Sunday, February 25, 2024
Advertisement

उत्तर कोरिया में कम पैदा हो रहे बच्चे, किम जोंग परेशान, महिलाओं से कही ये बड़ी बात

उत्तर कोरिया को इन दिनों इस बात की चिंता खाए जा रही है कि उत्तर कोरिया में घटती जन्मदर पर कैसे काबू पाया जाए। यहां बच्चे पैदा होने की दर बहुत कम है। इसके लिए किम जोंग ने बाकायदा एक कार्यक्रम आयोजित किया और महिलाओं से बड़ी अपील की।

Deepak Vyas Written By: Deepak Vyas @deepakvyas9826
Published on: December 06, 2023 12:17 IST
 किम जोंग- India TV Hindi
Image Source : FILE किम जोंग

North Korea Kim Jong News: उत्तर कोरिया में घटती जन्मदर से तानाशाह किम जोंग परेशान हैं। उन्होंने देशभर की ​माताओं के लिए विशेष आयो​जन किया। इसमें उन्होंने कहा कि घटती जन्मदर से निपटने में सरकारी प्रयासों में आप लोगों को बड़ी जिम्मेदारी निभाना होगा। इसके लिए आप सरकार के प्रयासों का समर्थन करें। दरअसल, उत्तर कोरिया की प्रजनन दर लगातार गिर रही है। यह हाल के दशकों में अपने सबसे निचले स्तर तक पहुंच चुकी है।

उत्तर कोरिया में बच्चे कम पैदा हो रहे हैं। इसे लेकर​ तानाशाह किम जोंग खासे परेशान हैं। बच्चे कम पैदा होने की दर को देखते हुए किम जोंग ने राजधानी प्योंगयोंग में एक बड़ा आयोजन किया। इसमें उन्होंने माताओं को देशभर से बुलाया। इस दौरान किम जोंग ने माताओं से अपील की कि वे उत्तर कोरिया में घटती जन्मदर को बढ़ाने के सरकारी प्रयासों को अपना समर्थन दें। उन्होंने कहा कि इस चुनौती से घर संभालने वाली हर महिला को जूझना है। कार्यक्रम में किम ने कहा, 'जन्म दर में गिरावट को रोकना और बच्चों की अच्छी देखभाल करना सभी माताओं का कर्तव्य हैं जिन्हें हमें काम करते समय भी संभालना होगा।'

उत्तर कोरिया के पड़ोसी देशों में तो हालत और खराब

संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष का अनुमान है कि उत्तर कोरिया में जन्मदर लगातार घट रही है। हाल के दशकों में अपने सबसे निचले स्तर पर यह दर पहुंच चुकी है। वर्ष 2023 तक उत्तर कोरिया में एक महिला से जन्म लेने वाले बच्चों की औसत संख्या 1.8 थी। वैसे तो यह उसके पड़ोसी देशों की तुलना में थोड़ी अधिक है, जो पहले से ही बच्चों की गिरती जन्मदर से काफी जूझ रहे हैं। प्रजनन दर में गिरावट से जूझ रहे देशों में चीन, जापान और दक्षिण कोरिया प्रमुख हैं। चीन को तो अपने देश की सेना में भर्ती होने के लिए नए रंगरूट तक नहीं मिल रहे हैं। दक्षिण कोरिया की प्रजनन दर पिछले साल गिरकर रिकॉर्ड निचले स्तर 0.78 पर आ गई, जबकि जापान में यह आंकड़ा गिरकर 1.26 पर आ गया।

भोजन की कमी से भी जूझ रहा उत्तर कोरिया

लगभग 25 मिलियन लोगों की आबादी वाले उत्तर कोरिया को हाल के दशकों में भोजन की गंभीर कमी से भी जूझना पड़ा है। इसमें 1990 के दशक में आया घातक अकाल भी शामिल है। उत्तर कोरिया में अक्सर बाढ़ जैसी प्राकृतिक आपदाओं के परिणामस्वरूप फसलों को नुकसान पहुंचता है। उत्तर कोरियाई नेता ने राष्ट्रीय शक्ति को मजबूत करने में उनकी भूमिका के लिए माताओं को शुक्रिया अदा किया।

चीन भी घटती जन्मदर से परेशान

उत्तर कोरिया ही नहीं, चीन भी अपने देश में घटती जन्मदर से परेशान हैं। खुद चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग इस मामले में अनी चिंता जाहिर कर चुके हैं। चीन में तो युवा कपल से शादी करने की और बच्चों को जन्म देने की अपील की जा रही है। चीन ने दशक पहले एक बच्चे को जन्म देने का अभियान चलाया था, जब युवाओं की संख्या घटने लगी तो कुछ साल पहले उन्होंने यह अभियान वापस ले लिया। अब तो चीन चाहता है कि जन्मदर बढ़े। चीन में युवा अपने करियर के चलते शादी से भी बचते हैं। इसी कारण युवाओं को शादी करने के लिए बढ़ावा​ दिया जा रहा है। 

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement