1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. बिटकॉइन मूल्य के फिर रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचने के पीछे क्या कारण है?

बिटकॉइन मूल्य के फिर रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचने के पीछे क्या कारण है?

यह पहली बार है जब निवेशक न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज में बिटकॉइन से संबंधित संपत्ति का व्यापार करने में सक्षम हुए हैं। इससे मीडिया और वित्तीय बाजारों में यह काफी चर्चा में है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: October 23, 2021 23:20 IST
फिर रिकॉर्ड ऊंचाई पर क्यों पहुंचा बिटकॉइन का मूल्य- India TV Paisa
Photo:AP

फिर रिकॉर्ड ऊंचाई पर क्यों पहुंचा बिटकॉइन का मूल्य

लंदन: बिटकॉइन की मुख्यधारा की वित्त की यात्रा ने एक और मील का पत्थर हासिल कर लिया है। साथ ही बिटकॉइन का मूल्य रिकॉर्ड पर पहुंच गया है। अमेरिका में एक्सचेंज ट्रेडेड कोष (ईटीएफ) की शुरुआत के बाद यह क्रिप्टोकरेंसी 66,975 डॉलर (48,456 पाउंड) पर कारोबार कर रही है। इससे निवेशकों के बीच बिटकॉइन की पहुंच में असाधारण वृद्धि हुई है। 19 अक्टूबर को खुला यह कोष निवेशकों को बिटकॉइन के भविष्य के मूल्य का अनुमान लगाने में मदद करता है। 

यह पहली बार है जब निवेशक न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज में बिटकॉइन से संबंधित संपत्ति का व्यापार करने में सक्षम हुए हैं। इससे मीडिया और वित्तीय बाजारों में यह काफी चर्चा में है। इसने 40 डॉलर (29 पाउंड) प्रति शेयर पर कारोबार करना शुरू किया और लगभग 57 करोड़ डॉलर (41.2 करोड़ पाउंड) की संपत्ति के साथ पांच प्रतिशत से अधिक मुनाफे के साथ दिन समाप्त किया, जिससे यह रिकॉर्ड पर कारोबार करने वाला दूसरे नंबर का ईटीएफ बन गया (पहला रिकॉर्ड जिसके द्वारा स्थापित किया गया था, वह है ब्लैकरॉक, दुनिया की सबसे बड़ी संपत्ति प्रबंधन कंपनी)। 

बिटकॉइन के मूल्य पर प्रभाव असाधारण रहा है। यह 64,895 डॉलर के अपने सर्वकालिक उच्च स्तर से बढ़कर 66,975 डॉलर के नए रिकॉर्ड पर पहुंच गया और अभी यह 65,000 डॉलर के आसपास था। यह जुलाई, 2021 के मध्य से एक बड़ा बदलाव है, जब बिटकॉइन का मूल्य 30,000 डॉलर से कम के निचले स्तर पर पहुंच गया था, जो इसकी भारी अस्थिरता को दर्शाता है। कई वित्तीय संस्थानों ने पहले बिटकॉइन ईटीएफ के लिए मंजूरी प्राप्त करने का प्रयास किया है, लेकिन सफलता नहीं मिली। अब तक प्रतिभूति एवं विनिमय आयोग (एसईसी) (निवेशकों की सुरक्षा करने वाली अमेरिकी सरकारी एजेंसी) किसी को भी मंजूरी देने से कतराती रही है। 

इसके आंशिक कारण बिटकॉइन की अधिक अस्थिरता के साथ-साथ क्रिप्टोकरेंसी के अनियमित उद्योग को लेकर व्यापक चिंताएं थीं। लेकिन एसईसी के चेयरमैन गैरी गेंसलर ने कहा कि आयोग ‘‘भविष्य-आधारित’’ ईटीएफ के साथ अधिक सहज होगा क्योंकि वे एक विनियमित बाजार पर व्यापार करते हैं। यह एसईसी के विचार में एक महत्वपूर्ण बदलाव है जो अप्रैल, 2021 में गेंसलर के इस पद पर आने के बाद से हुआ है। ईटीएफ किसी भी सामान्य स्टॉक की तरह कारोबार करते हैं, विनियमित होते हैं, और ब्रोकरेज खाते वाला कोई भी व्यक्ति उनका व्यापार कर सकता है। 

प्रोशेयर्स बिटकॉइन स्ट्रैटेजी ईटीएफ (या संक्षेप में बीटो) नाम का यह नया फंड, मुख्यधारा के निवेशकों को बिटकॉइन के मूल्य के उच्च और निम्नस्तर को खोलने वाला पहला कोष है। इसमें निवेशकों को स्वयं कॉइन खरीदने की जटिल प्रक्रिया से नहीं गुजरना पड़ता है। हालांकि अमेरिकी निवेशक पहले से ही विनियमित शिकॉगो मर्केंटाइल एक्सचेंज और बिटमेक्स जैसे अनियमित एक्सचेंजों से सीधे बिटकॉइन खरीद सकते हैं, लेकिन ईटीएफ की शुरुआत ने पेंशन निधि सहित निवेशकों के लिए एक विस्तृत विविधता वाला बाजार को खोल दिया है और इसने वित्तीय बाजारों में बिटकॉइन की स्वीकार्यता को बढ़ाया है। 

Write a comment
bigg boss 15