1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. आज से Digital Rupee हुआ लॉन्च, जानिए डिजिटल-रुपी से कैसे करें खरीदारी

आज से Digital Rupee हुआ लॉन्च, जानिए डिजिटल-रुपी से कैसे करें खरीदारी

आरबीआई ने अभी ई-रुपी को पायलट प्रोजेक्ट पर शुरू किया है। इसके लिए एसबीआई, आईसीआईसीआई, यस बैंक और आईडीएफसी फर्स्ट बैंक को चुना है।

Alok Kumar Edited By: Alok Kumar @alocksone
Published on: December 01, 2022 11:53 IST
डिजिटल-रुपी- India TV Paisa
Photo:FILE डिजिटल-रुपी

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने आज से डिजिटल रुपी (ई-रुपी) को लॉन्च कर दिया है। केंद्रीय बैंक की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, शुरुआती चरण में मुंबई, दिल्ली, बेंगलुरु और भुवनेश्वर के लोग ई-रुपी का इस्तेमाल कर पाएंगे। आरबीआई ने अभी ई-रुपी को पायलट प्रोजेक्ट पर शुरू किया है। इसके लिए एसबीआई, आईसीआईसीआई, यस बैंक और आईडीएफसी फर्स्ट बैंक को चुना है। ऐसे में माना जा रहा है कि आम लोगों के लिए जल्द ही ई-रुपी देश के अन्य राज्यों में शुरू हो जाएगा। तो आइए जानते हैं कि अभी इस्तेमाल हो रहे रुपये से डिजिटल रूपी कैसे अलग और किस तरह आप इससे खरीदारी कर पाएंगे। 

इस तरह डिजिटल-रुपी का इस्तेमाल कर पाएंगे 

  • डिजिटल-रुपी एक डिजिटल टोकन के रूप में मिलेगा। यह उसी मूल्यवर्ग में जारी किया जाएगा जो वर्तमान में कागजी मुद्रा और सिक्के जारी किए जाते हैं। यानी आपको 10, 20, 50 से लेकर अलग-अलग मूल्य के डिजिटल रुपी मिलेंगे। यह बैंकों के माध्यम से वितरित किया जाएगा।
  • डिजिटल वॉलेट में डिजिटल रुपी होगा। बैंक आपको ई-रुपी के लिए डिजिटल वॉलेट की सुविधा मुहैया कराएंगे। आम अपने मोबाइल फोन में डिजिटल वॉलेट के जरिये​ ई-रुपी से खरीदारी कर पाएंगे। 
  • डिजिटल-रुपी के लेन-देन पर्सन टू पर्सन (P2P) होगा। यानी आप एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति कर पाएंगे। वहीं, क्यूआर कोड का उपयोग करके व्यापारियों को भुगतान कर पाएंगे। 
  • डिजिटल-रुपी नकद पैसे जैसा विश्वास, सुरक्षा और सेटलमेंट की सुविधा मुहैया कराएगा। यानी डिजिटल रुपी पूरी तरह से सुरक्षित होगा। इससे भी नकद रुपये जैसा लेन-देन होगा।
  • हालांकि, नकद रुपये की तरह इस पर बैंक से आपको कोई ब्याज नहीं मिलेगा। इसे अन्य प्रकार के धन में यानी सोने की खरीदारी या किसी और जमा में बदला जा सकेगा। 

डिजिटल रुपी की मुख्य विशेषताएं

  1. डिजिटल रुपी एक संप्रभु मुद्रा है जिसे केंद्रीय बैंक अपनी मौद्रिक नीति के अनुसार जारी किया हैं।
  2. केंद्रीय बैंक की बैलेंस शीट पर, डिजिटल रुपी एक देनदारी के रूप में सूचीबद्ध है।
  3. सभी व्यक्तियों, व्यवसायों और सरकारी संगठनों के लिए यह भुगतान का एक वैध रूप होगा। 
  4. सीबीडीसी वाणिज्यिक बैंकों से नकदी और धन में स्वतंत्र रूप से परिवर्तनीय है।
  5. CBDC के धारकों के पास बैंक खाता होने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि यह फन्जिबल कानूनी धन है।
  6. सीबीडीसी से मुद्रा जारी करने की कीमत और लेनदेन की लागत को कम करने की उम्मीद है।

डिजिटल रुपया क्या है?

सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी (CBDC) भारतीय रिजर्व बैंक की मुद्रा का आधिकारिक रूप है। आरबीआई का सीबीडीसी, जिसे डिजिटल रुपया या ई-रुपया के रूप में भी जाना जाता है, फिएट करेंसी के बराबर एक-से-एक विनिमेय है और एक संप्रभु मुद्रा के समान है।

Latest Business News