Friday, July 12, 2024
Advertisement

इस बार कराह उठेगा रूस, अमेरिका ने मॉस्को पर लगा दिए 300 से ज्यादा नए प्रतिबंध

रूस और उसके युद्ध आपूर्तिकर्ताओं के बीच 10 करोड़ अमेरिकी डॉलर से अधिक के व्यापार को निशाना बनाया गया है। इन 300 से अधिक नए प्रतिबंधों का मुख्य उद्देश्य चीन, संयुक्त अरब अमीरात और तुर्की समेत विभिन्न देशों के व्यक्तियों व कंपनियों को रूस की सहायता करने से रोकना है।

Edited By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Published on: June 12, 2024 21:28 IST
अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन और रूस के प्रेसिडेंट पुतिन (फाइल फोटो)- India TV Hindi
Image Source : AP अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन और रूस के प्रेसिडेंट पुतिन (फाइल फोटो)

वाशिंगटनः अमेरिका ने रूस को एक बड़ा झटका देते हुए उस पर नए प्रतिबंधों की बेड़ियां लगा दी हैं। इससे यूक्रेन के खिलाफ 2 वर्षों से अधिक समय से युद्ध लड़ रहे रूस की स्थिति कमजोर हो सकती है। अमेरिका ने अब रूस पर 300 से अधिक नए प्रतिबंध लगा दिए हैं, जिनका मकसद मोटे तौर पर चीन, संयुक्त अरब अमीरात और तुर्की समेत विभिन्न देशों के व्यक्तियों व कंपनियों को रूस की सहायता करने से रोकना है। अमेरिका ने यह कदम इटली में होने वाले जी7 शिखर सम्मेलन से पहले उठाया है।

अमेरिका का यह कदम से यूक्रेन के लिए समर्थन बढ़ाना और रूस की युद्ध मशीनरी को खत्म करना शीर्ष प्राथमिकताओं में है। बुधवार को लगाए गए प्रतिबंधों में उन चीनी कंपनियों को निशाना बनाया गया है, जो युद्ध में रूस की मदद कर रही हैं। अमेरिका युद्ध शुरू होने के बाद से चार हजार रूसी कंपनियों और व्यक्तियों पर प्रतिबंध लगा चुका है, जिसका मकसद रूस को मिलने वाले धन और हथियारों पर रोक लगाना है।

रूस को बताया बड़ा प्रतिद्वंदी

अमेरिकी विदेश विभाग के आर्थिक प्रतिबंध नीति एवं कार्यान्वयन निदेशक एरन फोर्सबर्ग ने ‘एसोसिएटेड प्रेस’ से कहा, “पुतिन एक बहुत ही सक्षम प्रतिद्वंद्वी हैं, जो सहयोगियों को खोजने के लिए तैयार हैं।” उन्होंने कहा कि रूस के खिलाफ प्रतिबंध निरंतर चलने वाली प्रक्रिया हैं। बुधवार को लगाए गए प्रतिबंधों में रूस और उसके युद्ध आपूर्तिकर्ताओं के बीच 10 करोड़ अमेरिकी डॉलर से अधिक के व्यापार को निशाना बनाया गया है। इन 300 से अधिक नए प्रतिबंधों का मुख्य उद्देश्य चीन, संयुक्त अरब अमीरात और तुर्की समेत विभिन्न देशों के व्यक्तियों व कंपनियों को रूस की सहायता करने से रोकना है। (एपी) 

यह भी पढ़ें

जेल से बाहर आने के लिए झुके इमरान खान, पाकिस्तान सरकार से बातचीत को हुए राजी


1971 में बर्लिंगटन से उड़ान भरने के बाद लोगों समेत लापता हो गया था ये विमान, अब 53 साल बाद यहां मिला
 

 

 

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement