1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. सिंगापुर: 13 साल की लड़की से 3 भारतीयों ने बनाए थे संबंध, मिली ये सजा

सिंगापुर: 13 साल की लड़की से 3 भारतीयों ने बनाए थे संबंध, मिली ये सजा

इनकी मुलाकात लड़की से मई 2016 में ‘लिटिल इंडिया’ में हुई थी जहां वह अपने दोस्तों के साथ घूमने गई थी...

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: February 21, 2018 17:06 IST
Representational Image | Pixabay Photo- India TV Hindi
Representational Image | Pixabay Photo

सिंगापुर: सिंगापुर में एक नाबालिग के साथ सहमति से यौन संबंध बनाने के आरोप में 3 भारतीय नागरिकों को कैद की सजा सुनाई गई है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह मामला 2016 का है और उस वक्त नाबालिग लड़की की उम्र 13 साल थी। आरोपी सिंगापुर में कंस्ट्रक्शन के काम में लगे हुए थे। इन तीनों ही व्यक्तियों ने एक ही दिन अलग-अलग समय में नाबालिग के साथ यौन संबंध बनाए थे। आपको बता दें कि सिंगापुर में 14 साल से कम उम्र की लड़की के साथ सहमति से भी यौन संबंध बनाना अपराध की श्रेणी में आता है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, गुरजंत सिंह गिल (25) और सुरजीत सिंह (29) को अपराध के लिए 15-15 महीने की कैद की सजा सुनाई गई है, जबकि जुगराज सिंह (33) को सिंगापुरी नाबालिग से अभद्र आचरण करने के आरोप में 8 महीने की कैद की सजा सुनाई गई है। ये तीनों ही भारतीय कंस्ट्रक्शन सेक्टर में काम करने वाले मजदूर हैं। डिप्टी पब्लिक प्रॉसीक्यूटर जेसिन्था विजयारत्नम ने कहा कि इनकी मुलाकात लड़की से मई 2016 में ‘लिटिल इंडिया’ में हुई थी जहां वह अपने दोस्तों के साथ घूमने गई थी।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, 1 मई 2016 को लड़की ने पहले गुरजंत के साथ एक होटल में वक्त बिताया। उसके बाद लड़की वापस लिटिल इंडिया गई जहां उसे सुरजीत मिल गया और वह उसके साथ फिर एक अन्य होटल में गई। तीसरी बार जब वह लिटिल इंडिया आई तो गुरजंत उसे जुगराज के साथ मिला, और वे तीनों फिर होटल चले गए। पीड़ित लड़की की मां ने पुलिस से शिकायत की थी जिसके बाद मामला दर्ज हुआ। सिंगापुर में 14 वर्ष की कम आयु की लड़की से सहमति से यौन संबंध बनाने के दोषियों को 20 साल तक की कैद और जुर्माना या बेंत की सजा सुनाई जा सकती है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment
X