Wednesday, April 17, 2024
Advertisement
  1. Hindi News
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. Cryptocurrency निवेशक न करें राहत की उम्मीद, RBI गवर्नर ने आज फिर अपना रुख साफ किया

Cryptocurrency निवेशक न करें राहत की उम्मीद, RBI गवर्नर ने आज फिर अपना रुख साफ किया

आपको बता दें कि अमेरिकी नियामकों द्वारा बिटकॉइन एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) को अनुमति दी गई है। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए दास ने कहा कि क्रिप्टो करेंसी के प्रति बैंक और उनका अपना विरोध नहीं बदलेगा।

Alok Kumar Edited By: Alok Kumar @alocksone
Published on: January 11, 2024 17:06 IST
Bitcoin - India TV Paisa
Photo:FILE क्रिप्टोकरेंसी Bitcoin

भारत में रहकर क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने वाले निवेशकों के लिए बुरी खबर है। अगर वो बजट या उसके बाद क्रिप्टोकरेंसी में निवेश को लेकर किसी तरह की राहत की उम्मीद लगाए बैठे हैं तो उनको निराशा हाथ लगने वाली है। आरबीआई के गवर्नर ने क्रिप्टोकरेंसी पर अपना रुख साफ कर दिया है। भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने आज कहा कि केंद्रीय बैंक क्रिप्टो करेंसी नियमों पर दूसरों को फॉलो नहीं करेगा। उन्होंने कहा कि उभरते बाजार और दुनिया ‘क्रिप्टो को लेकर दीवानगी’ से निपट नहीं पाएगी। दास ने कहा कि जो दूसरे बाजार के लिए अच्छा है, जरूरी नहीं कि वह हमारे लिए भी अच्छा हो। इसलिए हमारे विचार, रिजर्व बैंक के और व्यक्तिगत रूप से मेरे वही रहेंगे। यानी आगे भी भारत में क्रिप्टोकरेंसी पर किसी तरह की राहत मिलने वाली नहीं है। 

अमेरिकी में बिटकॉइन एक्सचेंज ट्रेडेड फंड मिली मंजूरी 

आपको बता दें कि अमेरिकी नियामकों द्वारा बिटकॉइन एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) को अनुमति दी गई है। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए दास ने कहा कि क्रिप्टो करेंसी के प्रति बैंक और उनका अपना विरोध नहीं बदलेगा। बिजनेस डेली ‘मिंट’ द्वारा यहां आयोजित एक वित्तीय क्षेत्र सेमिनार को संबोधित करते हुए आरबीआई गवर्नर ने कहा कि उभरती बाजार अर्थव्यवस्थाओं और उन्नत अर्थव्यवस्थाओं के लिए क्रिप्टो करेंसी के रास्ते पर चलने से कई जोखिम उत्पन्न होंगे जिनसे निपटना बेहद मुश्किल होगा। क्रिप्टो करेंसी के संबंध में अमेरिका के कदम के बारे में पूछे जाने पर दास ने कहा, ‘सवाल यह है कि आप उस रास्ते पर क्यों जाना चाहते हैं? आपको क्या मिलने वाला है?’ 

दूसरे देश क्या कर रहे, उस पर टिप्पणी नहीं

उन्होंने कहा कि मैं इसपर टिप्पणी नहीं करना चाहता कि किसी दूसरे देश के नियामक ने क्या किया है। वे जानते हैं कि उनके देश के लिए सबसे अच्छा क्या है, लेकिन मैं यह कहना चाहूंगा कि उन्होंने स्वयं उत्पाद में जोखिमों को चिह्नित किया है और लोगों को बहुत सावधान रहने की सलाह दी है।’’ वहीं यह पूछे जाने पर कि क्या वह आगामी लेखानुदान को मुद्रास्फीति बढ़ाने वाला मानते हैं, उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार के पिछले रिकॉर्ड को देखते हुए उन्हें नहीं लगता कि अंतरिम बजट से महंगाई बढ़ेगी। गवर्नर ने रूस-यूक्रेन युद्ध की शुरुआत के बाद से मूल्यवृद्धि को रोकने के लिए सरकार द्वारा आपूर्ति को लेकर उठाए गए कई उपायों का भी जिक्र किया। 

Latest Business News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Business News in Hindi के लिए क्लिक करें पैसा सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement