1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. अमेरिका-चीन के बीच व्‍यापार वार्ता पर सहमति बनते देख सेंसेक्स 428 अंक उछलकर पहुंचा 41,009 पर, निफ्टी 12,100 के पार

अमेरिका-चीन के बीच व्‍यापार वार्ता पर सहमति बनते देख सेंसेक्स 428 अंक उछलकर पहुंचा 41,009 पर, निफ्टी 12,100 के पार

ट्रंप प्रशासन और चीन एक छोटे व्यापार करार को अंतिम रूप देने की प्रक्रिया में हैं जिससे रविवार से लगने वाले शुल्क स्थगित हो जाएंगे।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: December 13, 2019 16:30 IST
Sensex zooms 428 pts; Nifty ends near 12,100- India TV Paisa
Photo:SENSEX ZOOMS 428 PTS; NIF

Sensex zooms 428 pts; Nifty ends near 12,100

नई दिल्‍ली। अमेरिका-चीन व्यापार करार को लेकर उम्मीद और ब्रिटेन के आम चुनाव में बोरिस जॉनसन की जीत के बीच शुक्रवार को बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 428 अंक की छलांग लगा गया। वैश्विक बाजारों में जोरदार बढ़त से यहां भी धारणा को बल मिला। बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 41,055.80 अंक के उच्चस्तर को छूने के बाद 428 अंक या 1.05 प्रतिशत की बढ़त के साथ 41,009.71 अंक पर बंद हुआ।

इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 114.90 अंक या 0.96 प्रतिशत की बढ़त के साथ 12,086.70 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की कंपनियों में एक्सिस बैंक का शेयर सबसे अधिक 4.21 प्रतिशत चढ़ गया। वेदांता में 3.75 प्रतिशत, एसबीआई में 3.39 प्रतिशत, मारुति में 3.20 प्रतिशत, इंडसइंड बैंक में 3.07 प्रतिशत और येस बैंक में 2.87 प्रतिशत का लाभ रहा।

वहीं दूसरी ओर भारती एयरटेल का शेयर 1.98 प्रतिशत टूट गया। कोटक बैंक में 1.38 प्रतिशत, बजाज ऑटो में 0.88 प्रतिशत, एशियन पेंट्स में 0.31 प्रतिशत, एचडीएफसी बैंक में 0.05 प्रतिशत और हिंदुस्तान यूनिलीवर में 0.03 प्रतिशत का नुकसान रहा। कारोबारियों ने कहा कि अमेरिका-चीन व्यापार करार के पहले चरण के पूरा होने की खबरों तथा ब्रिटेन के प्रधानमंत्री जॉनसन की आम चुनाव में जीत से निवेशक उत्साहित हैं।

ट्रंप प्रशासन और चीन एक छोटे व्यापार करार को अंतिम रूप देने की प्रक्रिया में हैं जिससे रविवार से लगने वाले शुल्क स्थगित हो जाएंगे। इससे दोनों देशों के बीच 17 माह से जारी व्यापार युद्ध कुछ ठंडा पड़ेगा। आनंद राठी एंड स्टॉक ब्रोकर्स के प्रमुख बुनियादी अनुसंधान (निवेश सेवाएं)-एवीपी इक्विटी शोध नरेंद्र सोलंकी ने कहा कि अमेरिका-चीन व्यापार करार की खबरों के बाद भारतीय शेयर बाजारों ने गुरुवार को आए ऊंची मुद्रास्फीति तथा औद्योगिक उत्पादन में गिरावट के आंकड़ों को नजरअंदाज किया और सकारात्मक रुख के साथ बंद हुए।

नवंबर में खुदरा मुद्रास्फीति बढ़कर 5.54 प्रतिशत पर पहुंच गई है जो इसका तीन साल का उच्चस्तर है। इसी तरह अक्टूबर में औद्योगिक उत्पादन में 3.8 प्रतिशत की गिरावट आई। यह लगातार तीसरा महीना है जबकि औद्योगिक उत्पादन नीचे आया है। अन्य एशियाई बाजारों में चीन का शंघाई, हांगकांग का हैंगसेंग, दक्षिण कोरिया का कॉस्पी और जापान का निक्की 2.

57 प्रतिशत की बढ़त के साथ बंद हुए। इस बीच, अंतर बैंक विदेशी विनिमय बाजार में दिन में कारोबार के दौरान रुपया पांच पैसे की बढ़त के साथ 70.78 प्रति डॉलर पर चल रहा था। 

Write a comment
bigg-boss-13