Saturday, February 24, 2024
Advertisement

इजरायल-हमास युद्ध में जारी है भीषण संहार, गाजा में मृतकों संख्या पहुंची 17,700 के पार

इजरायल-हमास के बीच भीषण जंग थमने का नाम नहीं ले रही ऐसे में गाजा में मौतों का आंकड़ा भी बढ़ता जा रहा है। एक रिपोर्ट के अनुसार गाजा में मरने वालों की संख्या 17 हजार 700 का आंकड़ा पार कर चुकी है। मृतकों में भारी संख्या में महिलाएं और बच्चे शामिल हैं।

Dharmendra Kumar Mishra Edited By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Published on: December 10, 2023 11:27 IST
गाजा में इजरायली सेना का कहर।- India TV Hindi
Image Source : AP गाजा में इजरायली सेना का कहर।

गाजा में इजरायल और हमास के बीच भीषण नरसंहार का दौर जारी है। भारी संख्या में फिलिस्तीनी नागरिक भी मारे जा रहे हैं। युद्ध विराम के बाद से ही इजरायली सेना ने फिर से गाजा पर कहर बरपाना शुरू कर दिया है। इसमें सैकड़ों फिलिस्तीनी अब तक मारे गए हैं। आम फिलिस्तीनियों की मौत को लेकर अमेरिका ने भी चिंता जाहिर की है। एक रिपोर्ट के अनुसार इजरायल-हमास युद्ध के कारण गाजा में मारे गए लोगों की संख्या 17,700 को पार कर गई है, जिनमें करीब दो तिहाई संख्या महिलाओं और बच्चों की है। हमास नियंत्रित क्षेत्र में स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी।
 
इजरायल ने दक्षिणी गाजा पट्टी में शनिवार को हवाई हमले और गोलाबारी तेज कर दी। ये हमले अमेरिका द्वारा गाजा में मानवीय आधार पर तत्काल संघर्ष विराम की मांग करने वाले संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव के खिलाफ वीटो का इस्तेमाल करने के एक दिन बाद हुए, जबकि इसे सुरक्षा परिषद के अधिकांश सदस्यों और कई अन्य देशों का समर्थन प्राप्त था। कुल 15 सदस्यीय परिषद में प्रस्ताव के पक्ष में 13 और विरोध में एक मत पड़ा जबकि ब्रिटेन अनुपस्थित रहा। इजराइल ने कहा कि सात अक्टूबर को इजराइल पर हमास के हमले के बाद जमीनी कार्रवाई में उसके 97 सैनिक मारे गए हैं। हमास के सात अक्टूबर के हमले में करीब 1,200 लोगों की मौत हुई थी, जिनमें ज्यादातर आम नागरिक थे और उसने 240 लोगों को बंधक बना लिया था।
 

हूती विद्रोहियों ने दी नई धमकी

यमन में ईरान समर्थित हूती विद्रोहियों ने धमकी दी है कि गाजा में भोजन और दवाओं की निर्बाध आपूर्ति जब तक सुनिश्चित नहीं की जाती, तब तक वह लाल सागर और अरब सागर से इजराइली बंदरगाहों की ओर जाने वाले हर पोत को रोकेगा। हूती विद्रोहियों ने पिछले सप्ताहों में लाल सागर में कई जहाजों पर हमला किया और इजराइल को निशाना बनाकर ड्रोन और मिसाइल हमले किए। गाजा के एक छोटे से हिस्से में मामूली मानवीय सहायता पहुंच पा रही है। बढ़ते अंतरराष्ट्रीय दबाव के बावजूद अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन का प्रशासन युद्ध विराम का विरोध कर रहा है। उसका तर्क है कि इससे हमास इजराइल के लिए खतरा बना रहेगा।
 

अमेरिका ने दी इजरायल को 10.6 करोड़ अमेरिकी डॉलर के हथियारों की बिक्री को मंजूरी

अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने बताया कि प्रशासन ने इजरायल को 10.6 करोड़ अमेरिकी डॉलर से अधिक मूल्य के लगभग 14,000 राउंड टैंक गोला-बारूद की आपातकालीन बिक्री को मंजूरी दे दी है। अंतरराष्ट्रीय बचाव समिति और सात अन्य सहायता एजेंसियों ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से तत्काल युद्ध विराम और हमास द्वारा बंधक बनाए गए लोगों की रिहाई सुनिश्चित करने के लिए एक प्रस्ताव पारित करने का आह्वान किया है। वहीं इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू और जर्मनी के चांसलर ओलाफ शोल्ज ने शनिवार को फोन पर दक्षिणी गाजा में जमीनी आक्रमण को लेकर चर्चा की। शोल्ज के कार्यालय ने यह जानकारी दी। बयान में कहा गया है कि शोल्ज ने ‘‘इस बात पर जोर दिया कि गाजा पट्टी में लोगों तक अधिक मानवीय सहायता पहुंचनी चाहिए और यह विश्वसनीय आधार पर होना चाहिए’’। 
 

यह भी पढ़ें

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Around the world News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement