1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. यूरोप
  5. यूरोप एकमात्र ऐसा क्षेत्र है जहां कोविड-19 से मौत के मामले बढ़ रहे: WHO

यूरोप एकमात्र ऐसा क्षेत्र है जहां कोविड-19 से मौत के मामले बढ़ रहे: WHO

डब्ल्यूएचओ ने कहा कि यूरोप के भीतर सबसे अधिक नए मामले रूस, जर्मनी और ब्रिटेन से आए है। साथ ही रेखांकित किया कि नॉर्वे में मौतों में 67 प्रतिशत और स्लोवाकिया में 38 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। 

Bhasha Bhasha
Published on: November 17, 2021 19:47 IST
Europe is only region with increasing COVID-19 deaths: WHO- India TV Hindi
Image Source : AP WHO ने कहा है कि पिछले सप्ताह यूरोप में कोरोना वायरस संक्रमण से होने वाली मौतों में पांच प्रतिशत की वृद्धि हुई।

लंदन: विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा है कि पिछले सप्ताह यूरोप में कोरोना वायरस संक्रमण से होने वाली मौतों में पांच प्रतिशत की वृद्धि हुई, जिससे यह दुनिया का एकमात्र ऐसा क्षेत्र बन गया जहां महामारी से होने वाली मृत्यु की दर में वृद्धि हुई। संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी ने कहा कि पुष्टि किए गए संक्रमण के मामलों में वैश्विक स्तर पर छह प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है, जो अमेरिका, यूरोप और एशिया में वृद्धि के कारण हुई है। 

मंगलवार को महामारी पर अपनी साप्ताहिक रिपोर्ट में डब्ल्यूएचओ ने कहा कि यूरोप के अलावा अन्य सभी क्षेत्रों में कोविड​​-19 से होने वाली मौत की दर स्थिर रही या उसमें गिरावट आई। पिछले सप्ताह दुनिया भर में संक्रमण से कुल 50,000 लोगों की मौत हुई। वहीं संक्रमण के 33 लाख नए मामलों में से 21 लाख मामले यूरोप से आए। यह लगातार सातवां सप्ताह था जब 61 देशों में कोविड​​-19 के मामलों में निरंतर वृद्धि हुई। 

डब्ल्यूएचओ ने कहा कि पश्चिमी यूरोप में लगभग 60 प्रतिशत लोग कोविड-19 रोधी टीकों की सभी खुराक ले चुके हैं जबकि महाद्वीप के पूर्वी हिस्से में लगभग आधे लोगों को ही टीका लगाया गया है, जहां अधिकारी टीकाकरण से जुड़ी हिचकिचाहट को दूर करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि जुलाई से अफ्रीका, पश्चिम एशिया और दक्षिण पूर्व एशिया में संक्रमण कम हो रहा है। 

डब्ल्यूएचओ ने कहा कि यूरोप के भीतर सबसे अधिक नए मामले रूस, जर्मनी और ब्रिटेन से आए है। साथ ही रेखांकित किया कि नॉर्वे में मौतों में 67 प्रतिशत और स्लोवाकिया में 38 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। पूर्व में डब्ल्यूएचओ ने यूरोप को महामारी के ‘केंद्र’ के रूप में वर्णित किया था और आगाह किया था कि अगर तत्काल कार्रवाई नहीं की गई तो जनवरी तक संक्रमण से 5,00,000 और मौतें हो सकती हैं।

bigg boss 15