Sunday, July 21, 2024
Advertisement

युद्ध से बर्बाद हो रहे यूक्रेन की मदद के लिए आगे आया IMF, देगा 15.6 अरब अमेरिकी डॉलर का कर्ज

आईएमएफ ने बयान में कहा कि उसका कर्ज सहायता कार्यक्रम चार साल तक चलेगा जिसमें शुरुआती 18 महीनों तक यूक्रेन के व्यापक बजट घाटे को पाटने पर जोर रहेगा।

Edited By: Sudhanshu Gaur @SudhanshuGaur24
Published on: March 22, 2023 20:14 IST
यूक्रेन की मदद करेगा IMF- India TV Hindi
Image Source : AP यूक्रेन की मदद करेगा IMF

कीव: यूक्रेन और रूस के युद्ध को एक साल से ज्यादा का समय बीत चुका है। दोनों देशों के बीच भीषण जंग चल रही है। दोनों देशों ने एक-दूसरे को जबरदस्त नुकसान पहुंचाया है लेकिन कोई भी एक कदम भी पीछे हटने को राजी नहीं हैं। युद्ध की वजह से यूक्रेन की अर्थव्यवस्था पूरी तरह से बर्बाद हो चुकी है। यूक्रेन की मदद के लिए दुनियाभर के तमाम देश आगे आकर वित्तीय मदद कर रहे हैं। इसी बीच यूक्रेन को वित्तीय जरूरतें पूरा करने के लिए 15.6 अरब डॉलर का कर्ज देने पर अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (IMF) ने सहमति जताई है। 

कर्ज सहायता कार्यक्रम चार साल तक चलेगा

यूक्रेन के वित्त मंत्रालय ने बुधवार को आईएमएफ के साथ ऋण सहायता कार्यक्रम पर सहमति बनने की जानकारी देते हुए कहा कि इससे यूक्रेन को अपनी वृहद-वित्तीय स्थिरता सुनिश्चित करने के साथ युद्ध जीतने के बाद पुनर्निर्माण जरूरतें पूरा करने में मदद मिलेगी। आईएमएफ ने बयान में कहा कि उसका कर्ज सहायता कार्यक्रम चार साल तक चलेगा जिसमें शुरुआती 18 महीनों तक यूक्रेन के व्यापक बजट घाटे को पाटने पर जोर रहेगा। इसके अलावा नए नोट छापकर पेंशन, वेतन एवं बुनियादी सेवाओं से जुड़ी जरूरतें पूरी करने पर भी ध्यान दिया जाएगा। 

पुनर्निर्माण कार्यों पर विशेष बल दिया जाएगा

इस कार्यक्रम की शेष अवधि में यूक्रेन को यूरोपीय संघ का सदस्य बनाने और युद्ध खत्म होने के बाद पुनर्निर्माण कार्यों पर विशेष बल दिया जाएगा। रियायती वित्तपोषण वाले इस सहायता कार्यक्रम को अभी आईएमएफ के निदेशक मंडल की मंजूरी मिलनी बाकी है। फरवरी, 2022 में यूक्रेन पर रूस का हमला होने के बाद इसका सैन्य खर्च काफी बढ़ गया है जबकि उसकी अर्थव्यवस्था का आकार पिछले साल करीब 30 प्रतिशत घट गया।

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Europe News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement