1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. बाजार में लगातार दूसरे दिन सीमित गिरावट, निफ्टी 11300 के स्तर पर कायम

बाजार में लगातार दूसरे दिन सीमित गिरावट, निफ्टी 11300 के स्तर पर कायम

आज के कारोबार में सेंसेक्स सिर्फ 302 अंक के दायरे में ही रहा

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: August 13, 2020 15:52 IST
stock market today- India TV Paisa
Photo:FILE

stock market today

नई दिल्ली। शेयर बाजार में गुरुवार को लगातार दूसरे दिन सीमित गिरावट के साथ सुस्त कारोबार देखने को मिला है। आज के कारोबार में सेंसेक्स सिर्फ 302 अंक के दायरे में ही रहा। वहीं पिछले दो दिनों में सेंसेक्स सिर्फ 97 अंक गिरा है। दो दिन की गिरावट के बाद भी निफ्टी 11300 के स्तर को कायम रखने में सफल रहा है। गुरुवार के कारोबार में सेंसेक्स 59 अंक की गिरावट के साथ 38310 के स्तर पर और निफ्टी 8 अंक की गिरावट के साथ 11,300 के स्तर पर बंद हुआ। आज निफ्टी में सिर्फ 89 अंक के दायरे में कारोबार हुआ। आज के कारोबार में ऑटो और मेटल सेक्टर में बढ़त देखने को मिली।

यूरोपियन मार्केट में आज के शुरुआती कारोबार में गिरावट देखने को मिल रही है। घरेलू शेयर बाजार के बंद होते वक्त इंग्लैंड FTSE 100 में करीब 1 फीसदी की गिरावट थी। वहीं जर्मनी का DAX और फ्रांस के CAC 40 में भी सीमित गिरावट देखने को मिल रही थी। अमेरिका द्वारा यूरोप में बन रहे सामानो और विमानों पर शुल्क बनाए रखने की खबर और टूरिस्ट सेक्टर की दिग्गज कंपनी TUI को हुए रिकॉर्ड नुकसान की वजह से यूरोपियन बाजारों में गिरावट रही। निवेशकों की नजर अमेरिकी जॉब मार्केट के आंकड़ों पर है, इसलिए निवेशक बाजार से दूर रहे। वहीं दूसरी तरफ एशियाई बाजारों में मिले जुले संकेत थे। जापान का निक्केई 1.78 फीसदी की बढ़त के साथ बंद हुआ। वहीं शंघाई कंपोजिट मामूली बढ़त के साथ बंद हुआ। हॉन्ग कॉन्ग के हेंग सेंग में भी मामूली गिरावट दर्ज हुई।

आज के कारोबार में सबसे ज्यादा बढ़त ऑटो सेक्टर में देखने को मिली है। इंडेक्स 1.22 फीसदी बढ़कर बंद हुआ। वहीं मेटल सेक्टर इंडेक्स में 1.1 फीसदी की बढ़त रही। दूसरी तरफ सरकारी बैंकों में 1.01 फीसदी और फार्मा सेक्टर में करीब 1 फीसदी की गिरावट रही। इसके अलावा बाकी सभी बढ़ने वाले सेक्टर इंडेक्स में बढ़त 0.3 फीसदी से नीचे ही रही। इसमें आईटी, एफएमसीजी सेक्टर रहे। वहीं अन्य गिरने वाले सेक्टर का नुकसान 0.3 फीसदी से कम ही रहा। इसमें बैंकिंग, फाइनेंशियल सर्विसेज, निजी बैंक और पावर सेक्टर रहे।

Write a comment