1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. रजिस्टर्ड इन्वेस्टमेंट एडवाइजर्स पर नजर रखेगा BSE, स्थापित की ये नई कंपनी

रजिस्टर्ड इन्वेस्टमेंट एडवाइजर्स पर नजर रखेगा BSE, स्थापित की ये नई कंपनी

प्रमुख शेयर बाजार बीएसई ने शुक्रवार को कहा कि उसने पूर्ण अनुषंगी कंपनी बीएएसएल का गठन किया है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: June 12, 2021 11:18 IST
रजिस्टर्ड...- India TV Paisa
Photo:AP

रजिस्टर्ड इन्वेस्टमेंट एडवाइजर्स पर नजर रखेगा BSE, स्थापित की ये नई कंपनी

नयी दिल्ली। प्रमुख शेयर बाजार बीएसई ने शुक्रवार को कहा कि उसने पूर्ण अनुषंगी कंपनी बीएएसएल का गठन किया है। यह कंपनी सेबी के पास पंजीकृत सभी निवेश सलाहकारों से जुड़े कामकाज और उनकी गतिविधियों पर नजर रखेगी। शेयर बाजार ने एक बयान में कहा कि कंपनी, बीएसई एडमिनिस्ट्रेशन एंड सुपरविजन लिमिटेड (बीएएसएल) को नियामक के पास पंजीकृत निवेश सलाहकारों (आईए) के कामकाज और निगरानी रखने को लेकर मान्यता मिली है। इसने एक जून से अपना कामकाज शुरू कर दिया है। 

सेबी के पास पंजीकृत सभी मौजूदा निवेश सलाहकारों (आईए) और निवेश सलाहकार के रूप में पंजीकरण को इच्छुक नए आवेदकों को सदस्य के रूप में बीएएसएल के पास पंजीकरण कराना आवश्यक होगा। बीएएसएल सदस्यों के कामकाज पर नजर और पर्यवेक्षण पूंजी बाजार नियामक सेबी के नियमों के अनुसार करेगा। बीएसई के प्रबंध निदेशक और सीईओ आशीष कुमार चौहान ने कहा, ‘‘हम निवेश सलाहकारों के कामकाज पर नजर रखने और पर्यवेक्षण के लिए बीएसई पर फिर से भरोसा जमाने के लिए सेबी को धन्यवाद देते हैं।’’

गुजरात की कंपनी के खिलाफ मामला दर्ज 

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने शुक्रवार को कर्ज की हेराफेरी कर सार्वजनिक क्षेत्र के यूनियन बैंक ऑफ इंडिया को 134.42 करोड़ रुपये का नुकसान पहुंचाने को लेकर गुजरात की एक कंपनी और उसके निदेशकों के खिलाफ मामला दर्ज किया। सीबीआई ने एक विज्ञप्ति में कहा कि जांच एजेंसी ने मुंबई में छह स्थानों पर तलाशी ली, जिसमें गड़बड़ी से जुड़े महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद हुए। कच्छ के गांधीधाम स्थित कंपनी एसोसिएट हाई प्रेशर टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। इसमें रामचंद के ईसरानी, मोहम्मद फारूक सुलेमान दरवेश, श्रीचंद सतरामदास अगीचा, इब्राहिम सुलेमान दरवेश और अज्ञात लोक सेवकों और अन्य के नाम हैं। यूनियन बैंक द्वारा दायर शिकायत के अनुसार, कंपनी ने स्वीकृत ऋण के नियमों और शर्तों का उल्लंघन करते हुए धन का दुरुपयोग किया तथा अन्य बैंकिंग चैनलों के माध्यम से हेराफेरी की। 

पढें-  LPG ग्राहकों को मिल सकते हैं 50 लाख रुपये, जानें कैसे उठा सकते हैं लाभ

पढें-  खुशखबरी! हर साल खाते में आएंगे 1 लाख रुपये, मालामाल कर देगी ये स्कीम

पढें-  हिंदी समझती है ये वॉशिंग मशीन! आपकी आवाज पर खुद धो देगी कपड़े

पढें-  किसान सम्मान निधि मिलनी हो जाएगी बंद! सरकार ने लिस्ट से इन लोगों को किया बाहर

पढें-  Aadhaar के बिना हो जाएंगे ये काम, सरकार ने नोटिफिकेशन जारी कर जरूरत को किया खत्म

Write a comment
टोक्यो ओलंपिक 2020 कवरेज
X