नशामुक्ति कार्यक्रम में ये क्या बोल गए मंत्री जी! दे डाले शराब पीने के टिप्स, देखें VIDEO

छत्तीसगढ़ के शिक्षा मंत्री ने बताया, एक पक्ष ने कहा कि दारू (शराब) के क्या-क्या फायदे हो सकते हैं। शराब सभी को एकजुट करती है। हम इसे कभी-कभी समारोहों और चुनावों में भी इस्तेमाल करते हैं।

Khushbu Rawal Edited By: Khushbu Rawal @khushburawal2
Updated on: September 01, 2022 18:36 IST
Chhattisgarh Minister- India TV Hindi
Image Source : TWITTER Chhattisgarh Minister

Highlights

  • शराब पीने को लेकर छत्तीसगढ़ के मंत्री ने दी सलाह
  • शराब में सही मात्रा के अनुसार पानी मिलाकर पिएं- मंत्री
  • हरिवंश राय बच्चन की कविता का भी किया जिक्र

Chhattisgarh News: छत्तीसगढ़ के स्कूली शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम अपने बयान को लेकर चर्चा में आ गए हैं। टेकाम ने हरिवंश राय बच्चन की प्रसिद्ध कविता ‘मधुशाला’ की पंक्तियों का संदर्भ देते हुए कहा कि शराब लोगों को एकजुट करती है लेकिन इसका सेवन नियंत्रित तरीके से करना चाहिए। राज्य के बलरामपुर जिले में मंगलवार को नशामुक्ति कार्यक्रम के दौरान मंत्री की इस टिप्पणी ने विवाद खड़ा कर दिया है। विपक्षी दल भाजपा ने उनकी आलोचना करते हुए कहा है कि भूपेश बघेल सरकार और कांग्रेस पार्टी में ‘कार्टूनों‘ की कोई कमी नहीं है।

मंत्री के भाषण का वीडियो वायरल

बलरामपुर जिला पुलिस द्वारा आयोजित ‘नशामुक्ति अभियान’ के दौरान वाड्राफनगर में दिए गए भाषण का यह वीडियो गुरुवार को सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इस कार्यक्रम में स्कूली छात्र भी मौजूद थे। इस दौरान टेकाम ने कहा, ‘‘हरिवंश राय बच्चन जी ने मंदिर-मस्जिद झगड़ा कराते, लेकिन एक कराती मधुशाला लिखा था। लेकिन (शराब के सेवन में) नियंत्रण होना चाहिए। आपको अपने ऊपर नियंत्रण रखना चाहिए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैंने एक बैठक में भाग लिया था, जिसमें एक वर्ग ने इसके दुष्प्रभावों का हवाला देते हुए शराब के सेवन का विरोध किया, जबकि दूसरे वर्ग ने इसके लाभों का हवाला देते हुए इसका समर्थन किया।’’

देखें वीडियो-

‘दारू‘ का मतलब ‘डी‘ है- मंत्री
मंत्री ने बताया, ‘‘एक पक्ष ने कहा कि दारू (शराब) के क्या-क्या फायदे हो सकते हैं। शराब सभी को एकजुट करती है। हम इसे कभी-कभी समारोहों और चुनावों में भी इस्तेमाल करते हैं। दारू के संदर्भ में यह कहा गया है कि ‘दारू‘ का मतलब ‘डी‘ है। यदि दारू में मिलाएंगे पानी तो डाइल्यूशन होना चाहिए। जितना डाइल्यूशन हो सकता है होना चाहिए। उसके बाद उसका ड्यूरेशन (समय) होना चाहिए। ऐसा नहीं कि एक ही बार में गट-गट मार दिए।’’ मंत्री ने कार्यक्रम में शराब के दुष्परिणामों का हवाला दिया कहा कि इसकी लत नहीं लगनी चाहिए।

'भूपेश बघेल की सरकार और पार्टी कार्टूनों से भरी हुई है'
बता दें कि इस संबंध में मंत्री से बात करने की कोशिश करने पर उन्होंने फोन कॉल या संदेश का कोई जवाब नहीं दिया। वीडियो के वायरल होते ही भाजपा के वरिष्ठ विधायक अजय चंद्राकर ने मंत्री का मजाक उड़ाते हुए कहा, ‘‘भूपेश बघेल की सरकार और पार्टी कार्टूनों से भरी हुई है और उनमें से किसी को भी विषय की समझ नहीं है। यह कोई सरकार नहीं है जो काम कर रही है बल्कि यह एक ‘कठपुतली शो’ है जिसे दिल्ली (कांग्रेस आलाकमान का हवाला देते हुए) द्वारा नियंत्रित किया जा रहा है।’’

हाल ही में राज्य में भाजपा के एक विधायक कृष्णमूर्ति बांधी ने यह सुझाव देकर विवाद खड़ा कर दिया था कि नशे के लिए शराब के विकल्प के रूप में भांग और गांजा के उपयोग को प्रोत्साहित किया जाना चाहिए।

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन