1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. फायदे की खबर
  5. डीजल के बाद पेट्रोल, सीएनजी की भी होगी अब होम डिलीवरी, सरकार कर रही है तैयारी

डीजल के बाद पेट्रोल, सीएनजी की भी होगी अब होम डिलीवरी, सरकार कर रही है तैयारी

शहरी गैस नेटवर्क में 2,200 से अधिक सीएनजी आउटलेट शामिल हैं और पाइपलाइन के जरिये लगभग 61 लाख लोगों तक रसोई में पीएनजी की आपूर्ति की जा रही है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: May 29, 2020 22:57 IST
government is looking at starting home delivery of petrol and CNG- India TV Paisa
Photo:GOOGLE

government is looking at starting home delivery of petrol and CNG

नई दिल्‍ली। सरकार उपभोक्ताओं की सुविधा के लिए डीजल के बाद अब पेट्रोल और सीएनजी जैसे ईंधनों की होम डिलीवरी शुरू करने पर विचार कर रही है। केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सरकार सभी प्रकार के ईंधनों पेट्रोल, डीजल, सीएनजी, एलएनजी और एलपीजी के लिए खुदरा बिक्री का नया स्वरूप सामने लाने पर विचार कर रही है। इन नए स्वरूप में ये सारे ईंधन एक ही जगह बिक्री के लिए उपलब्ध होंगे। देश की सबसे बड़ी खुदरा ईंधन कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्प (आईओसी) ने सितंबर 2018 में एक मोबाइल डिस्पेंसर के माध्यम से डीजल की होम डिलीवरी शुरू की। हालांकि यह सेवा अभी केवल कुछ चुनिंदा शहरों में ही उपलब्ध है। ऐसा कहा जाता है कि ये ईंधन अत्यधिक ज्वलनशील प्रकृति के हैं, अत: इस कारण इनकी होम डिलीवरी काफी जोखिम भरा है। इसके लिए संबंधित प्राधिकरणों को सुरक्षित तरीके विकसित करने और उन्हें अनुमोदित करने की जरूरत पड़ेगी।

प्रधान ने 11 राज्यों में 56 नए सीएनजी स्टेशनों का उद्घाटन करते हुए एक समारोह में कहा कि सरकार ने पहले ही डीजल के लिए मोबाइल डिस्पेंसर की शुरूआत कर दी है। एक आधिकारिक बयान में प्रधन के हवाले से कहा गया कि यह पेट्रोल और एलएनजी के लिए भी शुरू किया जा सकता है। मंत्री ने कहा कि भविष्य में लोग ईंधनों की होम डिलीवरी पाने में सक्षम होंगे।

सरकार ऊर्जा की दक्षता, किफायत दर, सुरक्षा और उपलब्धता पर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि जल्द ही, ग्राहकों को केवल एक ही स्थान पर जाना होगा, जहां सभी प्रकार के ईंधन पेट्रोल, डीजल, सीएनजी, एलएनजी और एलपीजी उपलब्ध कराए जाएंगे। मंत्री ने कहा कि वाहनों और पाइपलाइन से रसोई में सीएनजी की आपूर्ति करने वाला शहरी गैस नेटवर्क जल्द ही देश की 72 प्रतिशत आबादी तक पहुंचने लगेगा।

इस मौके पर प्रधान ने गुजरात, हरियाणा, झारखंड, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, नयी दिल्ली, पंजाब, राजस्थान, तेलंगाना और उत्तर प्रदेश में 56 नए सीएनजी स्टेशनों का उद्घाटन किया। अभी शहरी गैस नेटवर्क में 2,200 से अधिक सीएनजी आउटलेट शामिल हैं और पाइपलाइन के जरिये लगभग 61 लाख लोगों तक रसोई में पीएनजी की आपूर्ति की जा रही है।

Write a comment
X