Thursday, June 20, 2024
Advertisement

महिलाएं होती हैं इन बीमारियों का तेजी से शिकार, इन लक्षणों के दिखने पर हो जाएं सावधान…!

ऐसे कई साइलेंट किलर बीमारियां हैं, जो महिलाओं को धीरे- धीरे कमजोर बनाती हैं। ऐसे में इन कुछ लक्षणों को सामान्य समस्या समझकर नजरअंदाज न करें।

Written By: Poonam Yadav @R154Poonam
Updated on: April 30, 2024 7:40 IST
महिलाएं होती हैं इन बीमारियों का तेजी से शिकार- India TV Hindi
Image Source : SOCIAL महिलाएं होती हैं इन बीमारियों का तेजी से शिकार

महिलायें अपने परिवार और बच्चों का खूब ख़्याल रखती हैं लेकिन जब बारी ख़ुद की आती है तो वो लापरवाह हो जाती हैं। ऐसे में उनका शरीर कब धीरे-धीरे बीमारियों का घर बन जाता है। आज हम आपको कुछ ऐसी बीमारियों के बारे में बताएँगे जिन्हें महिलाओं के लिए साइलेंट किलर कहा गया है।ये बीमारियां महिलाओं के शरीर में तेज़ी से बढ़ती चली जाती हैं, लेकिन इनके लक्षण दिखाई नहीं देते और अगर दिखते भी हैं तो इन्हें अक्सर सामान्य समस्या समझकर नजरअंदज कर दिया जाता है। चलिए आपको बताते हैं महिलाओं में कौन-कौन सी बीमारियां 'साइलेंट किलर' होती हैं

इन बीमारियों का हो सकती  हैं शिकार:

  • खून की कमी: एनीमिया एक ऐसी बीमारी है जो महिलाओं में बहुत ज़्यादा होती है। इस बीमारी में खून की किमी होने एलगीटी है। इससे जूझ रही महिलाओं में त्‍वचा का पीला पड़ना, चक्‍कर आना, थकान, सांस फूलना, सिर घूमना, और दिल की धड़कन तेज हो जाती है। एनीमिया से बचने के लिए अपनी डाइट में आयरन, विटामिन C और फोलेट से भरपूर भोजन का सेवन करें।

  • पीसीओडी की शिकार: पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (पीसीओडी) का शिकार इन दिनों ज़्यादार महिलायें हो रही हैं। महिलाओं में यह समस्या हार्मोनल इम्बैलेंस की वजह से होती है। इस बीमारी में महिलाओं का पीरियड साइकिल  बिगड़ जाता है। मोटापा बढ़ने पर यह परेशानी ज़्यादा बढ़ जाती है। हेयर फॉल , स्किन पर पिम्पल्स और बढ़ता मोटापा इसके सामान्य लक्षण हैं।

  • मेनोपॉज में होती है परेशानीमहिलाओं में मेनोपॉज की शुरुआत 42 वर्ष के बाद शुरू होता है। यह उनकी ज़िंदगी का ऐसा पड़ाव होता है, जिससे हर महिला को सामना करना पड़ता है। मेनोपोज़ के दौरान महिलाओं के परियड्स बंद हो जाते हैं।मेनोपॉज की वजह से फीमेल हार्मोन एस्ट्रोजन काफ़ी कम हो जाता है।

  • हड्डियों का कमजोर होना: जैसे-जैसे महिलाओं की उम्र बढ़ती है उनकी हड्डियाँ कमजोर होने लगती हैं। हड्डियों की मजबूती बनाए रखने के लिए कैल्शियम और आयरन का सेवन करना चाहिए। धूप के साथ दूध, दही या पनीर कैल्शियम की कमी को पूरा करन के लिए बेहतरीन सोर्स माने जाते हैं। 

 

Latest Health News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें हेल्थ सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement