1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. DHFL पर 31,000 करोड़ रुपए के कथित हेरफेर का आरोप, पूर्व वित्‍त मंत्री यशवंत सिन्‍हा ने की जांच की मांग

DHFL पर 31,000 करोड़ रुपए के कथित हेरफेर का आरोप, पूर्व वित्‍त मंत्री यशवंत सिन्‍हा ने की जांच की मांग

कोबरा पोस्ट के स्टिंग के अनुसार दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉरपोरेशन लिमिटेड (डीएचएफएल) ने बैंकों से कुल 97,000 करोड़ रुपए का कर्ज जुटाया। बाद में कई फर्जी कंपनियों के माध्यम से उसने इसमें से कथित तौर पर 31,000 करोड़ रुपए की हेराफेरी की।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: January 29, 2019 23:36 IST
Yashwant sinha- India TV Paisa
Photo:YASHWANT SINHA

Yashwant sinha

नई दिल्ली। पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने मंगलवार को वित्तीय सेवा कंपनी डीएचएफएल द्वारा 31,000 करोड़ रुपए के कर्ज के कथित हेरफेर मामले में जांच की मांग की है। डीएचएफएल ने यह राशि सार्वजनिक क्षेत्र के भारतीय स्टेट बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा से जुटाई थी। हालांकि, डीएचएफएल ने सिन्हा के आरोप को दुर्भावनापूर्ण बताया। शाहरुख खान डीएचएफएल के विज्ञापन में आते हैं।

कोबरा पोस्ट के स्टिंग के अनुसार दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉरपोरेशन लिमिटेड (डीएचएफएल) ने बैंकों से कुल 97,000 करोड़ रुपए का कर्ज जुटाया। बाद में कई फर्जी कंपनियों के माध्यम से उसने इसमें से कथित तौर पर 31,000 करोड़ रुपए की हेराफेरी की। 

कोबरा पोस्ट की रिपोर्ट सामने आने के बाद सिन्हा ने कहा कि इसमें राजनीतिक चंदा देने समेत अन्य बातें सामने आई हैं, जिनके सभी पहलुओं पर यदि सरकार तत्काल जांच कराने में विफल रहती है तो यह सरकार की मंशा पर सवाल खड़े करेगा। इसलिए उन्होंने अदालत की निगरानी में एक विशेष जांच दल से इसकी जांच कराए जाने की मांग की है। 

डीएचएफएल ने एक बयान में बताया कि वह एक सूचीबद्ध कंपनी है। यह भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड, राष्ट्रीय आवास बैंक और अन्य नियामकों की निगरानी में काम करती है। बयान में कहा गया है कि कोबरा पोस्ट द्वारा की गई यह कार्रवाई कंपनी की छवि को नुकसान पहुंचाने की दुर्भावना से प्रेरित है जिससे कंपनी के शेयरों की कीमत प्रभावित होती है। 

सिन्हा ने कहा कि इस घटना का खुलासा होने से सरकार के लाखों फर्जी कंपनियों को खत्म करने के दावे पर भी सवाल खड़े होते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार के सभी नियामक और एजेंसियां इन खोटे सौदों को पकड़ने में नाकाम रही हैं। 

यह आरोप लगने के बाद से डीएचएफएल के शेयर में गिरावट जारी है। बीएसई पर कंपनी का शेयर मंगलवार को 8.01 प्रतिशत गिरकर 170.05 रुपए पर बंद हुआ। वहीं एनएसई पर यह 8.22 प्रतिशत घटकर 169.70 रुपए प्रति शेयर पर बंद हुआ। पिछले दो दिन में कंपनी का शेयर 18.71 प्रतिशत टूट चुका है।

Write a comment
bigg-boss-13