1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. रेल सेवाओं पर पड़ा 'भारत बंद' का असर, 4 शताब्दी ट्रेनें कैंसिल, इन रास्तों से बचकर निकलें

रेल सेवाओं पर पड़ा 'भारत बंद' का असर, 4 शताब्दी ट्रेनें कैंसिल, इन रास्तों से बचकर निकलें

तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठनों द्वारा आज बुलाए गए भारत बंद का असर रेल सेवाओं पर भी पड़ा है। देशव्यापी बंद और प्रदर्शन की वजह से सड़कों पर कई जगह यातायात बाधित हुआ है तो वहीं दूसरी ओर कई ट्रेनें भी हड़ताल की वजह से कैंसिल हो गई हैं।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: March 26, 2021 11:21 IST
रेल सेवाओं पर पड़ा...- India TV Hindi
Image Source : REPRESENTATIONAL IMAGE रेल सेवाओं पर पड़ा 'भारत बंद' का असर, 4 शताब्दी ट्रेनें कैंसिल, इन रास्तों से बचकर निकले

नई दिल्ली: तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठनों द्वारा आज बुलाए गए भारत बंद का असर रेल सेवाओं पर भी पड़ा है। देशव्यापी बंद और प्रदर्शन की वजह से सड़कों पर कई जगह यातायात बाधित हुआ है तो वहीं दूसरी ओर कई ट्रेनें भी हड़ताल की वजह से कैंसिल हो गई हैं। पंजाब, हरियाणा, अंबाला की ओर से आने वाली ट्रेनों पर इसका खासा असर पड़ा है।

आपको बता दें कि भारतीय रेलवे के अनुसार भारत बंद का असर रेल सेवाओं पर पड़ा है। बंद की वजह से 4 शताब्दी ट्रेनों को कैंसिल करना पड़ा है। इसका सबसे ज्यादा असर पंजाब और हरियाणा की ओर से दिल्ली आने वाली ट्रेनों पर पड़ा है। अब तक कुल 32 जगहों पर रेलयातायात बाधित हुआ है। साथ ही 4 शताब्दी ट्रेनों को रद्द करना पड़ा है। इसके अलावा बंद का असर दिल्ली मेट्रो के सेवाओं पर भी पड़ा है। कई स्टेशनों को बंद करना पड़ा हालांकि कुछ देर बाद इन्हें खोल दिया गया। भारत बंद की वजह से गाजीपुर बॉर्डर को बंद कर दिया है। गाजियाबाद से दिल्ली की ओर आने वाली सड़क बंद है।

आपको बता दें कि दिल्ली की तीन सीमाओं-सिंघू, गाजीपुर और टीकरी पर किसान आंदोलन के चार महीने पूरे होने पर देशभर में यह राष्ट्रव्यापी बंद किया जा रहा है। संयुक्‍त किसान मोर्चा के मुताबिक, किसान आंदोलन के 4 महीने (120 दिन) पूरे होने पर 'भारत बंद' किया जा रहा है। किसान आंदोलन पिछले साल 26 नवंबर को शुरू हुआ था।

हजारों की संख्‍या में किसान दिल्‍ली की सीमाओं पर नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं कांग्रेस, लेफ्ट, समेत कई विपक्षी दलों ने किसानों के भारत बंद का समर्थन किया है। किसान संगठनों ने ऐलान किया है कि वे 28 मार्च को होलिका दहन पर नए कृषि कानूनों की प्रतियां जलाएंगे।

Click Mania