NIA Raids : एनआईए का 'ऑपरेशन मिडनाइट', जानिए पीएफआई पर छापे की पूरी प्लानिंग

NIA Raids : 6 कंट्रोल रूम के जरिए इस पूरे ऑपरेशन की निगरानी की गई। यह पूरा ऑपरेशन सुबह 1 बजे से लेकर सुबह 5 बजे तक चला। इस दौरान एनआईए के सभी बड़े अधिकारी मौजूद थे।

Reported By : Manish Prasad, T Raghavan, Atul Singh Updated on: September 22, 2022 16:41 IST
NIA Raids- India TV Hindi News
Image Source : INDIA TV NIA Raids

Highlights

  • देर रात एक बजे से सुबह 5 बजे तक चली कार्रवाई
  • पूरी कार्रवाई को गुप्त रखा गया
  • पूरे ऑपरेशन में एनआईए के 200 स्टाफ थे शामिल

NIA Raids : एनआईए ने 11 राज्यों में छापे मारकर पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) के अध्यक्ष समेत कई लोगों को हिरासत में ले लिया है। पूरे देश भर में 106 लोगों की गिरफ्तारी हुई है। इस बीच एनआईए के ऑपरेशन को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। इस ऑपरेशन के लिए गृह मंत्रालय में कमांड सेंटर बनाया गया था। 6 कंट्रोल रूम के जरिए इस पूरे ऑपरेशन की निगरानी की गई। यह पूरा ऑपरेशन सुबह 1 बजे से लेकर सुबह 5 बजे तक चला। इस दौरान एनआईए के सभी बड़े अधिकारी मौजूद थे। 

गुप्त रखी गई पूरी कार्रवाई

छापेमारी की इस पूरी कार्रवाई को पूरी तरह से गुप्त रखा गया। इस पूरे ऑपरेशन में एनआईए के 200 स्टाफ शामिल थे। NIA के 4 आईजी, 1 एडीजी और 16 एसपी इस पूरे ऑपरेशन में शामिल रहे। इसका कमांड कंट्रोल संटेर गृह मंत्रालय में था। पीएफआई से जुड़े संदिग्धों के सभी डोजियर छापे वाली टीम को दिए गए। सभी संदिग्धों की रेकी पिछले एक सप्ताह से ज्यादा समय से की जा रही थी। छापे में 200 से अधिक मोबाइल, 100 से अधिक लैपटॉप जब्त किए गए। इसके साथ ही कई आपत्तिजनक दस्तावेज, विजन दस्तावेज, नामांकन फॉर्म, बैंक डिटेल्स भी जब्त किए गए हैं।

मप्र से चार पीएफआई कार्यकर्ता गिरफ्तार

अगुवाई में छेड़े गए देशव्यापी अभियान के तहत मध्यप्रदेश से पीएफआई के चार कार्यकर्ताओं को बृहस्पतिवार को गिरफ्तार किया गया। इसके बाद राज्य के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि विषय गंभीर है और इस कार्रवाई में स्थानीय पुलिस का सहयोग भी लिया गया। अधिकारियों ने बताया कि एनआईए की अगुवाई वाली मुहिम के तहत देश के 11 राज्यों से पीएफआई के 100 से ज्यादा कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया जिनमें मध्यप्रदेश के चार लोग शामिल हैं। इस कार्रवाई के बारे में पूछे जाने पर मध्यप्रदेश के गृह मंत्री मिश्रा ने इंदौर में संवाददाताओं को बताया कि एनआईए ने इस कार्रवाई में राज्य पुलिस का सहयोग भी लिया।

महाराष्ट्र एटीएस ने पीएफआई के 20 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया

 एनआईए के साथ महाराष्ट्र एटीएस ने बृहस्पतिवार को राज्य से पीएफआई के 20 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया। एक अधिकारी ने बताया कि महाराष्ट्र में एटीएस के विभिन्न दलों ने मुंबई, नवी मुंबई, ठाणे, औरंगाबाद, पुणे, कोल्हापुर, बीड़, परभणी, नांदेड, मालेगांव (नासिक जिला) और जलगांव में छापे मारे। उन्होंने बताया कि एटीएस दलों ने राज्य में विभिन्न स्थानों से कम से कम 20 लोगों को गिरफ्तार किया और महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद किए। उन्होंने बताया कि एटीएस ने भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं में मुंबई, नासिक, औरंगाबाद और नांदेड में चार मामले दर्ज किए हैं। एटीएस अधिकारी इन मामलों के संबंध में कुछ लोगों से पूछताछ भी कर रहे हैं।

तमिलनाडु में भी एनआईए की छापेमारी

तमिलनाडु में  एनआईए अधिकारियों ने चेन्नई, थेनी, मदुरै, कोयंबटूर और रामनाथपुरम समेत कई जिलों में पीएफआई से जुड़े परिसरों में तलाशी ली तथा कई कार्यकर्ताओं को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया। थेनी जिले के कुमबुम में पीएफआई के एक पदाधिकारी को गिरफ्तार किए जाने के खिलाफ स्थानीय लोगों ने प्रदर्शन किया, जिनमें से कुछ को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। कोयंबटूर के करुम्बुकदई में एक पदाधिकारी की गिरफ्तारी को लेकर एनआईए के खिलाफ प्रदर्शन किया गया। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया। 

केरल में पीएफआई के 14 पदाधिकारी हिरासत में

केरल में सुबह जैसे ही छापों की खबर आयी तो पीएफआई कार्यकर्ताओं ने उन स्थानों की ओर मार्च निकाला, जहां छापे मारे गए और केंद्र तथा उसकी जांच एजेंसियों के खिलाफ नारे लगाए। बहरहाल, ऐसे सभी स्थानों पर पहले ही केंद्रीय बलों की तैनाती की गयी है। पीएफआई के एक सूत्र ने यहां बताया कि तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, कोट्टयम, एर्नाकुलम और त्रिशूर समेत लगभग सभी जिलों में प्रदर्शन किए गए।सूत्र ने बताया कि केंद्रीय एजेंसियों ने केरल से पीएफआई के राष्ट्रीय, राज्य और जिला नेताओं समेत 14 पदाधिकारियों को हिरासत में लिया है। उसने बताया कि पीएफआई के प्रदेश अध्यक्ष सी पी मोहम्मद बशीर, राष्ट्रीय अध्यक्ष ओ एम ए सलाम, राष्ट्रीय सचिव नसरुद्दीन इलामराम तथा अन्य को हिरासत में लिया गया है।

कर्नाटक में 14 जगहों पर छापे

कर्नाटक में छापे की कार्रवाई तड़के शुरू हुई और बेंगलुरु, दक्षिण कन्नड़ के जिला मुख्यालय मंगलुरु, उत्तर कन्नड़ के सिरसी और कलबुर्गी में कुल 14 स्थानों पर छापे मारे गए। कार्यालयों पर छापे के दौरान कई मुस्लिम युवक वहां पहुंच गए और उन्होंने ‘‘ एनआइए वापस जाओ’’ के नारे लगाए। इन लोगों ने छापे की कार्रवाई में भी बाधा डालने की कोशिश की। पुलिस ने इन लोगों को एहतियात के तौर पर हिरासत में ले लिया। पुलिस सूत्रों ने बताया कि एनआईए की टीम ने एसडीपीआई तथा पीएफआई के कुछ प्रमुख सदस्यों को हिरासत में ले लिया और दस्तावेज, साहित्य, कम्प्यूटर, लैपटॉप तथा फोन जब्त किए। 

इनपुट-भाषा

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन