1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. फायदे की खबर
  5. खुशखबरी: Indian Railways ने की बड़ी घोषणा, 3rd AC में यात्रा करने के लिए कम देना होगा किराया

खुशखबरी: Indian Railways ने की बड़ी घोषणा, 3rd AC में यात्रा करने के लिए कम देना होगा किराया

कोच में लगे इलेक्ट्रॉनिक सर्किट को हटा दिया गया है, जिससे इंजीनियर्स को अधिक बर्थ लगाने के लिए अतिरिक्त स्थान मिल गया है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: March 02, 2021 11:48 IST
indian railways IRCTC announced good news three tier ac coaches available at lowest fare for passeng- India TV Paisa
Photo:FILE PHOTO

indian railways IRCTC announced good news three tier ac coaches available at lowest fare for passengers

नई दिल्‍ली। 83 बर्थ वाले एसी कोच के सफल परीक्षण से उत्‍साहित भारतीय रेलवे (Indian Railways) अब अपने यात्रियों को भी उपहार देने की तैयारी में है। रेलवे बोर्ड (railway board) अब ऐसा प्रस्‍ताव तैयार कर रहा है, जिसमें 83 बर्थ एसी कोच का किराया मौजूदा थर्ड एसी कोच की तुलना में कम रखने की सिफारिश की गई है। उल्‍लेखनीय है कि भारतीय रेलवे ने सोमवार को 83 बर्थ वाले एसी कोच का ओसीलेशन परीक्षण कोटा-सवाई माधोपुर सेक्‍शन पर लोडेड कंडीशन में 180 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पर सफलता पूर्वक पूरा किया गया है।

लखनऊ स्थित रिसर्च डिजाइन एंड स्‍टैंडर्ड ऑर्गेनाइजेशन (RDSO) द्वारा डिजाइन और डेवलप किए गए और कपूरथला कोच फैक्‍ट्री में तैयार किए गए 83 बर्थ वाले नए एसी-3 टियर कोच का परीक्षण फरवरी के तीसरे हफ्ते से शुरू हो चुका है। इन कोच को लिंक हॉफमैन बुश (LHB) प्‍लेटफॉर्म पर डेवलप किया गया है।  

यह भी पढ़ें: घर खरीदने का इससे अच्‍छा मौका फ‍िर नहीं मिलेगा, SBI से भी सस्‍ता होम लोन दे रहा है ये बैंक

टाइम्‍स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक एक वरिष्‍ठ रेलवे अधिकारी के मुताबिक नए बनाए गए थर्ड एसी कोच में यात्रियों के लिए ज्‍यादा स्‍थान है, ऐसे में यह निर्णय लिया गया है कि इन नए थर्ड एसी कोच का किराया मौजूदा 72 बर्थ वाले थर्ड एसी कोच की तुलना में कम लेकिन स्‍लीपर कोच की तुलना में अधिक रखा जाए।

यह भी पढ़ें: 6,999 रुपये में लॉन्‍च हुआ 6000mAh बैटरी वाला स्‍मार्टफोन, फीचर्स किसी महंगे मोबाइल से कम नहीं

सोमवार को, रेल मंत्रालय ने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर एक शॉर्ट वीडियो क्लिप साझा की है, जिसमें कोच ओसीलेशन ट्रायल दिखाया गया है। कोटा-सवाई माधोपुर सेक्‍शन में लोडेड कंडीशन में यह कोच 180 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ता दिखाई दे रहा है।

रेलवे के एग्‍जीक्‍यूटिव डायरेक्‍टर, इंफोर्मेशन एंड पब्लिक रिलेशन, राजेश दत्‍त बाजपेयी ने कहा कि नए कोच को 83 बर्थ क्षमता के लिए डिजाइन किया गया है, जबकि मौजूदा कोच की क्षमता 72 बर्थ की है। कोच में लगे इलेक्‍ट्रॉनिक सर्किट को हटा दिया गया है, जिससे इंजीनियर्स को अधिक बर्थ लगाने के लिए अतिरिक्‍त स्‍थान मिल गया है।

यह भी पढ़ें: PM Kisan से ज्‍यादा KALIA स्‍कीम में मिलता है किसानों को पैसा, ब्‍याज मुक्‍त ऋण की भी है सुविधा

Write a comment
X