1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. क्राइम
  4. लोन दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले गैंग का पर्दाफाश, 5 लोगों को किया गया गिरफ्तार

लोन दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले गैंग का पर्दाफाश, 5 लोगों को किया गया गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने आज एक ऐसे गैंग का पर्दाफाश किया है जो लोगों को लोन दिलाने के नाम पर उनसे पैसे ठग लिया करता था। मामले में कुल 5 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

Kumar Sonu Kumar Sonu @Sonu_indiatv
Published on: July 27, 2020 20:44 IST
Fake Home loan gang busted 5 people arrested- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV Fake Home loan gang busted 5 people arrested

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने आज एक ऐसे गैंग का पर्दाफाश किया है जो लोगों को लोन दिलाने के नाम पर उनसे पैसे ठग लिया करता था। दिल्ली पुलिस को एक शिकायत मिली कि एक रितेश तिवारी नाम का व्यक्ति जो अपने आप को गृह मंत्री के पीएस (पर्सनल सेक्रेटरी) का करीबी बताता है और उसने कई लोगों को झांसे दिए हैं कि वह उनका रुका हुआ काम करवा देगा। इस सूचना के आधार पर जब आगे की कार्रवाई अमल में लाई गई तो दो और शिकायतें मिली, जिसमें यह बताया गया कि रितेश तिवारी अपने कुछ गैंग मेंबर्स की सहायता से लोगों को लोन दिलाने के नाम पर ठगी का काम कर रहा है। एक व्यक्ति जिसे उसने 25 करोड़ रुपए का लोन दिलाने का भरोसा दिया था और stamp paper के खर्चे के नाम पर 12,00,000 रुपए ठग लिए, उसने दिल्ली पुलिस को इस बाबत एक शिकायत दी। 

इसी तरह एक व्यक्ति ने यह शिकायत दी कि इसी गैंग के सदस्यों ने उन्हें भी 50 करोड़ का लोन दिलाने के नाम पर 3200000 रुपए ठग लिए। इन शिकायतों के ऊपर केस दर्ज किए गए और आगे की तफ्तीश शुरू की गई। तफ्तीश के दौरान यह पता चला कि सिविल लाइंस निवासी रितेश तिवारी ने अपने कुछ मित्रों की मदद से ठगी का काम कर रहा है। इस गैंग ने एक फार्म हाउस किराए पर लेकर वहां एक सेटअप तैयार किया। जहां बाउंसर्स रखे गए और लोगों की तलाशी के इंतजाम किए गए। जो लोग वहां लाए जाते थे उनको यह झांसा दिया जाता था कि यह एक महत्वपूर्ण व्यक्ति का निवास स्थान है और शिकायत कर्ताओं की लोन संबंधी बातें कर ली गई हैं। उसके बाद stamp पेपर खरीदने के नाम पर उनसे कुछ पैसे ठग लिए जाते थे।

दिल्ली पुलिस ने इस गैंग के 5 सदस्यों को गिरफ्तार किया है। रितेश तिवारी इस गैंग का सरगना है और क्लब रोड सिविल लाइंस इलाके में रहता है। यह अपने आप को एक उच्च पदस्थ सरकारी अधिकारी के रूप में प्रस्तुत करता है और लोगों को यह झांसा देता है कि उनका काम करा देगा। इस काम के लिए 1 फॉर्च्यूनर गाड़ी रखी हुई है। साथ में दो जिप्सी जिसमें  बाउंसर पायलट और escort में चलते हैं। अजय जैन जो इसका साथी है वह किसी वित्तीय संस्था में कार्य करता है और पिछले कुछ समय से राकेश तिवारी के साथ कार्य कर रहा है। भास्कर नाथ एक रिटायर्ड सरकारी अधिकारी का बेटा है और पिछले कुछ दिनों से रितेश तिवारी के गैंग में काम कर रहा है। अमन कश्यप एक प्रॉपर्टी डीलर है और पिछले 12 सालों से रितेश तिवारी से परिचित है। करीब 3 सालों से यह रितेश के साथ इस कार्य में जुड़ा हुआ है। भीम पंडित कांग्रेस के 24 अकबर रोड स्थित कार्यालय में एक क्लर्क का काम करता है और अपने आप को कई वरिष्ठ नेताओं का करीबी बताता है। इस गैंग के कुछ अन्य सदस्यों को भी गिरफ्तार किया जाना जाना है। अब तक इनसे एक फॉर्च्यूनर कार, दो जिप्सी और मोबाइल फोन बरामद किए गए हैं।

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। लोन दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले गैंग का पर्दाफाश, 5 लोगों को किया गया गिरफ्तार News in Hindi के लिए क्लिक करें क्राइम सेक्‍शन
Write a comment
X