1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. भारत विरोधी समाचार और अन्य सामग्री फैलाने वाले पाकिस्तान से संचालित 35 यूट्यूब चैनल बंद किए गए

भारत विरोधी समाचार और अन्य सामग्री फैलाने वाले पाकिस्तान से संचालित 35 यूट्यूब चैनल बंद किए गए

भारत विरोधी समाचार और अन्य सामग्री फैलाने वाले पाकिस्तान से संचालित यूट्यूब चैनलों, ट्विटर, इंस्टाग्राम, वेबसाइट और फेसबुक अकाउंट के खिलाफ कार्रवाई की गई है। सूचना और प्रसारण मंत्रालय के संयुक्त सचिव ने इसको लेकर जानकारी दी है।

IndiaTV Hindi Desk Written by: IndiaTV Hindi Desk
Updated on: January 21, 2022 18:33 IST
Vikram Sahay, Joint Secretary (P&A), Ministry of Information and Broadcasting- India TV Hindi
Image Source : ANI Vikram Sahay, Joint Secretary (P&A), Ministry of Information and Broadcasting

Highlights

  • 35 यूट्यूब चैनल, 2 ट्विटर, 2 इंस्टाग्राम, एक फेसबुक अकाउंट समेत 2 वेबसाइट को ब्लॉक किया गया
  • पाकिस्तान से होते थे संचालित, भारत विरोधी समाचार फैलाने का लगा आरोप
  • दिसंबर 2021 में भी 20 यूट्यूब चैनलों को किया गया था बंद

नई दिल्ली। भारत विरोधी समाचार और अन्य सामग्री फैलाने वाले पाकिस्तान से संचालित यूट्यूब चैनलों, ट्विटर, इंस्टाग्राम, वेबसाइट और फेसबुक अकाउंट के खिलाफ कार्रवाई की गई है। सूचना और प्रसारण मंत्रालय के संयुक्त सचिव (P&A) विक्रम सहाय ने शुक्रवार को बताया कि कल 20 जनवरी को मंत्रालय को प्राप्त खुफिया सूचना के आधार पर हमने 35 यूट्यूब चैनल, 2 ट्विटर अकाउंट, 2 इंस्टाग्राम अकाउंट, 2 वेबसाइट और एक फेसबुक अकाउंट को ब्लॉक करने के निर्देश जारी किए हैं। इन सभी अकाउंट्स में आम बात यह है कि ये पाकिस्तान से संचालित होते हैं और झूठे भारत विरोधी समाचार और अन्य सामग्री फैलाते हैं।

विक्रम सहाय ने आगे कहा कि यह भारत के खिलाफ दुष्प्रचार फैलाने वाले सूचना युद्ध की तरह है। खुफिया एजेंसियों की तरफ से लगातार निगरानी की जा रही है। जानकारी के मुताबिक, बंद किए गए इन  यूट्यूब चैनल्स के करीब 1.2 करोड़ सब्सक्राइबर्स थे और इनके द्वारा डाले गए वीडियो के व्यूज मिलियन में थे। इन सभी चैनल्स के जरिए भारत विरोधी प्रोपोगैंडा फैलाया जा रहा था। विक्रम सहाय ने बताया कि ये सभी चैनल्स और अकाउंट पाकिस्तान से संचालित होते हैं और भारत विरोधी समाचार और अन्य सामग्री फैलाते हैं।

सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने पिछले साल दिसंबर में खुफिया एजेंसियों के साथ एक समन्वित प्रयास में 20 यूट्यूब चैनल और दो वेबसाइट को अवरुद्ध (ब्लॉक) करने का आदेश दिया था, क्योंकि वे भारत विरोधी दुष्प्रचार और फर्जी खबरें फैला रहे थे। भारत विरोधी दुष्प्रचार और फर्जी खबरें फैलाने के लिए 20 यूट्यूब चैनल और दो वेबसाइट को अवरुद्ध (ब्लॉक) किए जाने के कुछ दिनों बाद सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने बीते बुधवार को चेतावनी दी कि सरकार देश के खिलाफ ‘‘साजिश रचने’’ वालों के खिलाफ इस तरह की कार्रवाई जारी रखेगी। मंत्री ने कहा, "और भविष्य में भी, भारत के खिलाफ साजिश रचने, झूठ फैलाने और समाज को विभाजित करने वाले ऐसे किसी भी अकाउंट को ब्लॉक करने के लिए कार्रवाई की जाएगी।" 

erussia-ukraine-news