Navratri Upay: नवमी के दिन ये उपाय करने से माँ दुर्गा हरेंगी अपने भक्तों के सभी कष्ट, चारों तरफ से मिलेगा शुभ समाचार

Navratri Upay: आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए कुछ ऐसे उपाय जिन्हें अगर आप नवमी के दिन ये उपाय करते हैं तो इससे आपके जीवन की दिशा और दशा दोनों बदल जायेगी।

Written By : Acharya Indu Prakash Edited By : Poonam Yadav Updated on: October 03, 2022 16:45 IST
Navratri Upay- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV Navratri Upay

Highlights

  • आज आश्विन शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि और मंगलवार का दिन है
  • नवमी के दिन मां सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है
  • इनकी पूजा से व्यक्ति हर प्रकार की सिद्धि प्राप्त कर सकता है

Navratri Upay: आज आश्विन शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि और मंगलवार का दिन है। नवमी तिथि आज दोपहर 2 बजकर 20 मिनट तक रहेगी ।आज दोपहर पहले 11 बजकर 24 मिनट से अगली सुबह 8 बजकर 21 मिनट तक सुकर्मा योग रहेगा।सुकर्मा योग के दौरान किए गये कार्यों में किसी भी प्रकार की बाधा नहीं आती है, अपितु कार्य शुभ फलदायक होते हैं। विशेषकर की नई नौकरी ज्वाइन करने के लिये ये योग बड़ा ही शुभ होता है। आज नवरात्रि का नौंवा दिन है। इसे महानवमी के नाम से भी जाना जाता है। आज के दिन नौ दिवसीय नवरात्री पूजा सम्पूर्ण हो जायेगी। आज नवरात्रि के आखिरी दिन मां दुर्गा की नौवीं और अलौकिक शक्ति मां सिद्धिदात्री की पूजा की जायेगी। इनकी पूजा से व्यक्ति हर प्रकार की सिद्धि प्राप्त कर सकता है।

अगर आप अपनी सुख-सम्पदा में बढ़ोतरी करना चाहते हैं, तो आज के दिन आपको कमलगट्टे से हवन करना चाहिए। साथ ही दुर्गा सप्तशती में दिये देवी मां के इस विशेष मंत्र का जाप करना चाहिए - 

दुर्गे स्मृता हरसि भीतिमशेषजन्तोः
स्वस्थैः स्मृता मतिमतीव शुभां ददासि।
दारिद्र्यदुःखभयहारिणि का त्वदन्या
सर्वोपकारकरणाय सदाऽऽ‌र्द्रचित्ता॥ 

अगर आप अपने शत्रुओं से मुक्ति पाना चाहते हैं तो आज के दिन आपको पीली सरसों से हवन करना चाहिए। साथ ही सिद्ध कुंजिका स्तोत्र में दिये इस विशेष मंत्र का जाप करना चाहिए 
नमस्ते रुद्ररूपिण्यै नमस्ते मधुमर्दिनि ।
नमः कैटभहारिण्यै नमस्ते महिषार्दिनी ।।

अगर आप अपने किसी प्रोजेक्ट की सफलता सुनिश्चित करना चाहते हैं, तो आज के दिन आपको तिल से आहुति देकर हवन करना चाहिए। साथ ही सिद्ध कुंजिका स्तोत्र में दिये इस विशेष मंत्र का जाप करना चाहिए 
नमस्ते शुम्भ हन्त्रे च निशुंभ असुर घातिनि ।
जाग्रतं हि महादेवि जपं सिद्धं कुरुष्व मे ।।

अगर आप दूसरों के दिल में अपने लिए प्यार जगाना चाहते हैं। मान लीजिये आप अपने जीवनसाथी के दिल में अपने लिए प्यार जगाना चाहते हैं, आप अपने बॉस के मन में, किसी उच्चाधिकारी के मन में, अपने माता-पिता के मन, अपने बच्चों के मन में, अपने अध्यापक के मन में या किसी भी अन्य व्यक्ति के मन में अपने लिए प्यार जगाना चाहते हैं, तो आज के दिन आपको घी और शक्कर को मिलाकर, उससे हवन करना चाहिए। साथ ही सिद्ध कुंजिका स्तोत्र में दिये इस विशेष मंत्र का जाप करना चाहिए 
ऐंकारी सृष्टि रूपायै ह्रींकारी प्रतिपालिका ।
क्लींकारी कामरूपिण्यै बीजरूप नमोऽतुते ।।

अगर आप चाहते हैं कि आपका बच्चा पढ़ाई-लिखाई में हमेशा आगे रहे, उसकी बौद्धिक क्षमता अच्छी बनी रहे, तो बच्चों की माताओं को आज के दिन आपको दूध, चावल की खीर बनाकर, उससे हवन करना चाहिए। साथ ही सिद्ध कुंजिका स्तोत्र में दिये इस विशेष मंत्र का जाप करना चाहिए 
धां धीं धूं धूर्जटेः पत्नी वां वीं वूं वागधीश्वरी ।
क्रां क्रीं क्रूं कालिका देवि शां शीं शूं मे शुभं कुरू ।।

अगर आप किसी मुकदमे में अपनी जीत हासिल करना चाहते हैं, तो आज के दिन आपको नारियल के टुकड़ों से आहुति देकर हवन करना चाहिए। साथ ही सिद्ध कुंजिका स्तोत्र में दिये इस विशेष मंत्र का जाप करना चाहिए-
हुं हुं हुं कार रूपिण्यै जं जं जं जम्भनादिनी ।
भ्रां भ्रीं भू्रं भैरवी भद्रे भवान्यै ते नमो नमः ।।

अगर आप कोई महत्वपूर्ण राजनीतिक पद पाना चाहते हैं या राजनीति में अपनी पैठ जमाना चाहते हैं तो आज के दिन आप को मखानों की 51 आहुतियां देकर हवन करना चाहिए। साथ ही सिद्ध कुंजिका स्तोत्र में दिये इस विशेष मंत्र का जाप करना चाहिए 
अं कं चं टं तं पं यं शं वीं दुं ऐं वीं हं क्षं
धिजाग्रं धिजाग्रं त्रोटय त्रोटय दीप्तं कुरु कुरु स्वाहा ।।

अगर आप किसी बीमारी के प्रकोप से बचना चाहते हैं, तो आज महानवमी के दिन आपको धान के लावे की आहुति देनी चाहिए, यानी धान को भूनकर उससे अग्नि में आहुति देनी चाहिए और साथ ही दुर्गा सप्तशतीमें दिये देवी मां के इस महामारी नाश के विशेष मंत्र का जाप करना चाहिए 
जयन्ती मङ्गला काली भद्रकाली कपालिनी।
दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोऽस्तु ते॥

अगर आप जीवन में सुरक्षित रहना चाहते हैं या अपनी रक्षा को सुनिश्चित करना चाहते हैं, तो आज के दिन आपको जौ और गुग्गुल से हवन करना चाहिए। हवन के लिये आप जितनी मात्रा में जौ लें, उतनी ही मात्रा में गुग्गुल भी लें। दोनों की बराबर मात्रा में आहुति देनी चाहिए। हवन के साथ ही आपको दुर्गा सप्तशती में दिये इस विशेष मंत्र का जाप भी करना चाहिए। मंत्र है - 
शूलेन पाहि नो देवि पाहि खड्गेन चाम्बिके।
घण्टास्वनेन नः पाहि चापज्यानि स्वनेन च॥

अगर आप भुक्ति, मुक्ति पाना चाहते हैं या आप अपने काम में जीत हासिल करना चाहते हैं, अच्छा सौन्दर्य पाना चाहते हैं, यश-सम्मान पाना चाहते हैं और अपना कल्याण चाहते हैं, तो आज के दिन आपको मक्खन और मिश्री से हवन करना चाहिए। साथ ही दुर्गा सप्तशती में दिये देवी मां के इस विशेष मंत्र का जाप करना चाहिए 
विधेहि देवी कल्याणं विधेहि परमां श्रियम।
रूपं देहि जयं देहि यशो देहि द्विषो जहि।।

अगर आप चाहते हैं कि आपके सपने में देवी मां के दर्शन हो जाये और उन्हें अपनी सिद्धियों के बारे में या अपने किसी खास काम के बारे में पहले से पता चल जाये, तो आज के दिन आपको 51 बताशों से आहुति देकर हवन करना चाहिए। साथ ही देवी मां के इस विशेष मंत्र का जाप करना चाहिए
दुर्गे देवि नमस्तुभ्यं सर्वकामार्थ साधिके।
मम सिद्धिम सिद्धं वा स्वप्ने सर्वं प्रदर्शय।।
सर्वोपकारकरणाय सदाऽऽ‌र्द्रचित्ता॥ 

(आचार्य इंदु प्रकाश देश के जाने-माने ज्योतिषी हैं, जिन्हें वास्तु, सामुद्रिक शास्त्र और ज्योतिष शास्त्र का लंबा अनुभव है। इंडिया टीवी पर आप इन्हें हर सुबह 7.30 बजे भविष्यवाणी में देखते हैं)

Aaj Ka Panchang 4 October 2022: जानिए मंगलवार का पंचांग, राहुकाल, शुभ मुहूर्त और सूर्योदय-सूर्यास्त का समय

Maha Ashtami 2022: जब भक्त के बुलावे पर तुरंत पहुंची भवानी मां, टूट गया था राजा का घमंड

Dussehra 2022: दशहरा पर लें मां दुर्गा से विजयी होने का आशीर्वाद, जानें शुभ मुहूर्त और कथा

Neelkanth on Dussehra: विजयादशमी के दिन नीलकंठ पक्षी के दर्शन से चमकेगा भाग्य, जानिए क्या है महत्व

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Festivals News in Hindi के लिए क्लिक करें धर्म सेक्‍शन