निफ्टी दोनों आधा फीसदी से ज्यादा तेजी के साथ कारोबार कर रहे थे, लेकिन अंत में पीएसयू बैंकिंग, ऑटो और फार्मा शेयरों में तेज मुनाफावसूली के चलते बाजार मामूली तेजी के साथ बंद हुए।। अंत में BSE का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 23 अंक की तेजी के साथ 30857 के स्तर पर और NSE का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 13 अंक बढ़कर 9504 के स्तर पर बंद हुआ।आपको बता दें कि दिन के कारोबार के दैरान ऊपर में निफ्टी ने 9575.80 तक दस्तक दी थी, जबकि सेंसेक्स 31097.92 तक पहुंचा था। हालांकि, जब मुनाफावसूली हावी हुई तब निफ्टी 9493.80 तक लुढ़क गया था, तो सेंसेक्स ने 30794.61 तक गोता लगाया था।  यह भी पढ़े: यह भी पढ़े: एडवांस्ड सिक्यॉरिटी फीचर्स के साथ बाजार में जल्द आएगा 200 रुपए का नोट, RBI ने शुरू की प्रिंटिंग!

 14% तक चढ़े ये शेयर

मिडकैप शेयरों में जयप्रकाश एसोसिएट्स, रिलायंस कम्युनिकेशंस, जेएसडब्ल्यू स्टील, बैंक ऑफ इंडिया और वॉकहार्ट 13.6-3.3 फीसदी तक उछलकर बंद हुए हैं। स्मॉलकैप शेयरों में वेंकीज, केयर, ट्रांसपोर्ट कॉर्प, शॉपर्स स्टॉप और राय साहेब मिल्स 13.3-9.8 फीसदी तक मजबूत होकर बंद हुए हैं।

आखिरी आधे घंटे में हावी हुई मुनाफावसूली

जून वायदा सीरीज की एक्सपायरी के दिन शेयर बाजार में तेज उठापटक नजर आया। खासकर अंतिम आधे घंटे में आज बाजार में जोरदार मुनाफासवूली देखने को मिली। ऊपरी स्तरों से सेंसेक्स करीब 250 अंक टूट गया। जैसे तैसे निफ्टी 9500 के ऊपर बंद होने में कामयाब रहा। एक्सपायरी के चलते भी बाजार में काफी उतार-चढ़ाव देखने को मिला। बाजार में सबसे ज्यादा दबाव बनाया सरकारी बैंकों और फार्मा शेयरों ने। कमजोर बाजार में मेटल शेयरों की चमक बरकरार रही। बाजार में 14 लाख करोड़ का रिकॉर्ड टर्नओवर देखने को मिला।

बाजार की अब GST को लेकर चिंताएं हो रही है अब खत्म  

एवेंडस कैपिटल के सीईओ, वैभव सांघवी का कहना है कि बाजार के लिए अच्छी बात ये है कि 9500-9700 के दायरे में कंसोलिडेशन देखने को मिल रहा है। दरअसल एक जोरदार तेजी के दौर के बाद ऊपरी स्तरों पर कंसोलिडेशन बेहतर संकेत की ओर इशारा कर रहे हैं। बाजार के लिहाज से एक अच्छी बात और ये है कि जीएसटी को लेकर बनी चिंता से घबराहट का माहौल अब लगभग खत्म होता नजर आ रहा है।यह भी पढ़े: Big News: 7वें वेतन आयोग की भत्‍तों पर सिफारिशों को सरकार ने दी मंजूरी, 47 लाख कर्मचारियों को होगा फायदा

वैभव सांघवी के मुताबिक वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में कंपनियों के नतीजों से कोई खास उम्मीद नहीं है। हालांकि, बाजार की नजर जीएसटी लागू होने के बाद कंपनियों के नतीजे कैसे रहते हैं इस पर जरूर बनी रहेगी। वित्त वर्ष 2018 में कंपनियों के नतीजों में ज्यादा ग्रोथ संभव नहीं है। जीएसटी के बाद कंपनियों के तिमाही नतीजों पर असर देखने को मिल सकता है। इस तरह जीएसटी लागू होने के बाद पूरी तरह हालात पटरी पर आने में कम से कम 2 तिमाही का समय लग सकता है।यह भी पढ़े: HSBC ब्‍लैकमनी लिस्‍ट पर देश में हुई पहली कार्रवाई, ED ने जब्‍त किए चेन्‍नई के बिजनेसमैन के 1.59 करोड़ रुपए

अब क्या करें निवेशक

वैभव सांघवी का कहना है कि मॉनसून की बेहतर चाल और इकोनॉमी में ग्रोथ से ऑटो, पेंट्स और कंज्यूमर सेक्टर को काफी फायदा होगा। खासकर लंबी अवधि में इन सेक्टर में अच्छी ग्रोथ देखने को मिल सकती है। एफएमसीजी और कंज्यूमर ड्युरेबल्स सेक्टर में भी बेहतर ग्रोथ की उम्मीद है। प्राइवेट बैंक शेयरों पर भी पॉजिटिव नजरिया है। एनबीएफसी में हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों में अच्छी तेजी संभव है। यह भी पढ़े:जुलाई से सिर्फ GST ही नहीं बल्कि बदल जाएंगी ये व्‍यवस्‍थाएं, इन कामों के लिए अनिवार्य होगा आधार कार्ड

वैभव सांघवी का ये भी कहना है कि ग्रामीण इकोनॉमी पर आधारित एग्रो केमिकल्स और इरीगेशन से जुड़ी कंपनियों में अच्छी ग्रोथ मुमकिन है। हालांकि हालात बेहतर करने के लिए जो सुधार की प्रक्रिया चल रही है वो जब तक पूरी नहीं हो जाती तब तक पीएसयू बैंकों से दूर ही रहने की सलाह होगी।

विदेशी ब्रोकरेज हाउसेज ने बढ़ाया इन शेयरों का लक्ष्य

आयशर मोटर्स

HSBC ने आयशर मोटर्स पर लक्ष्य 26,400 रुपए से बढ़ाकर 30,500 रुपए प्रति शेयर का तय किया है।

अल्ट्राटेक सीमेंट
CLSA ने अल्ट्राटेक पर आउटपरफॉर्म रेटिंग बरकरार रखते हुए लक्ष्य 4575 रुपए प्रति शेयर का तय किया है। जेफरीज ने अल्ट्राटेक में बने रहने की सलाह दी है और लक्ष्य 3349 रुपये से बढ़ाकर 3585 रुपए का तय किया है।

टाटा मोटर्स
HSBC ने टाटा मोटर्स पर निवेश की सलाह कायम रखते हुए लक्ष्य 550 रुपए प्रति शेयर का तय किया है।

वेदांता
क्रेडिट सुइस ने वेदांता पर आउटपरफॉर्म रेटिंग बरकरार रखते हुए लक्ष्य 290 रुपए प्रति शेयर का तय किया है।

हिंडाल्को
क्रेडिट सुइस ने हिंडाल्को पर आउटपरफॉर्म रेटिंग बरकरार रखते हुए लक्ष्य 240 रुपए प्रति शेयर का तय किया है।

chunav manch
Write a comment
chunav manch
bigg-boss-13