1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. खेल
  4. क्रिकेट
  5. पूर्व कोच गैरी कर्स्टन ने पढ़े विराट कोहली की तारीफ में कसीदे, कह दी यह बात

पूर्व कोच गैरी कर्स्टन ने पढ़े विराट कोहली की तारीफ में कसीदे, कह दी यह बात

कर्स्टन का कहना है कि विराट कोहली 2011 में संभावित रूप से एक महान खिलाड़ी थे। 

India TV Sports Desk India TV Sports Desk
Published on: May 29, 2020 9:45 IST
Former coach Gary Kirsten read in praise of Virat Kohli, said this thing- India TV Hindi
Image Source : GETTY IMAGES Former coach Gary Kirsten read in praise of Virat Kohli, said this thing

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कोच गैरी कर्स्टन ने टीम इंडिया के मौजूदा कप्तान विराट कोहली की तारीफ की है। कर्स्टन का कहना है कि विराट कोहली 2011 में संभावित रूप से एक महान खिलाड़ी थे। बता दें, कर्स्टन की कोचिंग में ही टीम इंडिया ने 28 साल का सूखा खत्म करते हुए 2011 में वनडे वर्ल्ड कप पर अपना कब्जा किया था। वर्ल्ड कप जीतने के 9 साल बाद कर्स्टन ने यादें ताजा की है।

कर्स्टन ने इसी के साथ सचिन तेंदुलकर की भी तारीफ की, उन्होंने कहा कि सचिन के मजबूत मूल्यों के कारण उनके साथ काम करना आसान था।

टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में कोहली और सचिन तेंदुलकर के बारे में बात करते हुए कर्स्टन ने कहा “सचिन (तेंदुलकर) के साथ काम करना आसान था क्योंकि उनके पास एक व्यक्ति के रूप में इतनी मजबूत मूल्य प्रणाली है। विराट (कोहली) 2011 में संभावित रूप से एक महान खिलाड़ी था और अब वह सबसे महान में से एक है।”

ये भी पढ़ें - वर्ल्ड कप 2015 में जब पाकिस्तानी खिलाड़ियों ने नहीं बल्कि उनके फैन्स ने की थी धवन की स्लेजिंग

वर्ल्ड कप 2011 में भारत ने श्रीलंका को फाइनल मुकाबले में महेंद्र सिंह धोनी के छक्के के साथ 6 विकेट से मात दी थी। इस वर्ल्ड कप के सफर के बारे में कर्स्टन ने बात करते हुए कहा “यह खिलाड़ियों के साथ एक शानदार यात्रा थी और विश्व कप की अच्छी यादें है। विश्व कप जीतने के लिए खिलाड़ियों से बहुत उम्मीदें थीं और उन्होंने इसे अच्छी तरह से संभाला।”

वहीं धोनी के रिटायरमेंट के बारे में कर्स्ट ने कहा "एमएस धोनी एक अविश्वसनीय क्रिकेटर है। इंटेलिजेंस, शांति, शक्ति, एथलेटिकिज्म, गति और एक मैच-विजेता उसे दूसरों से अलग खिलाड़ी बनता है और उसे आधुनिक युग के महानतम खिलाड़ियों में शामिल करते हैं।"

ये भी पढ़ें - धोनी है क्रिकेट के डॉन, जिन्हें पकड़ना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है - एस श्रीसंत

गैरी ने आगे कहा "उसने खेल को अपनी शर्तों पर छोड़ने का अधिकार अर्जित किया है और जब वह समय आएगा तो किसी को भी उस पर कुछ नहीं बोलना चाहिए।"

गैरी ने साउथ अफ्रीका के लिए वनडे और टेस्ट मैच खेलते हुए 14000 से अधिक रन बनाए हैं, लेकिन उनको लगता है कि कोचिग से ज्यादा क्रिकेट खेलना अधिक चुनौतीपूर्ण ता। गैरी ने कहा "खेलना ज्यादा चुनौतीपूर्ण था। मुझे भारतीय टीम की कोचिंग करना पसंद थी। यह मेरे जीवन के महान विशेषाधिकार में से एक था।"

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Cricket News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन
Write a comment

लाइव स्कोरकार्ड