1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. यस बैंक मामला: ईडी ने राणा कपूर के 127 करोड़ रुपये के लंदन फ्लैट को अटैच किया

यस बैंक मामला: ईडी ने राणा कपूर के 127 करोड़ रुपये के लंदन फ्लैट को अटैच किया

जांच एजेंसी के अनुसार उसे भरोसेमंद सूत्र से यह जानकारी मिली थी कि कपूर लंदन के फ्लैट को बेचना चाहते है और उन्होंने एक प्रतिष्ठित संपत्ति परामर्शदाता को इसके लिये रखा था। जिसके बाद ये फैसला लिया गया।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: September 25, 2020 18:35 IST
यस बैंक मामले में...- India TV Paisa
Photo:GOOGLE

यस बैंक मामले में राणा कपूर का लंदन का फ्लैट अटैच

नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने यस बैंक के सह-प्रवर्तक राणा कपूर का लंदन में 127 करोड़ रुपये मूल्य का फ्लैट अटैच किया है। ईडी ने शुक्रवार को कहा कि कपूर और अन्य के खिलाफ मनी लांड्रिंग जांच के सिलसिले में फ्लैट अटैच किया गया है। केंद्रीय जांच एजेंसी ने इस बारे में मनी लांड्रिंग निरोधक कानून (पीएमएलए) के तहत 77 साऊथ आडले स्ट्रीट स्थित अर्पाटमेंट- 1 के लिये अस्थायी आदेश जारी किया है। ईडी ने एक बयान में कहा, ‘‘फ्लैट का बाजार मूल्य 1.35 करोड़ पौंड (करीब 127 करोड़ रुपये) है। राणा कपूर ने 2017 में डीओआईटी क्रिएशंस जर्सी लि.के नाम पर 99 लाख पौंड (करीब 93 करोड़ रुपये) में यह फ्लैट खरीदा था। वह खुद फ्लैट का मालिक है। जांच एजेंसी के अनुसार उसे भरोसेमंद सूत्र से यह जानकारी मिली थी कि कपूर लंदन के फ्लैट को बेचना चाहते है और उन्होंने एक प्रतिष्ठित संपत्ति परामर्शदाता को इसके लिये रखा था।

ईडी के अनुसार, ‘‘दूसरे स्रोतों से पूछताछ से पता चला कि संपत्ति कई वेबसाइट पर बिक्री के लिये रखी गयी थी।’’ प्रक्रिया के तहत एजेंसी आदेश के क्रियान्वयन को लेकर अब ब्रिटेन की समकक्ष जांच इकाई से संपर्क करेगी और ऐलान करेगी कि संपत्ति खरीदी या बेची नहीं जा सकती क्योंकि इसे पीएमएलए की आपराधिक धाराओं के तहत जब्त किया गया है। इससे पहले, ईडी पीएमएलए के तहत अन्य जांच मामलों में अमेरिका, दुबई और आस्ट्रेलिया में इसी तरीके से संपत्ति पर कार्रवाई कर चुकी है। प्रवर्तन निदेशालय ने सीबीआई की प्राथमिकी को देखने के बाद कपूर, उनके परिवार के अन्य सदस्यों और अन्य के खिलाफ पीएमएलए के तहत मामला दर्ज किया था। सीबीआई की प्राथमिकी में यह आरोप लगाया गया था कि यस बैंक ने नियमों का उल्लंघन कर करोड़ों रुपये के संदिग्ध कर्ज विभिन्न इकाइयों को दिये और बदले में कथित रूप से रिश्वत कपूर परिवार को दिये गये।

Write a comment
X