1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. डॉलर के मुकाबले रुपये में लगातार पांचवें दिन गिरावट, नौ पैसे टूटकर 74.23 पर हुआ बंद

डॉलर के मुकाबले रुपये में लगातार पांचवें दिन गिरावट, नौ पैसे टूटकर 74.23 पर हुआ बंद

पिछले पांच कारोबारी सत्र में रुपये में 59 पैसे की गिरावट आई है। वहीं बीते एक महीने में डॉलर के मुकाबले रुपया 123 पैसे टूटा है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: September 30, 2021 21:59 IST
डॉलर के मुकाबले...- India TV Paisa
Photo:FILE

डॉलर के मुकाबले रुपये में लगातार पांचवें दिन गिरावट

नई दिल्ली। विदेशी मुद्रा की निकासी बढ़ने और निवेशकों के जोखिम उठाने से बचने के बीच बृहस्पतिवार को रुपये में लगातार पांचवें कारोबारी सत्र में गिरावट देखी गई। अन्तरबैंक विदेशीमुद्रा विनिमय बाजार में डॉलर के मुकाबले रुपया नौ पैसे की गिरावट के साथ 74.23 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया गिरावट का रुख लिए 74.28 रुपये प्रति डॉलर पर खुला जो पहले 74.14 रुपये पर बंद हुआ था।

कारोबार के दौरान यह 74.18 से 74.36 रुपये के दायरे में रहा और अंत में पिछले दिन के बंद भाव के मुकाबले नौ पैसे की गिरावट दर्शाते हुए 74.23 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ। पिछले पांच कारोबारी सत्र में रुपये में 59 पैसे की गिरावट आई है। मासिक आधार पर तुलना की जाये तो रुपये में 123 पैसे की गिरावट आई है। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के शोध विश्लेषक, दिलीप परमार ने कहा, "जोखिम से बचने और विदेशी फंड की निकासी के बीच लगातार पांचवें कारोबारी दिन भारतीय रुपये में गिरावट आई।’’ रिलायंस सिक्योरिटीज के वरिष्ठ शोध विश्लेषक, श्रीराम अय्यर के अनुसार, "फेडरल रिजर्व द्वारा नवंबर से प्रोत्साहन को कम करने के बढ़ते अनुमानों के बीच डॉलर में आई मजबूती के कारण बृहस्पतिवार को भारतीय रुपया कमजोर बंद हुआ।" इस बीच, छह प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर की स्थिति को दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.05 प्रतिशत घटकर 94.29 रह गया। 

बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 286.91 अंक की गिरावट दर्शाता 59,126.36 अंक पर बंद हुआ। एक्सचेंज के आंकड़ों के अनुसार, विदेशी संस्थागत निवेशक, पूंजी बाजार में शुद्ध बिकवाल रहे। उन्होंने बुधवार को 1,896.02 करोड़ रुपये के शेयरों की बिकवाली की। 

यह भी पढ़ें: भारत दुनिया का सबसे बड़ा डिजिटल मार्केट बनने का राह पर, सबसे तेजी से बढ़ते बाजारों में शामिल: पीयूष गोयल 

यह भी पढ़ें: भारत में इस दशक के दौरान सात प्रतिशत से ज्यादा जीडीपी वृद्धि की उम्मीद: मुख्य आर्थिक सलाहकार

 

 

Write a comment
bigg boss 15