1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. अन्य देश
  5. उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग के काबू से बाहर कोरोना, महामारी से निपटने के लिए सेना को निर्देश

North Korea Corona Explosion: उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग के काबू से बाहर कोरोना, महामारी से निपटने के लिए सेना को निर्देश

उत्तर कोरिया में कोविड-19 के बढ़ते प्रकोप के बीच सोमवार को बुखार से मौत के आठ और मामले सामने आए, जबकि 3,92,920 और लोग बुखार से पीड़ित पाए गए।

Swayam Prakash Edited by: Swayam Prakash @SwayamNiranjan
Published on: May 16, 2022 12:29 IST
Corona explosion in North Korea, Kim Jong Un deploys army- India TV Hindi
Image Source : PTI Corona explosion in North Korea, Kim Jong Un deploys army

Highlights

  • उत्तर कोरिया में कोरोना विस्फोट जैसे हालात
  • देश में अधिकतर लोगों को नहीं लगी वैक्सीन
  • सेना को कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए

North Korea Corona: उत्तर कोरिया में कोविड-19 के बढ़ते प्रकोप के बीच सोमवार को बुखार से मौत के आठ और मामले सामने आए, जबकि 3,92,920 और लोग बुखार से पीड़ित पाए गए। देश के नेता किम जोंग-उन ने दवाइयों की आपूर्ति में देरी को लेकर अधिकारियों को फटकार लगाई है और सेना को राजधानी प्योंगयांग में वैश्विक महामारी से निपटने के लिए कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। 

अप्रैल से अब तक 12 लाख बीमार

उत्तर कोरिया के वायरस रोधी आपात मुख्यालय ने बताया कि अप्रैल के अंत से 12 लाख लोगों को बुखार हो चुका है, जिनमें से 5,64,860 लोग अब भी आइसोलेशन में रह रहे हैं। मुख्यालय के मुताबिक, रविवार शाम छह बजे तक बुखार से पीड़ित 24 और लोगों की मौत होने के बाद देश में मृतक संख्या बढ़कर 50 हो गई है। हालांकि, सरकारी मीडिया ने इस बात की पुष्टि नहीं की है कि बुखार से पीड़ित और उससे जान गंवाने वालों में से कितने लोग कोरोना वायरस से संक्रमित थे। 

तानाशाह ने ठुकराया था वैक्सीन कार्यक्रम 

विशेषज्ञों का कहना है कि उत्तर कोरिया की खराब स्वास्थ्य व्यवस्था के कारण वायरस के संक्रमण को रोकने में नाकामी उसके लिए खतरनाक साबित हो सकती है। बताया जाता है कि 2.6 करोड़ की आबादी वाले देश में अधिकतर लोगों को कोविड-19 के टीके नहीं लगे हैं। उत्तर कोरिया ने संयुक्त राष्ट्र समर्थित ‘कोवैक्स’ टीका वितरण कार्यक्रम से मदद लेने का प्रस्ताव भी ठुकरा दिया था। उत्तर कोरिया ने कोविड-19 वैश्विक महामारी फैलने के दो साल से अधिक समय बाद गत गुरुवार को संक्रमण के पहले मामले की पुष्टि की थी।