Sunday, March 03, 2024
Advertisement

केजरीवाल की गिरफ्तारी! AAP ने शुरू की एडवांस तैयारी; इस्तीफे को लेकर जनता से कर रहे राय-शुमारी

AAP को शक है कि कथित आबकारी नीति घोटाले से जुड़े धनशोधन मामले में जल्द ही दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। लिहाजा AAP ने पहले से ही जनता से राय लेनी शुरू कर दी है कि केजरीवाल अगर गिरफ्तार हुए तो उन्हें इस्तीफा देना चाहिए या नहीं।

Swayam Prakash Edited By: Swayam Prakash @swayamniranjan_
Updated on: November 30, 2023 16:03 IST
arvind kejriwal- India TV Hindi
Image Source : PTI दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी को लेकर आम आदमी पार्टी ने एडवांस तैयारी शुरू कर दी है। दरअसल, AAP के नेता गोपाल राय ने गुरुवार को कहा कि उनकी पार्टी 1 से 20 दिसंबर के बीच हस्ताक्षर अभियान चलाएगी। इसके तहत AAP दिल्ली की जनता की प्रतिक्रिया लेगी कि "भाजपा की साजिश" के तहत अगर केजरीवाल गिरफ्तार किए गए तो उस स्थिति में क्या उन्हें दिल्ली के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। 

दिल्ली के सभी मतदान केंद्रों पर चलेगा अभियान

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने AAP को खत्म करने की उम्मीद से केजरीवाल को "फर्जी" शराब घोटाला मामले में गिरफ्तार करने का षडयंत्र रचा है। राय पार्टी सांसद राघव चड्ढा के साथ एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित कर रहे थे। राय ने कहा कि शुक्रवार से ‘‘मैं भी केजरीवाल’’ अभियान के तहत, पार्टी के स्वयंसेवक दिल्ली के सभी 2,600 मतदान केंद्रों पर जाएंगे और लोगों के हस्ताक्षर लेते हुए उनकी राय पूछी जाएगी कि अगर केजरीवाल को गिरफ्तार कर लिया गया तो क्या उन्हें मुख्यमंत्री का पद छोड़ देना चाहिए। 

"जेल से ही सरकार चलाएं केजरीवाल"

मंत्री गोपाल राय ने कहा कि केजरीवाल ने पार्टी विधायकों और पार्षदों से मुलाकात कर इस मुद्दे पर उनकी राय मांगी थी और इस बात पर सर्वसम्मति थी कि उन्हें इस्तीफा नहीं देना चाहिए और जेल से ही सरकार चलानी चाहिए। राय ने कहा कि पार्टी 21 दिसंबर से 24 दिसंबर के बीच शहर के हर वार्ड में जनसंवाद आयोजित करेगी, जिसमें लोगों से कथित शराब घोटाले के साथ-साथ केजरीवाल को गिरफ्तार कराने की भाजपा की साजिश पर चर्चा की जाएगी। उन्होंने कहा कि लोगों की राय भी ली जाएगी कि अगर केजरीवाल को गिरफ्तार किया गया तो क्या उन्हें मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना चाहिए। 

ED के सामने पेश नहीं हुए थे केजरीवाल

गौरतलब है कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने इस महीने की शुरुआत में केजरीवाल को कथित आबकारी नीति घोटाले से जुड़े धनशोधन मामले में पूछताछ के लिए बुलाया था। केजरीवाल जांच एजेंसी के समक्ष पेश नहीं हुए और मांग की कि उसे अपना नोटिस वापस लेना चाहिए। उन्होंने दावा किया था कि यह "अवैध और राजनीति से प्रेरित" कदम है। 

ये भी पढ़ें-

'यह इस टर्म की आखिरी कैबिनेट बैठक थी', एग्जिट पोल से पहले आया नरोत्तम मिश्रा का बयान

बहनें होकर भी काजोल और रानी मुखर्जी में नहीं होती थी बात, अपनों को खोने के बाद आया रिश्ते में बदलाव

 

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें दिल्ली सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement