ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. ऑटो
  5. महंगे पेट्रोल-डीजल से राहत दिलाएगी Maruti, प्रोडक्‍ट रेंज में और अधिक CNG मॉडल्‍स पेश करने की है तैयारी

महंगे पेट्रोल-डीजल से राहत दिलाएगी Maruti, प्रोडक्‍ट रेंज में और अधिक CNG मॉडल्‍स पेश करने की है तैयारी

कंपनी अब अपनी हाल ही में पेश की गई नई सेलेरियो का भी सीएनजी वेरिएंट लाने की तैयारी कर रही है। देश में सीएनजी स्टेशन का भी विस्तार हो रहा है, जिससे सीएनजी वाहनों की मांग बढ़ रही है।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Published on: November 15, 2021 12:11 IST
Maruti Suzuki aims to drive in more CNG trims across its product range- India TV Paisa
Photo:MARUTI SUZUKI

Maruti Suzuki aims to drive in more CNG trims across its product range

Highlights

  • कंपनी के 15 ब्रांडों में से, सीएनजी विकल्प अभी सिर्फ सात मॉडलों में उपलब्ध है
  • कंपनी अब हाल ही में पेश नई सेलेरियो का भी सीएनजी वेरिएंट लाने की तैयारी कर रही है
  • वर्तमान में देश में 3300 सीएनजी स्‍टेशन हैं, अगले 1.5 साल में इनकी संख्‍या बढ़कर 8700 होने की उम्‍मीद

नई दिल्‍ली। देश की सबसे बड़ी यात्री वाहन विनिर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया (Maruti Suzuki India) ने अपनी प्रोडक्‍ट रेंज में और अधिक सीएनजी मॉडल्‍स पेश करने की योजना बनाई है। ईंधन की कीमतों में वृद्धि और डीजल कारों की बिक्री में गिरावट के बीच सीएनजी वाहनों की अधिक मांग की संभावनाओं के मद्देनजर मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) ने यह  योजना बनाई है। वह अपनी सभी उत्पाद श्रृंखला में अधिक सीएनजी वाहन शामिल करने जा रही है। मारुति ने पिछले वित्त वर्ष में लगभग 1.62 लाख सीएनजी कारें बेची हैं। कंपनी अधिक सीएनजी उत्पादों को लाने के लिए देशभर में सीएनजी वितरण आउटलेट के तेजी से विस्तार पर भी भरोसा कर रही है।

बिक्री नेटवर्क के विस्तार पर उत्साहित वाहन विनिर्माता को उम्मीद है कि उसकी सीएनजी कारों की बिक्री इस वित्त वर्ष 2021-22 में लगभग दोगुनी हो जाएगी। एमएसआई के वरिष्ठ कार्यकारी निदेशक (बिक्री और विपणन) शशांक श्रीवास्तव ने कहा कि 2021-22 में हम लगभग तीन लाख सीएनजी इकाइयां बेचने की उम्मीद कर रहे हैं। यह तब है जब हमारे कई मॉडलों में अभी सीएनजी विकल्प नहीं है। हमारे द्वारा बेचे जाने वाले 15 ब्रांडों में से, सीएनजी विकल्प सिर्फ सात मॉडलों में उपलब्ध है। हम बाकी वाहनों में भी सीएनजी विकल्प लाने की कोशिश कर रहे हैं। कंपनी वर्तमान में घरेलू बाजार में सीएनजी क्षेत्र में 85 प्रतिशत से अधिक बाजार हिस्सेदारी के साथ सबसे आगे है। 

पिछले वित्‍त वर्ष में देशभर में कुल 1.9 लाख सीएनजी वाहन बिके थे, जिसमें से अकेले मारुति ने 1.6 लाख वाहनों की बिक्री की है। श्रीवास्‍तव ने कहा कि प्रोडक्‍ट रेंज में विस्‍तार करने से उसकी सीएनजी की बिक्री भी आगे आने वाले वर्षों में बढ़ेगी।  

मारुति सुजुकी इंडिया वर्तमान में अल्‍टो, एस-प्रेसो, वैगन-आर, ईको, टूरएस, अर्टिगा और सुपर कैरी में सीएनजी ट्रिम की पेशकश कर रही है। कंपनी अब अपनी हाल ही में पेश की गई नई सेलेरियो का भी सीएनजी वेरिएंट लाने की तैयारी कर रही है। देश में सीएनजी स्‍टेशन का भी विस्‍तार हो रहा है, जिससे सीएनजी वाहनों की मांग बढ़ रही है। वर्तमान में देश में 3300 सीएनजी स्‍टेशन हैं और अगले 1.5 साल में इनकी संख्‍या बढ़कर 8700 होने की उम्‍मीद है।

मारुति ने 2016-17 में 74000 सीएनजी वाहन बेचे थे, इसके बाद 2018-19 में इसने लगभग एक लाख वाहन बेचे। 2019-20 में कपंनी ने 1.05 लाख वाहन और 2020-21 में 1.62 लाख सीएनजी वाहनों की बिक्री की। मारुति सुजुकी की संपूर्ण मॉडल रेंज वर्तमान में बीएस-6 अनुपालन वाले एक लीटर, 1.2 लीटर और 1.5 लीटर पेट्रोल इंजन द्वारा संचालित है।

मारुति सुजुकी को सोनीपत में नया संयंत्र लगाने की मंजूरी मिली

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शनिवार को कहा कि वाहन विनिर्माता कंपनी मारुति सुजुकी को सोनीपत के खरखोदा इलाके में 900 एकड़ से अधिक भूमि पर एक नया संयंत्र स्थापित करने की मंजूरी दे दी गई है। खट्टर ने हरियाणा उद्यम प्रोत्साहन केंद्र की बैठक की अध्यक्षता करने के दौरान यहां यह जानकारी दी। खट्टर ने यहां एक आधिकारिक बयान में कहा, “सोनीपत के खरखोदा इलाके में करीब 900 एकड़ जमीन पर मारुति का नया संयंत्र लगाने की मंजूरी दी गई है।’’ उन्होंने कहा कि इससे मारुति का उत्पादन और बढ़ेगा, जिससे राज्य में ऑटोमोबाइल क्षेत्र को बढ़ावा मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि खरखोदा में करीब 900 एकड़ जमीन पर संयंत्र लगाने के लिए मारुति के साथ चल रही बातचीत को शनिवार को अंतिम रूप दे दिया गया।

यह भी पढ़ें: पेट्रोल-डीजल और इलेक्ट्रिक व्‍हीकल को लेकर नितिन गडकरी ने की बड़ी घोषणा...

यह भी पढ़ें: एक्‍साइज ड्यूटी घटाने के बाद सरकार ने पेट्रोल में मिलाए जाने वाली इस चीज के बढ़ाए दाम

यह भी पढ़ें: दिल्‍ली में पेट्रोल की बिक्री 50 प्रतिशत घटी...

यह भी पढ़ें: PharmEasy भी होगी शेयर बाजार में लिस्‍टेड, API Holdings ने 6250 करोड़ रुपये के IPO के लिए जमा किए दस्‍तावेज

Write a comment
elections-2022