1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. 5 राज्यों में चुनाव के बीच पेश होगा आम Budget 2022, जानिए चुनाव आयोग ने इस पर क्या कहा?

5 राज्यों में चुनाव के बीच पेश होगा आम Budget 2022, जानिए चुनाव आयोग ने इस पर क्या कहा?

मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा ने कहा कि निर्वाचन आयोग केंद्रीय बजट पेश किए जाने में दखल नहीं देना चाहेगा। उन्होंने जोर देकर कहा कि बजट पेश किए जाने की वार्षिक प्रक्रिया से पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में सभी राजनीतिक दलों के लिए समान अवसर की स्थिति प्रभावित नहीं होगी। 

India TV Paisa Desk Written by: India TV Paisa Desk
Published on: January 08, 2022 22:40 IST
5 राज्यों में चुनाव के बीच पेश होगा आम Budget 2022, जानिए चुनाव आयोग ने इस पर क्या कहा? - India TV Hindi News
Photo:INDIA TV

5 राज्यों में चुनाव के बीच पेश होगा आम Budget 2022, जानिए चुनाव आयोग ने इस पर क्या कहा? 

Highlights

  • वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण आगामी 1 फरवरी को आम बजट पेश कर सकती हैं
  • ईवीएम अब कोई मुद्दा नहीं है: मुख्य निर्वाचन आयुक्त
  • उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव: 10 फरवरी से लेकर 7 मार्च तक 7 चरणों में मतदान होगा

नई दिल्ली। मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा ने शनिवार को यूपी, पंजाब, गोवा, उत्तराखंड और मणिपुर में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है। वहीं चुनावों के दौरान ही केंद्रीय वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण आगामी 1 फरवरी को आम बजट पेश कर सकती हैं। आम बजट का चुनाव पर कितना असर पड़ेगा इसको लेकर आयोग ने शनिवार को स्थिति साफ कर दी है। 

निर्वाचन आयोग केंद्रीय बजट पेश किए जाने में दखल नहीं देना चाहेगा: चंद्रा 

मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा ने कहा कि निर्वाचन आयोग केंद्रीय बजट पेश किए जाने में दखल नहीं देना चाहेगा। उन्होंने जोर देकर कहा कि बजट पेश किए जाने की वार्षिक प्रक्रिया से पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में सभी राजनीतिक दलों के लिए समान अवसर की स्थिति प्रभावित नहीं होगी। उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के कार्यक्रम की घोषणा के दौरान चंद्रा ने कहा कि केंद्रीय बजट एक वार्षिक लेखाजोखा होता है जिसे संसद के समक्ष रखा जाता है। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘‘निर्वाचन आयोग केंद्रीय बजट पेश किए जाने में दखल नहीं देना चाहेगा क्योंकि यह पूरे देश के लिए होता है और यह सिर्फ इन पांच राज्यों तक सीमित नहीं होता।’’ 

ईवीएम अब कोई मुद्दा नहीं है: मुख्य निर्वाचन आयुक्त 

मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुशील चंद्रा ने शनिवार को कहा कि इलैक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) का इस्तेमाल अब कोई मुद्दा नहीं है। उन्होंने कहा कि गर्व की भावना है कि भारत ने एक ऐसी मशीन विकसित की है जो सटीक और तेज परिणाम देती है। उन्होंने उत्तर प्रदेश, पंजाब, गोवा, मणिपुर और उत्तराखंड विधानसभा के चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के लिये बुलाए गए संवाददाता सम्मेलन में यह बात कही। चंद्रा का ध्यान जब इस ओर दिलाया गया कि चुनाव हारने वाले दल ईवीएम की विश्वसनीयता पर सवाल उठाते रहे हैं, तो इस पर उन्होंने कहा, ''ईवीएम अब कोई मुद्दा नहीं है।'' चंद्रा ने कहा, ''ईवीएम 2004 से अस्तित्व में हैं और 315 करोड़ से अधिक मतदाताओं ने ईवीएम का इस्तेमाल किया है। हम गर्व करते हैं कि इस देश ने एक ऐसी मशीन विकसित की है जो सटीक और तेज परिणाम देती है।''

जानिए चुनाव का पूरा कार्यक्रम

भारत निर्वाचन आयोग ने शनिवार को 5 राज्यों में विधानसभा चुनावों के कार्यक्रमों की घोषणा कर दी। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिये 10 फरवरी से लेकर 7 मार्च तक 7 चरणों में मतदान होगा। वहीं उत्तराखंड, पंजाब और गोवा में एक ही चरण में 14 फरवरी को वोट डाले जाएंगे। मणिपुर में 2 चरणों में 27 फरवरी और 3 मार्च को मतदान होगा और इन सभी राज्यों के विधानसभा चुनाव की मतगणना 10 मार्च को होगी। (इनपुट- भाषा)

Latest Business News

Write a comment
>independence-day-2022