1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. धर्म
  4. त्योहार
  5. Pakistan Ancient Temple: पाकिस्तान के 1200 साल पुराने मंदिर का होगा जीर्णोद्धार, गूंजेंगे जयकारे

Pakistan Ancient Temple: पाकिस्तान के 1200 साल पुराने मंदिर का होगा जीर्णोद्धार, गूंजेंगे जयकारे

Valmiki Temple In Pakistan: पाकिस्तान में कई प्राचीन हिंदू मंदिर हैं, इन्हीं में से एक लाहौर में स्थित वाल्मिकी मंदिर है। पाकिस्तान सरकार अब इस मंदिर का जीर्णोद्धार कराएगी।

Ritu Tripathi Written By: Ritu Tripathi @ritu_vishwanath
Updated on: August 06, 2022 8:15 IST
Pakistan valmiki Temple- India TV Hindi News
Image Source : TWITTER Pakistan valmiki Temple

Highlights

  • 1200 साल पुराना है पाकिस्तान का वाल्मिकी मंदिर
  • पाकिस्तान सरकार कराएगी जीर्णोद्धार

Lohore Pakistan Hindi Temple: 1947 में हुए बंटवारे से पहले पाकिस्तान नहीं था, सिर्फ भारत ही था। लेकिन बंटवारा हुआ तो जो हिस्सा पाकिस्तान बना उसमें कई हिंदू प्राचीन मंदिर भी उस हिस्से में चले गए। इनमें से कुछ मंदिर रख-रखाव की कमी और प्राकृतिक आपदाओं के कारण नष्ट हो गए तो अब कई प्राचीन मंदिर पाकिस्तान में आज भी मौजूद हैं। हालांकि यह भी देख-रेख की कमी में तकरीबन खंडहर जैसी हालत में पहुंच चुके हैं। लेकिन हिंदू धर्म के लोगों के लिए आज भी ये मंदिर आस्था का केंद्र हैं। अब एक ऐसे ही मंदिर का पाकिस्तान सरकार जीर्णोद्धार कराने वाली है। 

पाकिस्तान सरकार कराएगी जीर्णोद्धार

हम बात कर रहे हैं पाकिस्तान के लाहौर में स्थित वाल्मिकी मंदिर की, इस मंदिर का इतिहास 1200 साल पुराना है। अब इस पुरातन मंदिर को पाकिस्तान सरकार ने फिर से पूजा पाठ के लिए खोलने और इसका नवीनीकरण करने का फैसला लिया है। पाकिस्तान सरकार ने इस वाल्मिकी मंदिर के जीर्णोद्धार की घोषणा की है। घोषणा के समय ऐसा बताया गया कि इस मंदिर पर कई सालों से कुछ लोगों ने अवैध कब्जा जमा रखा था। 

Vastu Shastra: घर में सही दिशा में रखिए पानी, कभी नहीं आएगी कंगाली

लंबी लड़ाई के बाद मिला अधिकार 

पाकिस्तान के एक अखबार के अनुसार, पाकिस्तान सरकार ने वाल्मिकी के नवीनीकरण का ऐलान एक लंबी लड़ाई के बाद किया है। जैसा कि बताया गया कि इस मंदिर पर लोगों का अवैध कब्जा था, ऐसे में एक संगठन ने इसके लिए सरकार से लड़ाई की जिसके बाद मंदिर की देखभाल का जिम्मा संगठन को सौंपा गया है। हालांकि जीर्णोद्धार के पहले भी वाल्मिकी समाज के लोग ही इस मंदिर में दर्शन और पूजा करने जा सकते हैं। 

Chanakya Niti: ऐसे स्वभाव वाले व्यक्तियों से आज ही बना लें दूरी, वरना जिंदगी पर होगा पछतावा

लव ने की थी लाहौर की स्थापना

हिंदू धर्म की मान्यता के अनुसार आज पाकिस्तान के लाहौर के नाम से जाना जाने वाला शहर एक समय पुराने पंजाब की राजधानी था। जिसका असली नाम लवपुर था, क्योंकि इस शहर की स्थापना श्री राम और माता सीता के पुत्र लव ने की थी। लेकिन मुगलों के आक्रमण के बाद जैसे कई शहरों के नाम में परिवर्तन आया वैसे ही यह लवपुर भी लाहौर बन गया।