1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. अमेरिका
  5. अमेरिका ने हमास प्रमुख इस्माइल हनियेह को आतंकवादी सूची में डाला, बढ़ सकता है तनाव

अमेरिका ने हमास प्रमुख इस्माइल हनियेह को आतंकवादी सूची में डाला, बढ़ सकता है तनाव

अमेरिकी विदेश विभाग ने बुधवार को हमास नेता इस्माइल हनियेह का नाम आतंकवादी सूची में शामिल कर दिया...

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: February 01, 2018 17:19 IST
Ismail Haniyeh | AP Photo- India TV
Ismail Haniyeh | AP Photo

वॉशिंगटन: अमेरिकी विदेश विभाग ने बुधवार को हमास नेता इस्माइल हनियेह का नाम आतंकवादी सूची में शामिल कर दिया। माना जा रहा है कि अमेरिका के इस ताजे कदम से इलाके में तनाव बढ़ सकता है और संघर्षों का एक नया दौर शुरू हो सकता है। अमेरिका ने हमास के राजनीतिक ब्यूरो के प्रमुख हनियेह को 3 अन्य समूहों के साथ विशेष रूप से नामित वैश्विक आतंकवादी (SDGT) के रूप में घोषित किया है। बता दें कि हाल ही में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जेरुसलम को इजरायल की राजधानी के तौर पर मान्यता देने की घोषणा की थी।

अमेरिका के इस कदम के बाद अमेरिकी अधिकार क्षेत्र में आने वाली हनियेह की संपत्तियों सहित सभी परिसंपत्तियों को जब्त कर दिया जाएगा और वह अमेरिका के किसी भी शख्स के साथ किसी भी तरह का लेनदेन नहीं कर पाएंगे। वह अमेरिका की वित्तीय प्रणाली तक भी पहुंच नहीं बना पाएंगे। अमेरिकी विदेश विभाग ने घोषणा करते हुए कहा, ‘हनियेह का हमास की सैन्य इकाई के साथ नजदीकी संबंध है और वह आम लोगों के संघर्ष सहित सशस्त्र संघर्ष के समर्थक रहे हैं। वह इजरायली नागरिकों के खिलाफ हिंसा में कथित तौर पर शामिल रहे हैं। आतंकवादी हमलों में 17 अमेरिकी नागरिकों के मारे जाने के लिए हमास जिम्मेदार है।’

इस्लामिक हमास आंदोलन ने बुधवार को अमेरिका के इस फैसले की निंदा की। इस आंदोलन के नेता ने कहा कि वे अमेरिका के इस फैसले को बेतुका समझते हैं। हमास प्रवक्ता ने कहा कि यह फिलिस्तीन के सशस्त्र प्रतिरोध पर दबाव बनाने का असफल प्रयास है। गौरतलब है कि ट्रंप ने 6 दिसंबर को जेरुसलम को इजरायल की राजधानी घोषित किया था। उसके बाद इस क्षेत्र में हिंसा भड़क गई और दुनियाभर में विरोध प्रदर्शन हुए थे।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment