Thursday, June 13, 2024
Advertisement

पुतिन अमेरिका आए तो क्या होंगे गिरफ्तार, जानें अमेरिकी विदेश मंत्री ने क्या दिया जवाब?

अमेरिका अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय का सदस्य नहीं है। ऐसे में उनके देश में पुतिन यदि आते हैं तो उनकी गिरफ्तारी को लेकर नियम और कानूनों को देखना होगा। पुतिन के खिलाफ यूक्रेन में युद्ध अपराध के आरोप लगे हैं।

Written By: Deepak Vyas @deepakvyas9826
Updated on: March 24, 2023 23:50 IST
पुतिन अमेरिका आए तो क्या होंगे गिरफ्तार, जानें अमेरिकी विदेश मंत्री ने क्या दिया जवाब?- India TV Hindi
Image Source : FILE पुतिन अमेरिका आए तो क्या होंगे गिरफ्तार, जानें अमेरिकी विदेश मंत्री ने क्या दिया जवाब?

America on Putin: अमेरिका ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के खिलाफ वारंट पर अमेरिका ने पहली बार चुप्पी तोड़ी है। अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने इस बारे में अपनी प्रति​क्रिया देते हुए कहा कि यूरोपीय देश अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय के पक्षकर हैं। ऐसे में उन्हें रूसी राष्ट्रपति पुतिन को गिरफ्तार करना चाहिए। ब्लिंकन ने गोलमोल जवाब देते हुए कहा कि अमेरिका अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय का सदस्य नहीं है। ऐसे में उनके देश में पुतिन यदि आते हैं तो उनकी गिरफ्तारी को लेकर नियम और कानूनों को देखना होगा। पुतिन के खिलाफ यूक्रेन में युद्ध अपराध के आरोप लगे हैं।

अमेरिकी सीनेट में विदेश मंत्री से पूछा गया सवाल

अमेरिकी कांग्रेस की सीनेट एप्रोप्रिएशन्स सबकमेटी की सुनवाई के दौरान सिनेटर लिंडसे ग्राहम ने अमेरिकी विदेश मंत्री ब्लिंकन से पुतिन के खिलाफ जारी गिरफ्तारी वारंट को लेकर सवाल पूछा था। ग्राहम ने ब्लिंकन से सवाल किया कि यूक्रेन में बच्चों का अपहरण करने और उन्हें रूस ले जाने के लिए अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायलय ने पुतिन के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है, क्या यह इतना ही है? इसके जवाब में ब्लिंकन ने कहा कि 'हां'। ग्राहम ने दूसरा सवाल पूछा कि अगर पुतिन किसी भी कारण से कभी भी अमेरिका आते हैं तो क्या उन्हें गिरफ्तार कर अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय को सौंप दिया जाएगा?

पुतिन की गिरफ्तारी पर अमेरिका ने कही ये बात

ब्लिंकन ने कहा कि मैं इस पर कुछ नहीं बोल सकता, क्योंकि मुझे कानूनों को देखना होगा। जैसा कि आप जानते हैं कि, हम वास्तव में अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायलय के पक्षकार नहीं हैं। इसलिए मैं उस काल्पनिक स्थिति में शामिल नहीं होना चाहता। गौरतलब है कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पर इंटरनेशनल कोर्ट से जारी वारंट के बीच युद्धापराधी घोषित किए गए पुतिन के करीबी और पूर्व रूसी राष्‍ट्रपति दमित्री मेदवदेव ने परमाणु प्रलय की धमकी दी है। मेदवदेव ने कहा कि अगर पुतिन को अरेस्‍ट करने की कोई भी कोशिश की जाती है तो दुनिया में परमाणु प्रलय आ सकता है। उधर, रूसी राष्ट्रपति के आफिस ने कहा है कि कोर्ट का वारंट एक पक्षपातपूर्ण फैसला है और यह हमारे लिए कोई महत्‍व नहीं रखता है।

Also Read:

पेंशन विवाद को लेकर फ्रांस में नहीं थम रहा प्रदर्शन, लाखों लोग सड़क पर उतरे, रेल यातायात ठप

देश दिवालिया, भूखे मर रहे लोग, कंगाली के लिए IMF पर दोष मढ़ रहा पाकिस्तान

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement