1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. उत्तर प्रदेश
  5. मुलायम सिंह का आज सादगी से जन्मदिन मनाएगी सपा, शिवपाल के भी शामिल होने की संभावना

मुलायम सिंह यादव का आज सादगी से जन्मदिन मनाएगी सपा, शिवपाल के भी शामिल होने की संभावना

अखिलेश यादव के निर्देश पर सपा कार्यकर्ता 22 नवंबर को सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के जन्मदिन को प्रत्येक जनपद में सादगी से मनाएंगे। इस दौरान नेताजी के जीवन संघर्ष एवं समाजवादी विचारधारा के लिए सतत प्रतिबद्धता के विषय में परिचर्चा का भी आयोजन किया जाएगा।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: November 22, 2021 7:26 IST
mulayam singh yadav- India TV Hindi
Image Source : PTI (FILE PHOTO) मुलायम सिंह यादव का आज सादगी से जन्मदिन मनाएगी सपा

Highlights

  • इटावा जिले के सैफई गांव में 22 नवंबर, 1939 को जन्‍मे मुलायम सिंह ने शुरुआती जीवन एक शिक्षक के रूप में शुरू किया।
  • मुलायम सिंह ने 1992 में समाजवादी पार्टी की स्थापना की।
  • 2012 के विधानसभा चुनाव में सपा को बहुमत मिलने के बाद उन्होंने अपने पुत्र अखिलेश को सीएम बनाया।

लखनऊ: समाजवादी पार्टी (सपा) के संस्थापक और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री तथा पूर्व रक्षा मंत्री मुलायम सिंह यादव का आज यहां सपा मुख्यालय में सादगी से जन्मदिन मनाया जाएगा। इस समारोह में मुलायम सिंह यादव, सपा प्रमुख व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव समेत कई प्रमुख नेता शामिल होंगे। समारोह में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव के भी शामिल होने की संभावना है। समाजवादी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने बताया कि नेताजी (मुलायम सिंह यादव) का जन्मदिन सपा मुख्यालय में सादगी के साथ मनाया जाएगा और इसमें नेताजी तथा अखिलेश यादव भी शामिल होंगे।

इटावा जिले के सैफई गांव में 22 नवंबर, 1939 को जन्‍मे मुलायम सिंह यादव ने शुरुआती जीवन एक शिक्षक के रूप में शुरू किया और 1967 में पहली बार विधानसभा के सदस्य चुने गए। वह वर्ष 1977 में रामनरेश यादव के नेतृत्व वाली जनता पार्टी की उत्तर प्रदेश सरकार में पहली बार मंत्री बने। वर्ष 1989 में वह पहली बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने और 1996 में मैनपुरी लोकसभा क्षेत्र से चुनाव जीतने के बाद संयुक्त मोर्चा की सरकार में वह रक्षा मंत्री भी बने। यादव 2003 से 2007 तक दूसरी बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे।

अपने लंबे राजनीतिक जीवन में मुलायम सिंह यादव ने कई बड़ी उपलब्धियां हासिल कीं। उन्होंने 1992 में समाजवादी पार्टी की स्थापना की। वर्ष 2012 के विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी को स्पष्ट बहुमत मिलने के बाद उन्होंने उत्तर प्रदेश में अपने पुत्र अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाया और अखिलेश 2017 तक इस पद पर बने रहे। इसी बीच परिवार में कलह के बाद मुलायम सिंह यादव के छोटे भाई शिवपाल सिंह यादव सपा से अलग हो गए और उन्होंने बाद में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के नाम से एक अलग दल का गठन किया।

अगले वर्ष की शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी और शिवपाल सिंह यादव की पार्टी के बीच गठबंधन के भी संकेत मिले हैं और यह संभावना व्यक्त की जा रही है कि मुलायम सिंह यादव के जन्मदिन समारोह में शामिल होकर शिवपाल सिंह यादव आपसी गिले शिकवे दूर कर सकते हैं। हालांकि, इस बारे में पूछे जाने पर राजेंद्र चौधरी ने कहा कि उन्हें ऐसी कोई जानकारी नहीं है। रविवार को सपा मुख्यालय से जारी एक बयान के अनुसार मुलायम सिंह यादव के जन्मदिन की पूर्व संध्या पर समाजवादी छात्र सभा की राष्ट्रीय अध्यक्ष नेहा यादव के नेतृत्व में यहां शीरोज कैफे में एक आयोजन किया गया, जिसमें तेजाब हमले की शिकार पीड़िताओं को सम्मानित किया गया।

इससे पहले राजेंद्र चौधरी ने शनिवार को एक बयान जारी कर कहा था कि अखिलेश यादव के निर्देश पर कार्यकर्ता 22 नवंबर को सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के जन्मदिन को प्रत्येक जनपद में सादगी से मनाएंगे। इस दौरान नेताजी के जीवन संघर्ष एवं समाजवादी विचारधारा के लिए सतत प्रतिबद्धता के विषय में परिचर्चा का भी आयोजन किया जाएगा।

bigg boss 15