1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. भ्रष्टाचार छोटा हो या बड़ा, वो किसी ना किसी का हक छीनता है-पीएम मोदी

भ्रष्टाचार छोटा हो या बड़ा, वो किसी ना किसी का हक छीनता है-पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा- आज देश को ये भी विश्वास हुआ है कि देश को धोखा देने वाले, गरीब को लूटने वाले, कितने भी ताकतवर क्यों ना हो, देश और दुनिया में कहीं भी हों, अब उन पर रहम नहीं किया जाता, सरकार उनको छोड़ती नहीं है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: October 20, 2021 10:24 IST
भ्रष्टाचार छोटा हो या बड़ा, वो किसी ना किसी का हक छीनता है-पीएम मोदी- India TV Hindi
Image Source : TWITTER भ्रष्टाचार छोटा हो या बड़ा, वो किसी ना किसी का हक छीनता है-पीएम मोदी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीवीसी और सीबीआई के संयुक्त सम्मेलन में कहा कि भ्रष्टाचार-करप्शन, छोटा हो या बड़ा, वो किसी ना किसी का हक छीनता है। ये देश के सामान्य नागरिक को उसके अधिकारों से वंचित करता है, राष्ट्र की प्रगति में बाधक होता है और एक राष्ट्र के रूप में हमारी सामूहिक शक्ति को भी प्रभावित करता है।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इस संयुक्त सम्मेलन को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आज देश को ये भी विश्वास हुआ है कि देश को धोखा देने वाले, गरीब को लूटने वाले, कितने भी ताकतवर क्यों ना हो, देश और दुनिया में कहीं भी हों, अब उन पर रहम नहीं किया जाता, सरकार उनको छोड़ती नहीं है।

पीएम मोदी ने कहा कि बीते 6-7 सालों के निरंतर प्रयासों से हम देश में एक विश्वास कायम करने में सफल हुए हैं, कि बढ़ते हुए करप्शन को रोकना संभव है। आज देश को ये विश्वास हुआ है कि बिना कुछ लेन-देन के, बिना बिचौलियों के भी सरकारी योजनाओं का लाभ मिल सकता है। 

नरेंद्र मोदी ने कहा- न्यू इंडिया अब ये भी मानने को तैयार नहीं कि भ्रष्टाचार सिस्टम का हिस्सा है। उसे System Transparent चाहिए, Process Efficient चाहिए और Governance Smooth चाहिए। आज 21वीं सदी का भारत, आधुनिक सोच के साथ ही टेक्नोलॉजी को मानवता के हित में इस्तेमाल करने पर बल देता है। न्यू इंडिया Innovate करता है, Initiate करता है और Implement करता है। 

प्रधानमंत्री ने कहा- हमने देशवासियों के जीवन से सरकार के दखल को कम करने को एक मिशन के रूप में लिया। हमने सरकारी प्रक्रियाओं को सरल बनाने के लिए निरंतर प्रयास किए। मैक्सिमम गवर्नमेंट कंट्रोल के बजाय मिनिमम गवर्नमेंट, मैक्सिमम गवर्नेंस  पर फोकस किया। आज देश में जो सरकार है, वो देश के नागरिकों पर ट्रस्ट करती है, उन्हें शंका की नजर से नहीं देखती। इस भरोसे ने भी भ्रष्टाचार के अनेकों रास्तों को बंद किया है।  इसलिए दस्तावेज़ों की वैरीफिकेशन के लेयर्स को हटाकर, करप्शन और अनावश्यक परेशानी से बचाने का रास्ता बनाया है। 

bigg boss 15